Thursday, May 23, 2019
Follow us on
Education

कुरूक्षेत्र के इतिहास विभाग में इस वर्ष 2014-15 के सत्र से एक नऐ एम.ए. कोर्स की शुरूवात की जा रही है

May 20, 2014 04:17 PM
कुरूक्षेत्र;कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरूक्षेत्र के इतिहास विभाग में इस वर्ष 2014-15 के सत्र से एक नऐ एम.ए. कोर्स की शुरूवात की जा रही है, जिसका परिभाषिक शब्दवली में शीर्षक एम.ए. साऊथ ऐशियन स्टडीज है। 
इस संबंध में जानकारी देते हुए विश्वविद्यालय के प्रवक्ता ने बताया कि इस कोर्स में दाखिले के लिए शैक्षणिक योग्यता एम.ए. इतिहास की शैक्षणिक योग्यता के समान रहेगी। लेकिन इस कोर्स में दाखिले के लिए छात्रों को अलग से प्रवेश परीक्षा उत्तीण करनी होगी।  इस कोर्स में 25 सीट रखी गई है। उन्होंने बताया कि यह एक प्रोफेशनल कोर्स है  जिसको करने के बाद विद्यार्थियों को ना केवल भारत में बलिक विदेशों में भी  में भी रोजगार प्राप्त करने की सम्भावना होगी। इसके अलावा  छात्रों को जाने माने शोध संस्थानों में एवं विदेशी विश्वविद्यालयों में उच्च शिक्षा क्षेत्र में अवसर प्राप्त होगे। 
उन्होंनेे बताया इस कोर्स में छात्रों को दक्षीण ऐशियाई देशों जैसे भारत, पाकिस्तान, अफगानीस्तान, नेपाल, भूटान, श्रीलंका और बंगलादेश की सामाजिक सास्कृतिक, आर्थिक, राजनीतिक एवं आपसी सम्बंधों से सम्बंधित पाठयक्रम पढाया जाऐगा जिसकी आज के समय में काफी जरूरत महसुस की जा रही है। उन्होंने बताया कि यह कोर्स कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की एकेडमिक कोंसिल के द्वारा  21 अप्रैल 2014 को सर्वसिम्मति से पास किया था तथा विश्वविद्यालय द्वारा इस कोर्स का एडमिशन नोटिस भी निकाला जा चुका है।
 उन्होंने बताया कि एम.ए. साऊथ एशियन स्टडीज कोर्स   पहले भी भारत में एवं भारत के बहार कुछ जाने माने विश्वविद्यालयों में जैसे ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय ऑक्सफोर्ड, कैम्बरीज विश्वविद्यालय कैम्बरीज, शिकागो विश्वविद्यालय शिकागों, कैलिफोनिया विश्वविद्यालय वर्कलें, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय दिल्ली, जयपूर विश्वविद्यालय जयपूर एवं  सैन्ट्रल विश्वविद्यालय भटिडा आदि में पढाए जा रहा है। इस विषय पर अधिक शोध के उददेश्य से दिल्ली में एक नए विश्वविद्यालय साऊथ एशियन  विश्वविद्यालय की स्थापना की गई है।
प्रवक्ता ने बताया कि इस एम.ए. कोर्स के बाद छात्रों को अनेक एन.जी.ओ. नॉन गर्वमैन्ट ओग्रेनाइजेशन में बेशुमार रोजगार के अवसर मिलेेंगे । उन्होंने बताया कि पिछले 20 वर्षो से विश्व में एम.ए.साऊथ एशियन स्टडीज के प्रति रूझाज बढता जा रहा है। इस कोर्स की शुरूआत से पहले इतिहास विभाग द्वारा देश विदेश के प्रमुख विश्वविद्यालयों के साथ तालमेल किया तथा फिर विभाग में कोर्स की शुरूआत की । यह कोर्स इतिहास विभाग को दुनिया के श्रेष्ठ विश्वविद्यालयों के साथ जोड़ देगा ।
 
Have something to say? Post your comment