Sunday, August 25, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
 
Haryana

HARYANA -पुलिस सोती रही और चाेर एटीएम उखाड़कर ले गए, कंट्रोल रूम में बजती रही घंटियां, लोग नहीं पहुंचते तो कैश ले भागते बदमाश

July 18, 2019 06:19 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR JULY 18


पुलिस सोती रही और चाेर एटीएम उखाड़कर ले गए, कंट्रोल रूम में बजती रही घंटियां, लोग नहीं पहुंचते तो कैश ले भागते बदमाश
पानीपत | गुरुवार 18 जुलाई, 2019
वारदात : आरोपियों के निशाने पर एटीएम, बैंक अधिकारी सुरक्षा गार्ड के साथ सीसीटीवी लगवाने को नहीं तैयार
चौकीदार और लाेग सजग नहीं रहते तो बैंक का 2.93 लाख रुपए चोरी हो जाता

शहर के सेक्टर-6 के सामने फूसगढ़ रोड पर बुधवार सुबह साढ़े तीन बजे चाेर इंडीकैश कंपनी का एटीएम उखाड़कर ले गए। इस एटीएम में आईसीआईसीआई बैंक का कैश था। अाराेपी एटीएम काे एक रिक्शे में कपड़े से ढककर ले जा रहे थे। घटना स्थल से कुछ दूर कर्ण विहार इलाके में जब अाराेपी एटीएम काे लेकर जा रहे थे ताे वहां पर पहरा दे रहे एक चौकीदार ने उन्हें रोक लिया। जब उसने अाराेपी से इस संबंधी पूछा ताे उन्होंने चौकीदार काे पीट दिया। इतने में आसपास के कुछ लाेग वहां पहुंचे ताे अाराेपी एटीएम काे वहीं पर छाेड़ साथ लाई बाइक में फरार हाे गए। इसके बाद लाेगाें ने पुलिस के कंट्रोल रूम नंबर 100 पर फोन किया, लेकिन किसी ने रिसीव ही नहीं किया। लाेग पुलिस के भरोसे रहते ताे चोर मशीन को लेकर फरार हो जाते। लोगों का कहना है कि पुलिस सोती रहती है और शहर में वारदात का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। लाेग सजग नहीं रहते तो बैंक का 2.93 लाख रुपए चोरी हो जाता।
पुलिस की जांच में सामने आया है कि इस एटीएम पर सीसीटीवी कैमरे के अलावा सुरक्षा गार्ड भी नहीं था। इससे पहले भी चिड़ाव मोड़ सहकारी बैंक में आरोपियों ने सेंधमारी की थी। तिजोरी से कैश लेकर फरार हो गए थे। इससे पहले सेक्टर-12 के एटीएम से पासवर्ड डालकर करीब 11 लाख रुपए की चोरी कर ली गई थी। इस पर पुलिस का कहना है कि बैंक अधिकारियों को कैमरे और सुरक्षा गार्ड के बारे में जानकारी देते हैं। उनका जवाब मिलता है कि मुख्यालय पर मांग की हुई है। इसलिए वारदातें बढ़ रही हैं। यदि इस एटीएम पर सुरक्षा गार्ड होता तो यह वारदात नहीं होती। आरोपियों ने पहले मशीन को तोड़ने का प्रयास किया। सफल नहीं हुए तो उसको नीचे से ही उखाड़ दिया। इस घटना को अंजाम देने में आरोपियों के दो से ढाई घंटे लगे होंगे। पुलिस की गश्त पर भी सवाल उठ रहे हैं। सदर थाना प्रभारी बलजीत सिंह का कहना है कि केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।
इंडीकैश के एटीएम में आईसीआईसीआई बैंक ने डाल रखा था 2 लाख 93 हजार का कैश
क्राइम सीन: 3 बदमाशों ने पहले एटीएम को उखाड़ा, फिर रिक्शा रेहड़ी में ढककर ले गए
करनाल. सेक्टर-6 के सामने फूसगढ़ रोड से उखाड़ी गई एटीएम को अपने कब्जे लेकर जाती पुलिस।
भास्कर न्यूज | करनाल
शहर के सेक्टर-6 के सामने फूसगढ़ रोड पर बुधवार सुबह साढ़े तीन बजे चाेर इंडीकैश कंपनी का एटीएम उखाड़कर ले गए। इस एटीएम में आईसीआईसीआई बैंक का कैश था। अाराेपी एटीएम काे एक रिक्शे में कपड़े से ढककर ले जा रहे थे। घटना स्थल से कुछ दूर कर्ण विहार इलाके में जब अाराेपी एटीएम काे लेकर जा रहे थे ताे वहां पर पहरा दे रहे एक चौकीदार ने उन्हें रोक लिया। जब उसने अाराेपी से इस संबंधी पूछा ताे उन्होंने चौकीदार काे पीट दिया। इतने में आसपास के कुछ लाेग वहां पहुंचे ताे अाराेपी एटीएम काे वहीं पर छाेड़ साथ लाई बाइक में फरार हाे गए। इसके बाद लाेगाें ने पुलिस के कंट्रोल रूम नंबर 100 पर फोन किया, लेकिन किसी ने रिसीव ही नहीं किया। लाेग पुलिस के भरोसे रहते ताे चोर मशीन को लेकर फरार हो जाते। लोगों का कहना है कि पुलिस सोती रहती है और शहर में वारदात का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। लाेग सजग नहीं रहते तो बैंक का 2.93 लाख रुपए चोरी हो जाता।
पुलिस की जांच में सामने आया है कि इस एटीएम पर सीसीटीवी कैमरे के अलावा सुरक्षा गार्ड भी नहीं था। इससे पहले भी चिड़ाव मोड़ सहकारी बैंक में आरोपियों ने सेंधमारी की थी। तिजोरी से कैश लेकर फरार हो गए थे। इससे पहले सेक्टर-12 के एटीएम से पासवर्ड डालकर करीब 11 लाख रुपए की चोरी कर ली गई थी। इस पर पुलिस का कहना है कि बैंक अधिकारियों को कैमरे और सुरक्षा गार्ड के बारे में जानकारी देते हैं। उनका जवाब मिलता है कि मुख्यालय पर मांग की हुई है। इसलिए वारदातें बढ़ रही हैं। यदि इस एटीएम पर सुरक्षा गार्ड होता तो यह वारदात नहीं होती। आरोपियों ने पहले मशीन को तोड़ने का प्रयास किया। सफल नहीं हुए तो उसको नीचे से ही उखाड़ दिया। इस घटना को अंजाम देने में आरोपियों के दो से ढाई घंटे लगे होंगे। पुलिस की गश्त पर भी सवाल उठ रहे हैं। सदर थाना प्रभारी बलजीत सिंह का कहना है कि केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।
चौकीदार को पीटने पर लोग आए तो मशीन वहीं छोड़ बाइक पर भाग गए
पुलिस कंट्रोल रूम में कोई नहीं उठाता फोन लोगों ने बताया कि जैसे ही उन्होंने रेहड़ी रुकवाई तो आरोपी भाग गए। पुलिस के कंट्रोल नंबर 100 पर फोन करते रहे, लेकिन किसी ने रिसीव नहीं किया। पुलिस अधिकारियों ने भी फोन नहीं उठाया। सेक्टर-32-33 चौकी में सूचना देने पर सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। इस तरह की घटनाओं में पुलिस का तुरंत सहयोग नहीं मिलने के कारण वारदातें बढ़ रही हैं।
चश्मदीद संग्राम ने बताया- दो आरोपी रेहड़ी चला रहे थे, तीसरा बाइक पर था
करनाल. घटना की जानकारी देता चश्मदीद संग्राम सिंह।
पैसे निकालकर मशीन को नहर में डालने की थी प्लानिंग
पुलिस को शक है कि जिस जगह से मशीन बरामद की है। उससे एक किलोमीटर दूर शॉर्टकट रास्ता आवर्धन नहर पर जाता है। इसलिए आरोपियों की प्लानिंग शायद ये थी कि नहर पर जाकर इसमें कैश निकालकर मशीन को नहर में फेंक देंगे। यदि वह एटीएम बूथ पर मशीन को तोड़ते तो आवाज दूर तक जाती। इस लिए उन्होंने यह प्लानिंग की। वह एरिया सुनसान था, लेकिन लोगों की मदद से शहर में एक बड़ी वारदात होने से बच गई।
नाइट में सिक्योरिटी गार्ड जरूर होना चाहिए
कंपनियां लापरवाही बरत रही हैं। इसलिए कुछ ब्रांचों को छोड़कर कहीं पर भी सिक्योरिटी गार्ड नहीं है। बैंकों को अलर्ट कर चुके हैं कि दिन के बजाए नाइट में सिक्योरिटी गार्ड का होना जरूरी है। सीसीटीवी कैमरे लगवाने चाहिए, ताकि वारदात कम हो। -सुरेंद्र सिंघाल, लीड बैंक मैनेजर, करनाल।
चश्मदीद संग्राम सिंह ने बताया कि साढ़े तीन बजे आरोपी चौकीदार को पीट रहे थे। मैं मौके पर गया तो वह बाइक से फरार हो गए। मैं उनके पीछे भागा, लेकिन वह पकड़े नहीं गए। तीन आरोपी थे। एक ने रिक्शे का हैंडल पकड़ रखा था। दूसरा पीछे से धक्का लगा रहा था और तीसरा बाइक पे चला रहा था। जिस रेहड़ी में एटीएम लेकर ले जा रहे थे वह चोरी का था।
पुलिस की कस्टडी में कैश, फोन कॉल की जांच शुरू
सदर थाना पुलिस ने एटीएम को अपने कस्टडी में ले लिया है। टावर के हिसाब से मोबाइल कॉल को डंप किया जा रहा है। वारदात के टाइम की कॉल को पुलिस चेक कर रही है। अब इंडिकैश कंपनी काे इस कैश को कोर्ट से छुड़वाना होगा। पुलिस कंपनी के स्टाफ सहित अन्य पहलुओं पर जांच कर रही है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही केस को सुलझा लिया जाएगा। जिस चौकीदार को पीटा गया है उसके बयानों के आधार पर भी कार्रवाई की जाएगी।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
जन्माष्टमी मे विशेष अतिथि बने राजीव ड़िंपल
हरियाणा, महाराष्ट्र, झारखंड में 39 बड़े नेता बदल चुके हैं दल इन तीन राज्यों में चुनाव करीब, लेकिन वहां चल क्या रहा है? Former CM Hooda reiterates his newfound rebel image हरियाणा में अरूण जेटली के आकस्मिक निधन पर दो दिन का राजकीय शोक घोषित किया राज्य के सभी फार्मासिस्ट 26 को सामूहिक अवकाश पर , दवाइयों के लिए होगी मारामारी Badal’s advice to feuding Chautalas ahead of polls may be too late पुलिस ने विपासना को मोस्टवांटेड सूची से बाहर किया, आदित्य 2 साल से फरार पंचकूला हिंसा : सीबीआई कोर्ट में गुरमीत को पेश करने के दौरान हुआ था बवाल पहली बार हुई लिखित परीक्षा ताे मास्टर बन गए एचसीएस, 18 में से 16 पदों पर ग्रुप सी के शिक्षकाें ने जमाया कब्जा घग्गर नदी में पानी के तेज बहाव से हर्बल पार्क से लेकर खाली एरिया की जमीन नदी में बही पंचकूला एक्सटेंशन सेक्टरों के लोगों ने पिछले साल सेफ्टी वॉल टूटने की दी थी कंप्लेंट, नहीं हुई कार्रवाई एचएसवीपी ड्राफ्ट की एन्हांसमेंट पॉलिसी पर तीन जजों की रिपोर्ट होगी लागू...