Sunday, September 22, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
3rd T20: टीम इंडिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला कियानौकरी के नाम पर युवाओं को ठोकरें खिला रही है खट्टर सरकार - सुरजेवालापरीक्षा केन्द्र पर जल्दी पहुंचने की कोशिश में हिसार जिले के दो युवाओं को जान गंवानी पड़ी :हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डाबेगूसराय में एसडीओ पर बरसे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, वीडियो वायरलआंध्र प्रदेश-ओडिशा बॉर्डर पर मुठभेड़ में दो माओवादी ढेरदिल्लीः हरियाणा चुनाव को लेकर पार्टी मुख्यालय में बैठक जारी, CM मनोहर लाल खट्टर मौजूदआप ने घोषित की 22 उम्मीदवारों की पहली सूची, हुड्डा की सीट गढ़ी सांपला किलोई में मुनीपाल अत्री देंगे टक्करदिल्ली: कर्नाटक के सीएम ने अमित शाह से उनके घर जाकर की मुलाकात
 
Haryana

दिल्ली से अम्बाला राष्ट्रीय राजमार्ग, 20 स्थानों पर लगेंगे उच्च क्षमता के कैमरे

August 16, 2019 09:07 PM

हरियाणा पुलिस अकादमी के सरदार पटेल हॉल में आज दिल्ली-अम्बाला राष्ट्रीय राजमार्ग को सुरक्षित बनाने और सीसीटीवी कैमरों से निगरानी के लिए बैठक का आयोजन हुआ, जिसकी अध्यक्षता एडीजीपी एवं हरियाणा पुलिस अकादमी के निदेशक आलोक कुमार रॉय ने की। बैठक में एडीजीपी कानून-व्यवस्था नवदीप सिंह विर्क भी विशेष रूप से उपस्थित रहे।
एडीजीपी आलोक रॉय ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि सडक़ दुर्घटनाएं जहां राष्ट्र के नवनिर्माण में बाधा हैं वहीं अनेक लोग इसके कारण अपने प्रियजनों को भी गवां देते हैं। निरंतर बढ़ती सडक़ दुर्घटनाएं और उनसे होने वाली जीवन और सम्पत्ति की हानि हमें इस विषय पर गंभीरता से विचार और कार्य करने के लिए जिम्मेदार बनाती है। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि हरियाणा के पुलिस महानिदेशक मनोज यादव की पहल से इस बैठक का आयोजन किया गया है, जिसमें विशेष तौर पर दिल्ली-अम्बाला राष्ट्रीय राजमार्ग पर होने वाली दुर्घटनाओं में भारी कमी लाने के लिए संभावित उपायों पर पुलिस, ट्रैफिक ट्रेनिंग संस्थान और राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के प्रतिनिधियों ने विचार विमर्श किया।
बैठक में राष्ट्रीय राजमार्ग पर गति प्रवर्तन प्रणाली (स्पीड एनफार्मसमेंट सिस्टम) पर भी प्रस्तुति हुई। इस प्रणाली में दिल्ली से अम्बाला तक 20 स्थानों पर कैमरे लगाए जाएंगे जिनकी मद्द से सडक़ नियमों की पालना न करने वालों कड़ी नजर रखी जाएगी। एडीजीपी कानून एवं व्यवस्था नवदीप सिंह विर्क ने अन्य प्रतिभागियों के साथ विमर्श करते हुए इस प्रणाली को और उपयोगी व व्यवहारिक बनाने के लिए अपने-अपने विचार रखें। इन कैमरों के मदद से सडक़ नियमों को लागू करने और अपराधियों पर नकेल कसने में सहायता मिलेगी। उन्होंने कहा कि डीजीपी हरियाणा के निर्देश पर आयोजित इस बैठक में सडक़ सुरक्षा से जुड़े विभिन्न हितधारकों के मध्य अच्छा विमर्श हुआ है।
यातायात एवं राजमार्ग हरियाणा की महानिरीक्षक डॉ. राजश्री सिंह ने इस अवसर पर कहा कि हर चार मिनट में सडक़ पर एक व्यक्ति की मौत होती है यह केवल व्यक्ति विशेष की मौत नहीं बल्कि उससे जुड़े परिवारों के लिए भी मृत्यु समान स्थिति होती है। सडक़ सुरक्षा एक सामाजिक जिम्मेदारी है जिसे सभी हितधारकों को मिलकर पूरा करना है। यह जिम्मेदारी कानून लागू करने, बेहतर सडक़ बनाने से लेकर समाज के बीच सडक़ सुरक्षा के अनुशासन से पूरी होगी। उन्होंने बैठक की अध्यक्षता के लिए एडीजीपी आलोक कुमार रॉय व विशेष उपस्थिति पर एडीजीपी नवदीप सिंह विर्क, सडक़ नियमों की जानकारी के लिए डॉ. रोहित बलुजा तथा अन्य उपस्थित अधिकारियों का सडक़ सुरक्षा के महत्वपूर्ण मद्दे पर सरोकार के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से अपील की कि वे अपने क्षेत्र में सडक़ सुरक्षा को लेकर समाज में जागरूकता अभियान चलाकर समाज को सुरक्षित रखने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें।
करनाल के पुलिस महानिरीक्षक योगिन्द्र नेहरा ने बैठक में भाग लेते हुए कहा कि राजमार्ग पर बहुत से ओवरब्रिज निर्माणाधीन हैं, लेन के विस्तार का कार्य भी किया जा रहा है। इसे देखते हुए इन स्थानों पर सुरक्षा अवरोधक, सूचना संकेत लगे होने चाहिए ये दुर्घटना से बचाव में चालकों के मार्गदर्शक बनते हैं।
सडक़ एवं यातायात शिक्षा संस्थान फरीदाबाद के अध्यक्ष डा0 रोहित बलुजा ने बैठक में अपने विचार रखते हुए कहा कि टेक्नोलॉजी के साथ-साथ जागरूकता और समाज की सहायता से सडक़ दुर्घटनाओं में कमी लाई जा सकती है। सडक़ दुर्घटना का कारण हमेशा वाहन चालक नहीं है इसके लिए सडक़ इंजिनीयरिंग और सडक़ के किनारे कियो जाने वालो अतिक्रमण भी जिम्मेदार है। इस वर्ष दिल्ली-अम्बाला राष्ट्रीय राजमार्ग पर 389 लोगों को वाहन दुर्घटना में अपनी जान गवानी पड़ी। हमें मिलकर प्रयोग के तौर पर दिल्ली-अम्बाला के 189 किलोमीटर को सुरक्षित बनाना है। उन्होंने प्रस्ताव किया कि सडक़ एवं यातायात शिक्षा संस्थान, पुलिस, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण और सडक़ निर्माण में लगी संस्थाओं और अन्य शिक्षण संस्थाओं के सदस्यों को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप प्रशिक्षित करने के लिए तत्पर है।
बैठक में पुलिस मुख्यालय पर उप-पुलिस महानिरीक्षक प्रशासन राकेश आर्य, अम्बाला के पुलिस अधीक्षक अभिषेक जोरवाल, कुरूक्षेत्र की पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी, यातायात एवं राजमार्ग हरियाणा के पुलिस अधीक्षक ओमवीर सिंह, करनाल के पुलिस अधीक्षक सुरिन्द्र सिंह भौरिया, पानीपत के पुलिस अधीक्षक सुमीत कुमार, सोनीपत की पुलिस अधीक्षक प्रतीक्षा गोदारा, यातायात एवं राजमार्ग हरियाणा के पुलिस अधीक्षक ओमवीर सिंह, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण में परियोजना निदेशक आशीष जैन भी उपस्थित रहे।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
नौकरी के नाम पर युवाओं को ठोकरें खिला रही है खट्टर सरकार - सुरजेवाला परीक्षा केन्द्र पर जल्दी पहुंचने की कोशिश में हिसार जिले के दो युवाओं को जान गंवानी पड़ी :हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा
आप ने घोषित की 22 उम्मीदवारों की पहली सूची, हुड्डा की सीट गढ़ी सांपला किलोई में मुनीपाल अत्री देंगे टक्कर
Vikas’ pitch works but that is not NCR districts’ only concern Hooda’s main challenge is to save his bastion from BJP BJP Counts On Turncoats Opposition in Haryana deeply bruised, but a confident BJP eyes an easy win क्लर्क भर्ती का पेपर देने पहुंचे 12 हजार, शहर सेे निकलने में लगे 2 घंटे, फिर टोल पर फंसे बिना प्लान-शहर जाम : आज और कल दो शिफ्टों में होंगी परीक्षाएं, व्यवस्था बनाना फिर चुनौती HARYANA - PVT SCHOOLS-इंश्योरेंस नहीं ताे मान्यता हो सकती है रद्द फेस ऑफ द डे मनोहरलाल खट्‌टर 5 साल सरकार के पूरे, सीएम के चारों और घूमेगा चुनाव