Friday, July 20, 2018
Follow us on
Education

HAPPENING HARYANA-सेमेस्टर प्रणाली खत्म हो या फिर परीक्षाएं हों देरी से

September 15, 2015 05:15 AM

सेमेस्टर प्रणाली खत्म हो या फिर परीक्षाएं हों देरी से
अजय मल्होत्रा / हप्र
भिवानी, 14 सितम्बर
प्रदेश में पंचायत चुनाव के चलते हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड ने 10वीं व 12वीं कक्षाओं में सेमेस्टर प्रणाली आगामी वर्ष की बजाय इसी वर्ष समाप्त करने की योजना तैयार की है। इस फैसले को आगामी कुछ दिन में शिक्षा विभाग तथा हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड सैद्धांतिक रूप से स्वीकृति प्रदान कर सकता है।
गौरतलब होगा कि प्रदेश में गत 8 सितम्बर को पंचायत चुनाव की घोषणा के साथ ही 29 सितम्बर से 21 सितम्बर तक होने वाली हरियाणा शिक्षा बोर्ड की 10वीं व 12वीं कक्षाओं के प्रथम सेमेस्टर की परीक्षाओं पर अनिश्चितता के बादल छा गये हैं। यूं भी सभी अध्यापकों की पंचायत चुनाव में ड्यूटी लगाई जा रही हैं।
ऐसे में अध्यापकों द्वारा परीक्षाएं संचालित करना मुश्किल होगा। हरियाणा राजकीय अध्यापक संघ तथा हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ पहले से ही इस बारे अपनी चिंता व्यक्त कर चुका है। बोर्ड द्वारा परीक्षा की तिथियां चुनाव घोषणा से ठीक 4 दिन पहले यानि 4 सितम्बर को घोषित की गई थी। इसी दौरान चुनाव कार्यक्रम घोषित होने के कारण शिक्षा बोर्ड की ओर से प्रदेश सरकार को दो सुझाव भेजे गए हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बोर्ड प्रशासन ने 10वीं तथा 12वीं के प्रथम सेमेस्टर की परीक्षाएं समाप्त करके ये परीक्षाएं वार्षिक आधार पर एक साथ मार्च में करवाने अथवा प्रथम सेमेस्टर की परीक्षाएं चुनाव के बाद करवाने के प्रस्ताव भेजे हैं। यूं भी प्रदेश में गिरते शिक्षा के स्तर को ध्यान में रखते हुए गत दिनों शिक्षा विभाग ने प्रदेश के स्कूलों में सेमेस्टर प्रणाली समाप्त कर दी थी लेकिन वर्तमान वर्ष में 10वीं तथा 12वीं कक्षाओं के लिए यह प्रणाली लागू रखने की बात कही गई थी।
पंचायत चुनाव और परीक्षा की तारीख
चुनाव आयोग ने तीन चरणों यानि 4 अक्तूबर, 11 अक्तूबर व 18 अक्तूबर के लिए पोलिंग निर्धारित की गई हैं। इन तीनों तिथियों से एक दिन पहले तथा एक दिन बाद बोर्ड की परीक्षा की तारीखें भी निर्धारित हैं।
4 अक्तूबर यानि प्रथम चरण की पोलिंग से एक दिन पहले 3 अक्तूबर को 12वीं का हिन्दी तथा अंग्रेजी का पर्चा है।
पोलिंग से अगले दिन 5 अक्तूबर को 10वीं का गणित व 12वीं का मिल्ट्री साइंस व अन्य आॅप्शनल पर्चे हैं।
11 अक्तूबर यानी पोलिंग के दूसरे चरण के दिन से ठीक दो दिन पहले 9 अक्तूबर को 12वीं का गणित व 10 अक्तूबर को फाइन आर्ट्स का पर्चा है। पोलिंग से अगले दिन 12 अक्तूबर को 10वीं का एसएस तथा 12वीं का राजनीति शास्त्र व अकाउन्ट्स का पर्चा है। 18 अक्तूबर पोलिंग के तीसरे चरण से एक दिन पहले 17 अक्तूबर को 12वीं का फिजीकल एजुकेशन तथा बायोलॉजी व बिजनेस विषयों के पर्चे हैं।
इन हालात में शिक्षा बोर्ड के लिए मुश्िकल स्थिति पैदा हो गई है। चुनाव की तिथियों को ध्यान में रखते हुए अगर शिक्षा बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करके एक या दो माह देरी से परीक्षाएं आयोजित करता है तो दसवीं तथा बारहवीं के लगभग 7 लाख छात्र-छात्राओं का भविष्य दांव पर लगेगा। इन छात्र-छात्राओं का प्रथम सेमेस्टर लेट होता है तो द्वितीय सेमेस्टर स्वभाविक तौर पर देरी से आरंभ होगा।
बोर्ड प्रवक्ता मीनाक्षी के अनुसार पंचायत चुनाव तथा प्रथम सेमेस्टर की तिथियां टकराने के कारण बोर्ड ने दो प्रस्ताव भेजे हैं, या तो प्रथम सेमेस्टर की परीक्षाएं समाप्त कर दी जायें या फिर परीक्षाएं नवम्बर में हों।( COURSTEY DAINIK TRIBUNE SEPT 15)

Have something to say? Post your comment
 
More Education News
हरियाणा सैकेण्डरी शिक्षा विभाग ने मार्च, 2018 में मैट्रिक परीक्षा पास करने वाले हरियाणा के मूल निवासी छात्र-छात्राओं से पोस्ट मैट्रिक मैरिट छात्रवृत्तियां प्रदान करने के लिए 30 सितम्बर, 2018 तक आवेदन आमंत्रित किए
Mount Olympus Students experienced the Joy of Giving at summer camp
डीएलएड प्रथम वर्ष (नियमित/रि-अपीयर) जुलाई-2018 की परीक्षा का संचालन आरम्भ हो गया Bihar 10th result: प्रेरणा 457 अंक पाकर बनी टॉपर No doctorate for plagiarised PhD thesis: Javadekar अब 26 जून को आएंगे बिहार बोर्ड के 10वीं के नतीजे सुपर 100 कार्यक्रम के तहत प्रतियोगी परीक्षा 14 जून को दोपहर 2 से 4 बजे तक राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय पुलिस लाईन अम्बाला शहर में आयोजित की जायेगी राहुल गांधी ने 'सुपर 30' के आनंद कुमार को बधाई दी सुपर 30 के 26 बच्चों ने पास किया IIT-JEE एग्जाम
India’s First American Curriculum Pre School and Day Care now at Cyber City