Thursday, February 20, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
हरियाणा सरकार ने एक आईपीएस ऑफिसर का किया तबादलापंजाब: भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा पहुंचे अमृतसर के स्वर्ण मंदिरमोदी सरकार ने 6 अपाचे हेलीकॉप्टर खरीदने को मंजूरी दी, मार्च में समझौते पर होंगे हस्ताक्षरहरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में लिए आज अहम फैसलेहरियाणा बीजेपी को जल्दी मिलेगा नया प्रदेश अध्यक्ष:सुभाष बरालासंजय हेगड़े ने कहा- हम चाहते हैं कि शाहीन बाग बरकरार रहते हुए समाधान निकलेशाहीन बाग में बोले संजय हेगड़े- जब तक सुप्रीम कोर्ट है, तब तक आपकी बात सुनी जाएगीचंड़ीगढ़:हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया है कि 2020-21के लिए एक्साइज पालिसी को मंत्रिमंडल ने दी मंजूरी
Haryana

राज्य के सभी फार्मासिस्ट 26 को सामूहिक अवकाश पर , दवाइयों के लिए होगी मारामारी

August 24, 2019 01:43 PM

हरियाणा प्रदेश की सभी  सरकारी संस्थाओं में कार्यरत फार्मासिस्ट सरकार द्धारा उनकी मांगो की अनदेखी के विऱोध में 26 अगस्त सोमवार को सामूहिक अवकाश पर रहेंगे जिससे कहीं भी दवा नहीं मिल पायेगी । यह जानकारी देते हुए एसोसिएशन गवर्नमेंट फार्मासिस्ट ऑफ़ हरियाणा के राज्य प्रधान विनोद दलाल ने बताया कि फार्मासिस्ट वर्ग की मुख्य मांग इस वर्ग की पे अनोमली दूर करके 4600 ग्रेड पे की है जिसकी स्वीकृति माननीय मुख्यमंत्री जी एवं स्वास्थ्यमंत्री जी दे चुके हैं बावजूद इसके वित् विभाग फाइल पर कुंडली मारे बैठा है।  उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्य ही है कि स्वास्थ्य विभाग में सबसे ज्यादा काम का बोझ उठाने वाला फार्मासिस्ट , जिसने जनता के हित को हमेशा सर्वोपरि रखा और कभी हड़ताल नहीं की व ना ही आंदोलन का रुख अपनाया।  सरकार की लगातार अनदेखी ने इस सभ्य वर्ग को पीछे धकेल दिया जिससे पूरे प्रदेश के फार्मासिस्ट वर्ग में गहरा रोष है। गत लंबे समय से यह वर्ग बातचीत के माध्यम से अपनी मांगे उठा रहा है पर सरकारी तंत्र का नकारात्मक रवैया आंदोलन पर मजबूर कर रहा है। श्री दलाल ने सरकार को चेताते हुए कहा कि अगर फार्मासिस्ट वर्ग की मांग पर गौर नहीं करती है तो आंदोलन को और तीव्र कर दिया जायेगा क्यूंकि यह आंदोलन पैसे के लिए नहीं बल्कि इस वर्ग के सम्मान का है। उल्लेखनीय है फार्मासिस्ट वर्ग गत 6 अगस्त से काली पट्टी बांधकर , गेट मीटिंग कर एवं 18 अगस्त को करनाल में मुख्यमंत्री आवास पर प्रदर्शन करके अपना लगातार विरोध जारी रखे हुए है। एसोसिएशन ने सभी कर्मचारी संगठनों को पत्र लिखकर उनके हकों के लिए लड़ाई में समर्थन मांगा है। 

Have something to say? Post your comment