Sunday, March 29, 2020
Follow us on
Haryana

HARYANA-60 दिनों में अवैध खनन और ओवरलोडिंग में लगे 2 हजार वाहन पकड़े, पुलिस थानों में जगह नहीं

February 21, 2020 05:23 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR FEB 21

60 दिनों में अवैध खनन और ओवरलोडिंग में लगे 2 हजार वाहन पकड़े, पुलिस थानों में जगह नहींविकल्प के लिए एनजीटी पहुंचा खनन विभाग, दो हजार में 750 वाहन यमुना नदी के क्षेत्र में पकड़े गए

{ वाहन मालिक जुर्माना राशि वाहन की कीमत का 50% होने पर नहीं छुड़वा रहे
प्रदेश में खनन क्षेत्र को अपने कब्जे में अवैध खनन माफिया के खिलाफ कार्यवाही को लेकर सरकार ने पूरी ताकत झोंक दी है। लगातार छापे मारे जा रहे हैं। खनन माफिया की ओर अवैध खनन और ओवरलोडिंग का इसी अनुमान लगाया जा सकता है कि खनन विभाग ने पिछले 60 दिनों में दो हजार वाहनों को जब्त किया है। इनमें करीब 750 वाहन यमुना क्षेत्र से पकड़े गए हैं। इनमें डंपर से लेकर जेसीबी, ट्रेक्टर-ट्रॉली, ट्रक आदि वाहन शामिल है। लेकिन इसके बावजूद अवैध खनन और ओवरलोडिंग का गैर कानूनी धंधा अभी बंद नहीं हुआ है। हाल यह है कि विभाग की ओर से लगातार वाहनों को जब्त किए जाने से अब पुलिस थानों में जगह नहीं बची है। क्योंकि ओवरलोडिंग और अवैध खनन में लगे वाहनों को उसकी कीमत का 50 फीसदी जुर्माना भरे जाने पर ही छोड़े जाने का प्रावधान कुछ माह पहले किया गया है। एेसे में कई लोग जब्त किए अपने वाहन तक नहीं ले जा रहे हैं। थानों में जगह की कमी पर अब खनन विभाग एनजीटी पहुंचा है। ताकि इसके समाधान के लिए कोई वैकल्पिक आदेश जारी किए जा सकें। गुरुवार को भी गुड़गांव, फरीदाबाद, नूंह, पलवल आदि जिलों में 50 से ज्यादा डंपरों को जब्त किया गया है। बता दें कि खनन मंत्री मूलचंद शर्मा भी कई बार अोवरलोडिंग वाहनों को पकड़ चुके हैं।
जब से मंत्रालय मिला है, अवैध खनन रोकने के लिए काम कर रहे हैं। दो माह में दो हजार वाहन पकड़े गए हैं। लगातार कार्यवाही जारी रहेगी। अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर पूरी तरह रोक लगाई जाएगी। -मूलचंद शर्मा, मंत्री, खनन विभाग
ऐसे हो रहा अवैध खनन
{ कुछ लोगों ने खनन का लाइसेंस लिया हुआ है। लेकिन वे निर्धारित जगह से ज्यादा में भी खनन कर रहे हैं।
{ खान में जेसीबी की तरह की पोकलेन मशीन से खुदाई नहीं की जा सकती। लेकिन यह मशीन भी खनन क्षेत्र में चल रही है। नदियों में तीन मीटर की गहराई तक ही खुदाई की जा सकती है। लेकिन यह मशीन गहराई तक खुदाई करती है।
{ ट्रक, ट्रेक्टर ट्रॉली और डंपरों में निर्धारित मात्रा से ज्यादा रेता भरा जा रहा है।
इन जिलों में ज्यादा खनन
प्रदेश के गुड़गांव, यमुनानगर, पंचकूला, रेवाड़ी, भिवानी, फरीदाबाद,पलवल, सोनीपत और पानीपत आदि जिलों में खनन ज्यादा होता है। इनमें कई जिलों से यमुना नदी गुजरती है। जिसमें भी खनन का काम हो रहा है।
खनन क्षेत्र में सप्ताह में दो रात बिताएंगे एडीसी, कमिश्नर हर दिन करेंगे मंत्री को ब्रिफ
ओवरलोडिंग अौर अवैध खनन को रोकने के लिए अब आरटीए का कार्यभार देख रहे एडीसी को सप्ताह में दो रात खनन क्षेत्र में बिताने होंगे। उन्हें ओरलोडिंग वाहनों समेत अवैध खनन करने वालों पर एक्शन लेना होगा। इसके साथ इन सभी अधिकारियों का एक वाट्सएस ग्रुप बनाया जाएगा, जिनमें वे हर दिन की कार्यवाही से ट्रांसपोर्ट कमिश्नर को अवगत कराएंगे और कमिश्नर शाम को खनन मंत्री मूलचंद शर्मा को ब्रीफ करेंगे। इस रिपोर्ट में गाड़ी के नंबर समेत उस पर की गई कार्यवाही आदि की पूरी रिपोर्ट देनी होगी। यह भी बताना होगा कि जिस वाहन के खिलाफ के कार्यवाही की गई, उसकी गलती क्या थी।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
FARIDABAD-रहना-खाना फ्री, लेकिन कोई रुकने को तैयार नहीं Ggm’s workers quit city despite free food, camps Mass movement catches authorities off guard Migrants en route to native villages flood Haryana roads पलायन करने वालों को रोकें:अनिल विज हरियाणा के लिए बड़ी राहत,कोरोना वायरस से संक्रमित 20 मरीजों में से 6 लोग अब पूरी तरह से ठीक हुए अम्बाला शहर सिविल अस्पताल पहुंचा कोरोना का पहला पॉजिटिव,युवक पंजाब का रहने वाला मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे अपने-अपने जिलों में ऐसे श्रमिकों की आवाजाही पर कड़ी निगरानी रखें
कोरोना बीमारी के चलते हरियाणा सरकार ने मंत्रियों व सांसदों को अलग-अलग जिला का इंचार्ज किया नियुक्त
किसी भी प्रवासी और गरीब परिवार के सदस्यों को भूखा नहीं रहने दिया जाएगा - रणजीत सिंह