विशेष

यूके से हरियाणा में 1500 करोड़ का और निवेश आएगा- खट्टर

वीरेश शर्मा(चंडीगढ़): मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को कर्नाटक चुनाव में मिली जीत पर बधाई देते हुए कहा कि यह भाजपा सरकार की नीतियों की जीत है। इस दौरान पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने अपने विदेश दौरे के बारे में बताया कि वे दो देशों के दौरे से वापस लौटे है जिसमें पहला दौरा इजराइल और दूसरा दौरा यूके का था। 

‘Public;Conflict-Legislature-Judiciary-Controversy;Rule of Law’

 Ram Narain Yadav :

 Associating‘public’ with the Legislature and the Judiciary is obvious because all wings of Indian Polity function to maintain ‘rule of law’, ensuring that ‘law rules’ and not ‘power rules'. The entire forms of governance are rolling on the axis of ‘people and rule of law’. Deviation from the axis will injure the ‘forms of governance’.

 Associating‘public’ with the Legislature and the Judiciary is obvious because all wings of Indian Polity function to maintain ‘rule of law’, ensuring that ‘law rules’ and not ‘power rules'. The entire forms of governance are rolling on the axis of ‘people and rule of law’. Deviation from the axis will injure the ‘forms of governance’....

मई दिवस - मजदूरों पर अत्याचार

दिन था 1मई 1886 का और स्थान था शिकागो का मार्किट चौराहा ,जहां पर वो बेचारे कई दिनों से लड़ रहे थे ब्रेड, सॉसेज, कपड़ा और न जाने किस किस तरह की फैक्ट्रियों के मजदूर थे वे। सूरज उगने से पहले काम के लिए निकलते थे और डूबने के काफी देर बाद घर वापस लौटते थे। अपने बच्चों की उम्र बढ़ने का अंदाजा वे नाप से ही निकालते थे क्यूंकि उन्हें सोता हुआ छोड़ कर जाते थे उनके सो जाने के बाद ही काम से लौट पाते थे। उनकी मांग थी कि काम के घंटे 12-14 नहीं, आठ होने चाहिए। उनका नारा था आठ घंटे काम, आठ घंटे जीवन और बाकी मनोरंजन, आठ घंटे आराम । जब मालिकों ने नहीं सुनी तो इसी मांग को लेकर पहली मई को उन्होंने हड़ताल करके शिकागो के हे मार्किट ....

एक पत्रकार ऐसा भी...

संजय राय:मुज़फ्फर नगर में एक पत्रकार ऐसा भी है जिसके पास न अपनी छपाई मशीन है, न कोई स्टाफ और न सूचना क्रांति के प्रमुख साधन-संसाधन। मात्र कोरी आर्ट शीट और काले स्केज ही उसके पत्रकारिता के साधन हैं।

हमारे चुने हुए प्रतिनिधि संसद में क्या कर रहे हैं ?

भारत अपनी प्रजातंत्र व्यवस्था के लिए पूरे विश्व में जाना जाता है तथा विश्व की सबसे बड़ी जनतांत्रिक व्यवस्था का सत्य किससे छिपा नहीं है। हमारे चुने हुए प्रतिनिधि संसद में क्या कर रहे हैं ? पिछले 15 दिन से संसद में क्या तथा कितना उत्पादकीय कार्य हुआ, इस पर निरंतर चर्चा हो रही है। तीसरी लोकसभा (1962-67) से 15वीं लोकसभा (2009-14) के कार्यकारी दिनों में लगातार ह्रास के चलते साल में 107 दिन से घटकर यह आंकड़ा आधा होकर 61 दिन रह गया है। संसदीय प्रणाली जो हमने चुनी है, उसमें संसद की गरिमा खत्म होती जा रही है, जबकि

‘LEGISLATURES & LEGISLATORS’

Ram Narain Yadav : 

Legislature, at National and States level, today is not a law-making body only.It has become more and more a multi-functional institution performing a variety of roles, which include: Political and Financial Control; Surveillance of Administration; Informational; Representational, Grievance-ventilation, Educational and Advisory; Conflict-resolution and National-integrational; Law-making, Developmental, Social Engineering and Legitimational;  Leadership; Constituent....

हरियाणा इंस्टिट्यूट ऑफ़ पब्लिक एडमिंस्ट्रेशन गुरुग्राम में 22 मार्च को गुस्ताखी माफ़ हरियाणा किताब पर चर्चा होगी

हरियाणा के जाने माने खोजी पत्रकार और लेखक पवन कुमार बंसल की हरियाणा की राजनीति संस्कृति और प्रशासन पर चर्चित किताब गुस्ताखी माफ़ हरियाणा पर चर्चा करेगा। चर्चा का आयोजन संस्थान में शुरू बुक क्लब की तरफ से किया जायेगा.

मोदी पर कांग्रेस की कृपा बनी रहे

डॉ. वेदप्रताप वैदिक :

        कांग्रेस पार्टी के 84 वें महाअधिवेशन में से निकला क्या ? क्या उसमें से कुछ ऐसे सूत्र निकले, जिनसे देश को कोई आशा बंधे ? क्या कोई ऐसा नेता उसमें से उभरा, जो 2019 में देश का नेतृत्व करने लायक हो ? इन दोनों प्रश्नों का जवाब आप उस अधिवेशन में भाग लेनेवाले कांग्रेसियों से ही पूछ लीजिए। वे सब भी हाथ मलते हुए घर चले गए। यह 84 वां अधिवेशन भी किस वेला में हुआ है ? ऐसी वेला में जबकि पूर्वोतर में कांग्रेस का सफाया हो गया है और उत्तरप्रदेश में उसके दोनों संसदीय उम्मीदवारों की जमानतें जब्त...

यह धक्का योगी को कम, मोदी को ज्यादा

डॉ. वेदप्रताप वैदिक:गोरखपुर और फूलपुर में अनहोनी हो गई। कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था कि उप्र में पहले लोकसभा और फिर विधानसभा के चुनाव में इतने प्रचंड बहुमत से जीतनेवाली भाजपा इन दोनों में इतनी बुरी तरह से पिट जाएगी।

जमाना बदलना है- नारी और पुरुष को मिलकर

अंतरराष्ट्रीय महिला सप्ताह था अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के आते ही स्त्रियों के प्रति संदेश, उनकी उपलब्धियों, उनकी समस्याओं तथा उनकी समाज में स्थिति पर मीडिया में एक बाढ़ सी आ जाती है।

खट्टर सरकार पत्रकारों पर फिर हुई मेहरबान,राणा ओबरॉय को उर्दू अकादमी में वाइस चेयरमैन नियुक्त किया

रमेश शर्मा:हरियाणा सरकार ने प्रदेश में उर्दू को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा उर्दू अकादमी में पानीपत के वरिष्ठ पत्रकार डॉ. नरेंद्र उपमन्यु को डायरेक्टर लगाने के पश्चात पानीपत के ही एक और दैनिक के सम्पादक राणा ओबरॉय को वाइस चेयरमैन नियुक्त किया है। 

होली - पर्यावरण का मित्र या शत्रु

होली उत्सवधर्मिता की पराकाष्ठा का त्यौहार है, प्रकृति भी मानव को सहयोग देती दिखती है, पर इसका विकृत रूप जो आज हम देख या अनुभव कर रहे हैं, उससे तो ये लगता है कि यह त्यौहार पर्यावरण का मित्र कम शत्रु ज्यादा बनता जा रहा है।

भागवत का नया हिंदुत्व

डॉ. वेदप्रताप वैदिक:राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने 25 वें ‘राष्ट्रोदय समारोह’ में हिंदुत्व के बारे में कुछ ऐसी नई और बुनियादी बातें कही हैं, जिन पर गंभीरता से विचार किया जाए तो भारतीय राजनीति को सांप्रदायिकता से छुटकारा मिल सकता है। सांप्रदायिकता भी दोनों। 

इन मुसलमानों को मेरे प्रणाम

डॉ. वेदप्रताप वैदिक:मुजफ्फरनगर के मुसलमानों ने सारे भारत के मुसलमानों के लिए एक शानदार मिसाल पेश की है। मुजफ्फरनगर के पास संधावली गांव है। इस गांव से गुजरनेवाली रेल्वे लाइन के पास एक अधूरा पुल है। यहां से नेशनल हाई वे-58 भी गुजरता है।

मोदी की सार्थक विदेश यात्राएं

डॉ. वेदप्रताप वैदिक:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तीन-दिवसीय पश्चिम एशियाई यात्रा भारत के लिए काफी लाभदायक रही।

बातों की उस्तादः भारत-पाक सरकारें

डॉ. वेदप्रताप वैदिक:पाकिस्तान के राष्ट्रपति ने एक अध्यादेश पर दस्तखत करके सरकार को यह अधिकार दिया है कि वहां सक्रिय आतंकवादी गिरोहों पर वह प्रतिबंध लगाए, उनके दफ्तर बंद करे और उनके बैंक खाते रद्द करे। जाहिर है

12345678
लोकप्रिय ख़बरें
Visitor's Counter :   0042554062
Copyright © 2016 AAR ESS Media, All rights reserved. Website Designed by mozart Infotech