Saturday, May 30, 2020
Follow us on
National

लॉकडाउन का ब्रेकडाउन

March 29, 2020 05:49 AM

COURTESY NBT MARCH 29

बसें चलने की खबर सुन आनंद विहार में बढ़ती गई भीड़, रात तक अफरातफरी
लॉकडाउन का ब्रेकडाउन

 

राय
यूपी, दिल्ली, राजस्थान ने पलायन कर रहे लोगों के लिए बसों का इंतजाम किया तो बिहार सरकार ने सवाल उठाए। बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि दूसरे राज्यों से पलायन कर आ रहे लोगों के साथ कोरोना का संक्रमण भी आ सकता है। इससे लॉकडाउन का मकसद ही खत्म हो जाएगा। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्रियों से बात कर पलायन रोकने को कहा। गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को निर्देश दिया कि वे प्रवासी मजदूरों के खाने-पीने, ठहरने,इलाज के इंतजाम करें। इसके लिए राज्य आपदा राहत कोष से रकम ले सकते हैं। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल समेत कई मंत्रियों ने लोगों से दिल्ली में ही रहने की अपील की है।
केंद्र ने राज्यों से कहा, पलायन रोकें

• दिल्ली-गाजियाबाद सीमा पर स्थित कौशांबी के बस डिपो में शनिवार शाम ऐसे हालात दिखे।• लोगों ने बताया कि वे नोएडा, गुड़गांव, फरीदाबाद, कुंडली, सिरसा से पैदल ही चलकर आए हैं। • सैकड़ों हरियाणा-दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर फंसे हैं। पुलिस उन्हें दिल्ली में दाखिल नहीं होने दे रही।
Nitesh Sinha


दिल्ली-एनसीआर सहित देशभर से हजारों लोग पैदल सड़कों पर निकल पड़े हैं। वे डरे हुए हैं और सिर्फ अपने घरों तक पहुंचना चाहते हैं। लेकिन यह भीड़ एक खतरनाक हालत पैदा कर रही है। इन लोगों को रोका जाना जरूरी है, लेकिन इसके लिए उनके डर दूर किए जाएं और उन्हें रहने को जगह और जीने के लिए भोजन दिया जाए। इन्हें शहरों में ही रोकना जरूरी है, क्योंकि यहीं महामारी से लड़ाई ठीक से लड़ी जा सकती है, गांवों में नहीं। सरकार और संस्थाएं जरा भी देरी न करें। यही देशहित में है।• टीम एनबीटी, नई दिल्ली

 

लॉकडाउन में रोजी-रोटी के लाले देख गांव पहुंचने की आस में हजारों की भीड़ शनिवार को दिल्ली बॉर्डर पर टूट पड़ी। यूपी, बिहार, एमपी और राजस्थान के लिए निकले लोगों का हुजूम गाजीपुर, आनंद विहार समेत दिल्ली-एनसीआर के अनेक सीमावर्ती इलाकों में सुबह से जुटने लगा। पता चला था कि राज्य सरकारों ने बसें चलवाई हैं। कोरोना से बचाव के लिए आपस में दूरी का ख्याल भूले इन लोगों का एक ही मकसद था कि किसी भी तरह बस में चढ़ जाएं। कुछ ट्रकों में चढ़ गए। भीड़ इतनी थी कि यूपी की 200 बसों के बाद दिल्ली को भी बसें उतारनी पड़ीं। राजस्थान ने भी इंतजाम किया। इनकी खबर सुनकर दोपहर बाद से आनंद विहार में भीड़ इतनी बढ़ी कि रात तक अफरातफरी रही। बस अड्डे के बाहर हजारों इंतजार में खड़े रहे। कई तो पैदल ही निकल पड़े। दूरी बनाकर चलने की पुलिस की बेअसर रही

Have something to say? Post your comment