Thursday, July 02, 2020
Follow us on
Haryana

संतरी से लेकर एसएचओ तक ढूंढ़ रहे 1200 रुपए में तीन साल चलने वाली जैकेट और 325 रु. में 2 साल तक चलने वाले जूते

November 21, 2019 06:15 AM

COURTSY DAINIK  BHASKAR NOV 21
संतरी से लेकर एसएचओ तक ढूंढ़ रहे 1200 रुपए में तीन साल चलने वाली जैकेट और 325 रु. में 2 साल तक चलने वाले जूते

प्रदेश के पुलिस कर्मचारी इन दिनों कुछ खास किस्म के जूतों और सर्दी में काम आने वाली जैकेट को लेकर खासे परेशान हैं। वजह ये है कि पुलिस कर्मी जितने बजट में ये दोनों चीजें बाजार में ढूंढ़ रहे हैं वो उन्हें मिल नहीं पा रही। दरअसल, इस सर्दी में पुलिस कर्मियों को जैकेट खरीदने के लिए सरकार की ओर से बजट जारी किया गया है। इसके तहत पुलिस कर्मियों को 1200 रुपए जैकेट खरीदने के लिए दिए गए हैं। ये रुपए तीन साल के लिए मिले हैं। यानी इन रुपयों में पुलिस कर्मियों को ऐसी जैकेट खरीदनी है और वो भी इस क्वालिटी की कि वो तीन साल तक चल जाए। यही हाल पुलिस कर्मियों का जूतों को लेकर भी है। उन्हें जूतों के लिए 325 रुपए सरकार दे रही है। वाे भी दो साल में एक बार। यानी दरोगा जी को अब बाजार में ऐसे जूते ढूंढने पड़ रहे हैं जो 325 रुपए कीमत में मिल जाएं और दो साल तक वो चलें भी, लेकिन बाजार की हकीकत अलग है।
कर्मियों के अकाउंट में पैसे पहुंचे, परेशानी ये इन्हें खर्च कर ऐसी जैकेट-जूते कहां से लाए
अभी तक सरकार की ओर से पुलिस को वर्दी, जूते सीधे मुहैया कराए जाते थे। लेकिन अब प्रदेश सरकार की ओर से प्रणाली बदल दी गई है। नई नीति के तहत पुलिस के कांस्टेबल से लेकर इंस्पेक्टर स्तर के अधिकारी के अकाउंट में 1200 रुपए जैकेट खरीद के लिए और 325 रुपए जूतों के लिए तय किए गए हैं। मार्च 2018 में पुलिस को 1200 रुपए मिले थे। इससे पहले सरकार की ओर से पुलिस कर्मियों को वर्दी और सर्दी की जैकेट मिलती थी। मगर अब सरकार की ओर से कांस्टेबल से लेकर इंस्पेक्टर स्तर के अधिकारी के अकाउंट में 1200 रुपए भेज दिए। पुलिस पैट्रन के हिसाब से अब पुलिस कर्मियों को खुद ही जैकेट खरीदनी होगी। इधर पुलिस कर्मियों का कहना है कि उन्हें रात भर कड़ाके की ठंड पता नहीं किसी हालात में और कहां ड्यूटी करनी पड़े, लेकिन 1200 रुपए तो उन्हें ठीक ढंग से एक स्वेटर तक नहीं मिला
जूतों का पुराना स्टॉक बचा, कई जिलों में अभी ये दिए जा रहे
नई नीति के तहत पुलिस कर्मियों को जूते खरीदने के लिए दो साल के 325 रुपए मिलेंगे। हालांकि कई जिलों में पुलिस के पास अभी जूतों का पुराना स्टॉक बचा है। इन जिलों में पुलिस कर्मियों को अभी ये जूते नसीब हो रहे हैं। रोहतक समेत कई जिलों में तैनात पुलिस कर्मियों के लिए ये सुविधा बंद हो चुकी है। कांस्टेबल से इंस्पेक्टर लेवल तक के अधिकारी के अकाउंट में 325 रुपए जूता खरीद के लिए डाल दिए गए हैं। लेकिन पुलिस कर्मियों को इस कीमत में जूते नहीं मिल रहे।
वर्दी स्टॉक खत्म होने पर मिलेगा भत्ता
पुलिस को पहले गर्मी और सर्दी के मौसम में अलग-अलग वर्दी मिलती रही है, लेकिन अब खुद के पैसों की खरीदनी पड़ेगी। हालांकि पुलिस विभाग के पास कपड़े का स्टॉक बचा है। स्टॉक खत्म होने के बाद पुलिस कर्मियों को वर्दी भत्ता ही मिलेगा। पुलिस कर्मियों को खुद वर्दी खरीदकर सिलवानी होगी। वर्दी को पूरा पैट्रन हरियाणा पुलिस का रहेगा।
कम दाम में अच्छा माल
विभाग ने कर्मचारियों के खातों में डाले पैसे, परेशानी में पुलिस, कहां से खरीदें
फाइल मंगाकर करेंगे जांच, नहीं होने देंगे परेशानी : डीजीपी
प्रदेश में पुलिस कर्मियों की जैकेट और जूते के भत्ते को लेकर फाइलें मंगवाकर जांच की जाएगी। पुलिस कर्मियों को किसी प्रकार की कोई भी समस्या नहीं होने दी जाएगी। मुलाजिमों के हित में काम किया जाएगा। -मनोज यादव, डीजीपी, हरियाणा।

Have something to say? Post your comment