Sunday, March 29, 2020
Follow us on
Haryana

एमसीआई ने पीजीआई को दी एमडी स्पोर्ट्स मेडिसिन कोर्स की मंजूरी

February 19, 2020 05:40 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR FEB 19

एमसीआई ने पीजीआई को दी एमडी स्पोर्ट्स मेडिसिन कोर्स की मंजूरी

मेडिकल कौंसिल आॅफ इंडिया ने पीजीआई मेडिकल कॉलेज को एमडी स्पोर्ट्स मेडिसिन की दो सीट पर कोर्स कराने की मंजूरी दे दी है। अभी तक यह एमडी स्पोर्ट्स मेडिसिन कोर्स चेन्नई के श्री रामचंद्रन इंस्टीट्यूट में दो व दिल्ली के सफदरजंग मेडिकल इंस्टीट्यूट में पांच सीटों पर करने की सुविधा उपलब्ध है। अब पीजीआईएमएस रोहतक में दो सीटों की मंजूरी मिलने के बाद अब यह देश का तीसरा संस्थान बन गया है। जहां से पीजी स्टूडेंट्स एमडी स्पोर्ट्स मेडिसिन कोर्स की पढ़ाई कर सकेंगे। पीजीआई मेडिकल कॉलेज को यह उपलब्धि महज तीन माह में मिली है। हरियाणा स्पोर्ट्स हब होने की वजह से यहां पर खेलों में चुटहिल होने वाले खिलाड़ियों को विदेशों में जाकर इलाज कराना मुश्किल होता था। इसलिए भारत सरकार ने फैसला किया कि देश में ही स्पोर्ट्स इंजरी सेंटर संचालित किए जाए। इसी क्रम में वर्तमान समय में देश भर में पांच स्पोर्ट्स इंजरी संचालित हैं। इधर, पंडित भगवत दयाल शर्मा हेल्थ यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रोफेसर डॉ. ओपी कालरा ने स्पोर्ट्स इंजरी सेंटर में जरूरी संसाधन उपलब्ध कराए। विभागाध्यक्ष सीनियर प्रोफेसर डॉ. राजेश रोहिल्ला के निर्देशन में टीम में ओपीडी और सेंटर में आने वाले खिलाड़ियों को इलाज उपलब्ध कराया। एमसीआई की टीम ने निरीक्षण कर व्यवस्थाएं जांची, जिसमें मानक के अनुसार सेंटर में संसाधन पूरे मिले।
आउटडोर और इनडोर गेम्स में आती हैं खिलाड़ियों को इंजरी
खेल प्रशिक्षक बताते हैं कि एथलेटिक्स, फुटबॉल, क्रिकेट, बास्केटबॉल, बेसबॉल सहित अन्य खेलों के दौरान खिलाड़ी चोटिल होते हैं। मैदान में या घर से बाहर खेले जाने वाले खेलों आउटडोर गेम्स या स्पोर्ट्स के दौरान जब घुटने पर घुमावदार ताकत या जोर यानी ट्विस्टिंग फोर्स लगता है तो घुटने के लिंगामेंट्स में से एक या अधिक टूट जाते हैं। इसका उपचार कराने के लिए खिलाड़ियों को परेशान होना पड़ता है। इलाज महंगा होने की वजह से खिलाड़ी उपचार नहीं करा पाते। वे अनफिट घोषित कर दिए जाते हैं।
न्यू ओपीडी के रूम नंबर 81 में सप्ताह में दो दिन लग रही ओपीडी
पीजीआई की न्यू ओपीडी के रूम नंबर 81 में सप्ताह के प्रत्येक मंगलवार व शुक्रवार में खिलाड़ी मरीजों का उपचार किया जा रहा है। स्पोर्ट्स मेडिसिन डिपार्टमेंट की टीम में शामिल एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. मोहित खन्ना, कंसल्टेंट डॉ. सुष्मिता, असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. मोहित दुआ, दो फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. दीपशिखा, डॉ. दिव्या, स्पोर्ट्स न्यूट्रीशियनिस्ट डॉ. शिल्पा और खेल मनोविज्ञान एक्सपर्ट डॉ. मनदीप खिलाड़ियों को उपचार उपलब्ध करा रहे हैं। -डॉ. राजेश रोहिल्ला, सीनियर प्रोफेसर व एचओडी, स्पोर्ट्स मेडिसिन डिपार्टमेंट, पीजीआई।
पीजीआई का स्पोर्टस मेडिसिन डिपार्टमेंट व इंजरी सेंटर की बिल्डिंग।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
पलायन करने वालों को रोकें:अनिल विज हरियाणा के लिए बड़ी राहत,कोरोना वायरस से संक्रमित 20 मरीजों में से 6 लोग अब पूरी तरह से ठीक हुए अम्बाला शहर सिविल अस्पताल पहुंचा कोरोना का पहला पॉजिटिव,युवक पंजाब का रहने वाला मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे अपने-अपने जिलों में ऐसे श्रमिकों की आवाजाही पर कड़ी निगरानी रखें
कोरोना बीमारी के चलते हरियाणा सरकार ने मंत्रियों व सांसदों को अलग-अलग जिला का इंचार्ज किया नियुक्त
किसी भी प्रवासी और गरीब परिवार के सदस्यों को भूखा नहीं रहने दिया जाएगा - रणजीत सिंह हैलो साहब! मेरी पत्नी को समझाओ घर से बाहर मार रही है गप्पे प्रवासी पैदल ही पलायन को मजबूर परिवार की चिंता में सैकड़ों किलोमीटर दूरी तय करने को निकल रहे मेहनतकश 9 दिन के बाद अच्छी खबर, हरियाणा में कोई नया मरीज नहीं आया, अभी 19 संक्रमित, फतेहाबाद में एक खिलाड़ी को किया गया भर्ती