Saturday, July 04, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
दिल्ली-एनसीआर में लोगों ने महसूस किए भूकंप के तेज झटकेचंडीगढ़ प्रशासन का बड़ा फैसला, 9वीं एवं10वीं के छात्रों की फीस माफये सरकार नहीं गिरोह है, आज प्रदेश का हर वर्ग सरकार से दुखी: अभय चौटालाहरियाणा स्टेट हायर एजूकेशन काऊंसिल’ के चेयरपर्सन प्रो. बी.के कुठियाला आगामी 6 जुलाई व 7 जुलाई 2020 को राज्य के सरकारी कालेजों के प्रिंसिपलों से ऑनलाइन संवाद स्थापित करेंगे हरियाणा कृषि लागत एवं मूल्य आयोग की सिफारिशों के अनुरूप फसलों की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर करने वाला राज्य है:दुष्यंत चौटालाअनलॉक-2 के दौरान औद्योगिक एवं वाणिज्यिक गतिविधियां सामान्य स्थिति की ओर बढ़ी हैं:दुष्यंत चौटालाअमेरिका ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए पाकिस्तान को दान किए 100 वेंटिलेटरदिल्ली: YSRCP के सांसदों ने की लोकसभा स्पीकर ओम बिरला से मुलाकात
Haryana

GURGAON-पहाड़ी जमीन पर फार्महाउस कैसे/

September 23, 2019 05:38 AM

COURTESY NBT SEPT 23

पहाड़ी जमीन पर फार्महाउस कैसे/


पाबंदी के बावजूद गांव रायसीना की 1200 एकड़ जमीन पर अवैध रूप से बने हैं 200 फार्महाउस।
1980 में एक बिल्डर ने अंसल रिट्रीट के नाम से गांव रायसीना में 1200 एकड़ पर करीब 700 फार्महाउस विकसित करने का प्लान बनाया था। हालांकि इसी दौरान यहां निर्माण पर प्रतिबंध लग गया। नोटिफिकेशन जारी हुआ, लेकिन उसका पालन नहीं हुआ। निर्माण होते रहे। पिछले साल टाउन ऐंड कंट्री प्लानिंग डिपार्टमेंट ने सर्वे कराया था। इसमें पता चला कि इलाके में लगभग 200 फार्महाउस विकसित हो चुके हैं।
पाबंदी के बाद भी जारी रहा निर्माण


हाई कोर्ट ने रायसीना में अवैध रूप से बने फार्महाउसों पर जवाब मांगा है। ये फार्महाउस सोहना नगरपालिका के तहत आते हैं।• दीपक आहूजा, गुड़गांव

 

गुड़गांव-सोहना रोड स्थित गांव रायसीना में 1200 एकड़ में बने करीब 200 फार्महाउस पर पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने सवाल उठाए हैं। कोर्ट ने प्रशासन से पूछा है कि कागजों में पहाड़ी के रूप में दर्ज जमीन पर फार्महाउस कैसे बन गए और इस मामले में लापरवाह अफसरों-कर्मियों पर क्या कार्रवाई हुई है/ इस मामले की अगली सुनवाई 30 सितंबर को होगी। इससे पहले ही पूरे मामले में गुड़गांव रेंज के डिविजनल कमिश्नर अशोक सांगवान को कोर्ट में जवाब देना है। उन्होंने सभी संबंधित विभागों के अफसरों को बुलाकर ब्योरा मांगा है। साथ ही, निर्माण के दौरान तैनात रहे अफसरों के नाम भी पूछे हैं।

कोर्ट हरियाणा स्टेट पल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की याचिका पर सुनवाई कर रहा है। बोर्ड ने 2016 में अर्जी दाखिल कर कहा था कि अरावली पर्वत शृंखला में हो रहे निर्माण के कारण पर्यावरण को नुकसान पहुंचा है

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
ये सरकार नहीं गिरोह है, आज प्रदेश का हर वर्ग सरकार से दुखी: अभय चौटाला हरियाणा स्टेट हायर एजूकेशन काऊंसिल’ के चेयरपर्सन प्रो. बी.के कुठियाला आगामी 6 जुलाई व 7 जुलाई 2020 को राज्य के सरकारी कालेजों के प्रिंसिपलों से ऑनलाइन संवाद स्थापित करेंगे हरियाणा कृषि लागत एवं मूल्य आयोग की सिफारिशों के अनुरूप फसलों की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर करने वाला राज्य है:दुष्यंत चौटाला अनलॉक-2 के दौरान औद्योगिक एवं वाणिज्यिक गतिविधियां सामान्य स्थिति की ओर बढ़ी हैं:दुष्यंत चौटाला
भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा सुभाष पार्क का निरीक्षण
प्रदेश भाजपा नेता सुश्री आरती राव का जन्मदिन धूमधाम से मनाया
हरियाणा प्रदेश में वन नेशन-वन राशन कार्ड,के आधार पर किसी भी राशन कार्ड पर नवंबर महीने तक मिलेगा मुफ्त राशन:सुभाष बराला, हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष
Rural housing targets unmet due to Covid curbs: Officials Ggm district’s doubling rate improves from 7 to 36 days Action against illegal mining in Ggm: 350 trucks seized in June