Friday, December 13, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
जापानी पीएम शिंजो आबे का प्रस्तावित भारत दौरा रद्दजापान पीएम शिंजो आबे का भारत दौरा रद्द होने पर बोलीं ममता बनर्जी, यह देश के लिए काला धब्बाअर्थव्यवस्था में सुधार के लिए कई कदम उठाए: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमणदिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के छात्रों का प्रदर्शनराज्यसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगितसुप्रीम कोर्ट में सोमवार को होगी आम्रपाली मामले की सुनवाईअसम: नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन का प्रदर्शनकेरल: नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ CPM के नेताओं और कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन
Haryana

GURGJAON-लापरवाही : पीडब्ल्यूडी मंत्री ने 1 माह में सर्विस लेन सही कराने का आश्वासन दिया था, डेढ़ साल बाद भी नहीं सुधरी

August 17, 2019 05:52 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR AUG 17


बारिश में बह गईं सड़कें, शिकायत के लिए बने हरपथ एप पर कोई सुनवाई नहीं,गड्‌ढों से लगता है रोज जाम
लापरवाही : पीडब्ल्यूडी मंत्री ने 1 माह में सर्विस लेन सही कराने का आश्वासन दिया था, डेढ़ साल बाद भी नहीं सुधरी

करीब एक महीने से गुड़गांव में हो रही बारिश के दौरान शहर की अधिकांश सड़कें जर्जर हो चुकी हैं। बारिश से जहां सड़कें कई जगह से धंस चुकी हैं, वहीं कई सड़कें नाले का रूप ले चुकी हैं। सोहना रोड हाइवे की सर्विस लेन किसी नाले से कम नहीं है। हालांकि सोहना रोड को 6 लाइन करने व एलिवेटेड फ्लाई ओवर का निर्माण कार्य चल रहा है, जिस पर करीब 1900 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे, लेकिन हाइवे की सर्विस लेन में पिछले दो साल से गहरे गड्ढे बने हुए हैं। इसकी मरम्मत के लिए कोई पहल नहीं की गई है।
इस संबंध में करीब डेढ़ साल पहले पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर सिंह के कार्यक्रम में भी सोसायटी के लोगों ने मांग की थी। मंत्री के आश्वासन के डेढ़ साल बाद भी यह रोड जर्जर है।
गुड़गांव में क्षतिग्रस्त सड़कों की शिकायत के लिए फिलहाल केवल हर पथ एप का विकल्प है। बरसात में शहर की लगभग सभी सड़कें क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं, मगर इसकी शिकायत के लिए कोई हेल्प नंबर जारी नहीं किया गया है। गुड़गांव की सभी मुख्य सड़कें जीएमडीए अंतर्गत हैं, जबकि सेक्टरों और कॉलोनियों की सड़कें नगर निगम के अंतर्गत हैं। चिंता की बात है कि इन दिनों हर पथ एप भी निष्क्रिय पड़ा है।
गड्‌ढों की शिकायत को बनाए गए हर पथ एप को लेकर में अधिकारी गैरजिम्मेदाराना जवाब दे रहे
सेक्टर-50 की सड़क पर गड़ढों से जाम
यह सेक्ट-50 की सड़क है। यह गड्ढा करीब आधी सड़क पर बना हुआ है। जिससे इस गड्ढे को बचाने के चक्कर में अक्सर दुर्घटना होने का खतरा बना रहता है। सोहना रोड से जाम से बचने के लिए काफी गाड़ियां इस रोड से सीधे सेक्टर-51, गोल्फ कोर्स रोड, सेक्टर-31, सेक्टर-40 व हुडा सिटी सेंटर को भी निकलते हैं। गड्ढे के कारण रोजाना ट्रैफिक जाम होता है।
पालम विहार रोड का पक्का नाला धंसा
पालम विहार रोड के किनारे बनाया गया नाला गुरुवार सुबह हुई तेज बारिश के बाद यह नाला धंस गया। ऐसे में सड़क के किनारे चलने वाले वाहन चालक भी यहां किसी भी हादसे का शिकार हो सकते हैं। बारिश के दौरान सड़क व नाले धंसने को लेकर नगर निगम कहीं भी मरम्मत नहीं कर रहा है। ऐसे स्थानों पर केवल प्राथमिक मरम्मत करके छोड़ा जा रहा है, जिससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।
सोहना रोड हाइवे की सर्विस लेन पर कीचड़ ही कीचड़
गुड़गांव. सोहना रोड स्थित सर्विस लेन पर हुई कीचड़ से निकलते वाहन।
ये सोहना रोड हाइवे की सर्विस लेन है। इस रोड की सर्विस लेन का यह सिर्फ एक जगह का नजारा है, लेकिन इस रोड पर करीब तीन किलोमीटर लंबाई में इस तरह के एक नहीं बल्कि 50 से अधिक गड्ढे हैं। इस रोड से रोजाना एक लाख से अधिक गाड़ियां गुजरती हैं। मेन रोड पर निर्माण कार्य चल रहा है, जिससे आधे वाहन इस गड्ढे से होकर ही गुजरते हैं। इस गड्ढे में रोजाना कोई न कोई टू-व्हीलर चालक भी गिरकर चोटिल हो जाता है।
पीडब्ल्यूडी अधिकारी बोले, अब कंसेसनर की है जिम्मेवारी
पीडब्ल्यूडी के एक्सईएन संदीप सिंह ने बताया कि सोहना रोड की सर्विस लेन का काम पहले उनके पास था, लेकिन अब तो सोहना रोड पर निर्माण कार्य चल रहा है, अब कंसेसनर की जिम्मेवारी है, वे ही सर्विस लेन की मरम्मत करेंगे।
गुड़गांव-सोहना रोड पर काम शुरू हो गया है
गुड़गांव-सोहना रोड पर काम शुरू हो गया है। लेकिन अभी तक पीडब्ल्यूडी की जिम्मेवारी थी, लेकिन समय पर मरम्मत नहीं की गई है। -अशोक शर्मा, प्रोजेक्ट डायरेक्टर, एनएचएआई, गुड़गांव
इनके बयान बताते हैं हालात
हरपथ एप पर कोई शिकायत नहीं :जितेंद्र मित्तल
जीएमडीए के इंफ्रास्ट्रक्चर से संबंधित चीफ इंजीनियर ललित अरोड़ा का कहना है कि क्षतिग्रस्त सड़कों की शिकायत के लिए फिलहाल केवल हर पथ एप पर सुविधा है। जीएमडीए द्वारा मोबाइल एप लांच करने की तैयारी हो चल रही है। इन दिनों हर पथ एप पर शिकायतें मिल रही है, मगर इस संबंध में विस्तृत जानकारी चीफ इंजीनियर जितेंद्र मित्तल ही दे सकते हैं। दूसरी तरफ, जितेंद्र मित्तल का कहना है कि हर पथ एप पर कोई शिकायत नहीं मिल रही है। साथ ही बोलते हैं कि उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं है। इसकी जानकारी एक्सईएन ही दे सकते हैं।
एप पर शिकायतें मिल रहीं है, पर कम-एनडी वशिष्ठ
उधर, नगर निगम के चीफ इंजीनियर एनडी वशिष्ठ का कहना है कि हर पथ एप पर शिकायतें मिल रही हैं, मगर काफी कम है। निगम की लगभग सभी सड़कें या तो टाइल्स की हैं या फिर आरएमसी की बनी हुई हैं, जिसके क्षतिग्रस्त होने की शिकायतें काफी कम रहती हैं। शहर की सभी प्रमुख सड़कें जीएमडीए के अंतर्गत है

 
Have something to say? Post your comment
 
 
More Haryana News
हरियाणा पुलिस को आवंटित किए गए कुल 13 करोड़ 66 लाख रुपये में से 4 करोड़ 46 लाख रुपये की राशि का इस्तेमाल महिला सुरक्षा को बढ़ावा देने संबंधी विभिन्न परियोजनाओं को लागू करने के लिए किया गया GURGAON-Land litigation roadblock for RRTS Basmati exporters from Hry reluctant on trade with Iran GURGAON- मेयर निवास के पास जैक से उठाई जा रही 4 मंजिला बिल्डिंग झुकी, निगम अधिकारी जांच में जुटे HARYANA- जो डाटा हरसेक के पास, वही जुटाने को प्राइवेट एजेंसियों पर करोड़ों रुपए खर्च कर रहे सरकारी महकमे, पिज्जा खाया तो 4 घंटे पैदल चलें, चॉकलेट खाने पर 22 मिनट दौड़ें; मोटापा पीड़ित ब्रिटेन में फूड पैकेट्स पर चेतावनी का प्रस्ताव गडकरी का अंदाजा: हाईवे का 92% काम पूरा, जबकि...10 फ्लाईओवर, 29 छोटे पुल में से एक शुरू, वह भी अधूरा, कई अवैध कट व अंधे मोड़, न प्रयाप्त रिफ्लेक्टर-संकेतक टोल के आसपास रहने वालों का फास्टैग साॅफ्टवेयर से लिंक होगा इन लोगों को महीने में एक बार ही देना होगा शुल्क पंचकूला में सैलून से मंथली लेने के बाद लड़की से की थी छेड़छाड़ PANCHKULA-सैंपल फेल, पीने लायक पानी न होने पर 7 ट्यूबवेल किए बंद