Tuesday, October 15, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
बीजेपी आज पश्चिम बंगाल में 10 दिवसीय गांधी संकल्प यात्रा निकालेगीरिजर्व बैंक ने आज सरकारी बैंकों के प्रमुखों की बैठक बुलाई, आर्थिक मसलों पर होगी चर्चा हरियाणा में आज पीएम मोदी की दो रैलियां, कुरुक्षेत्र और चरखी दादरी में भरेंगे हुंकारदिल्ली में प्रदूषण को देखते हुए आज से ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान लागू, डीजल जनरेटरों पर रोक गाजियाबाद में पटाखों के गोदामों में छापेमारी, करीब 50 लाख के अवैध पटाखे किए जब्तदिल्ली: बढ़ते प्रदूषण के स्तर को रोकने के लिए डीजल जनरेटर पर बैनइंदौर: असिस्टेंट एक्साइज कमिश्नर के घर पर लोकायुक्त का छापाउत्तराखंड: टिहरी गढ़वाल में सड़क हादसा, 5 लोगों की मौत, SDRF मौके पर
 
Haryana

PANCHKULA-प्रशासन की लापरवाही : जहां पेट्रोल पंप खोलने से हो सकता है हादसा, वहीं पर जारी की एनओसी

June 24, 2019 05:54 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR JUNE 24

टीबीआरएल एक्सप्लोसिव एरिया के 1000 गज दायरे में 3 पेट्रोल पंप की साइट्स मंजूर
प्रशासन की लापरवाही : जहां पेट्रोल पंप खोलने से हो सकता है हादसा, वहीं पर जारी की एनओसी
सरकार ने प्रशासन से मांगा जवाब तो डीसी ने दो एसडीएम से मांगी रिपोर्ट

प्रशासन ने 2018 में अलग-अलग जगह पेट्रोल पंप लगाने की परमिशन दी थी। तीनों पेट्रोल पंप टीबीआरएल रामगढ़ के 1000 गज की रेंज में हैं। ऐसे में टीबीआरएल में होने वाले एक्सप्लोसिव परीक्षण के दौरान बड़ा हादसा हो सकता है, लेकिन प्रशासन ने इस बात को दरकिनार किया है। प्रशासन की इस लापरवाही के खिलाफ रामगढ़ व बिल्ला गांव के लोगों ने 20 मई 2019 को प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री, हरियाणा के मुख्यमंत्री, चीफ सेक्रेटरी, डीजीपी विजिलेंस व डीसी को लेटर लिखकर शिकायत दी है। लेटर में लिखा है कि वर्क ऑफ डिफेंस एक्ट 1903, भारत सरकार की ओर से 1994 में जारी नोटिफिकेशन और मोर्थ गाइडलाइंस की परवाह किए बगैर प्रशासन ने पेट्रोल पंप के लिए एनओसी जारी की है। लोगों ने प्रशासन व तेल कंपनी पर मिलीभगत का भी आरोप लगाया है। साथ ही शिकायतकर्ताओं ने यह भी कहा है कि अगर पंचकूला प्रशासन या सरकार तीनों पेट्रोल पंप की एनओसी कैंसिल नहीं करता है तो सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे।
बिल्लाह गांव के पास हाईवे के किनारे 2 और रामगढ़ के सामने सेक्टर-26 में खुलवा रहे हैं पेट्रोल पंप
बिल्लाह गांव में यहां लगना है पेट्रोल पंप।
: केंद्र सरकार की नोटिफिकेशन...केंद्र सरकार ने 3 मई 1994 को नोटिफिकेशन जारी की थी कि टीबीआरएल की बाउंड्री के 1000 गज के दायरे में किसी भी तरह का निर्माण अवैध माना जाएगा। वर्क ऑफ डिफेंस एक्ट 1903 की धारा 36 के अनुसार इसमें सजा का प्रावधान भी है। साथ ही वर्क ऑफ डिफेंस एक्ट 1903 की धारा 37 के अनुसार जिले का कलेक्टर इस धारा को लागू करवाने के लिए बाध्य होता है।
सवाल-आखिर प्रशासन ने एनओसी कैसे जारी कर दी
आए दिन टीबीआरएल रामगढ़ में मिसाइल या फिर एक्सप्लोसिव बम का परीक्षण किया जाता है। परीक्षण के दौरान आग के गोले टीबीआरएल के आसपास खाली खेतों में भी गिरते हैं। ऐसे में कई बार जहां बम के गोले गिरे हैं वहां आग भी लग चुकी है। परीक्षण के दौरान आसपास के गांव के घरों की खिड़कियां भी कई बार टूट चुकी है। इसकी वजह से टीबीआरएल की बाउंड्री के 1000 गज या 914 मीटर दायरे में किसी भी तरह के निर्माण पर प्रतिबंध लगाया गया है।
डीसी डॉ. बलकार सिंह ने बताया कि पेट्रोल पंप की परमिशन के मामले की जांच चल रही है। दोनों एसडीएम से रिपोर्ट मांगी है कि टीबीआरएल के एरिया के आसपास कितनी दूरी पर पेट्रोल पंप की साइट है।
प्रधानमंत्री को दी शिकायत में तीन पेट्रोल पंप की साइट का जिक्र किया गया है जो कि एचपीसी, बीपी और आईओसी के पेट्रोल पंप हैं। शिकायत में एनएच-73 बिल्ला गांव में हाईवे से लगती हुई दो साइट्स की पेट्रोल पंप के लिए एनओसी दी है। इसके अलावा एनएच-73 रामगढ़ के पास सेक्टर-26 के सामने पेट्रोल पंप खोलने का भी जिक्र किया गया है।
पिछले हफ्ते आया लेटर
...तो डीसी भी आए हरकत में, दो एसडीएम की लगाई जिम्मेदारी
सरकार की ओर से पंचकूला प्रशासन को पिछले हफ्ते लेटर जारी कर इस मामले में जवाब मांगा है। इसके बाद डीसी ने पंचकूला व कालका सबडिवीजन के एसडीएम को उनके एरिया में टीबीआरएल के 1000 गज एरिया में आने वाली पेट्रोल पंप की साइट्स की डिटेल मांगी है।
प्रधानमंत्री को दी गई शिकायत में शिकायतकर्ता ने भारत सरकार की मोर्थ गाइडलाइंस का उल्लंघन कर पेट्रोल पंप की साइट की एनओसी दिए जाने की बात कही है। गाइडलाइंस के अनुसार किसी भी ग्रामीण क्षेत्र के किसी जंक्शन या चौक के 1000 मीटर के दायरे में पेट्रोल पंप नहीं लगाया जा सकता है। ऐसे में तीनों पेट्रोल पंप की साइट 1000 मीटर के दायरे में है जिसे शिकायतकर्ताओं ने गलत बताया है।

Have something to say? Post your comment