Wednesday, June 26, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
हरियाणा पुलिस की भर्ती केआवेदन की डेट बढाकर 11जुलाई की गई दादूपुर-नलवी पर हरियाणा मंत्रिमंडल का फैसला किसानों से विश्वासघात करने वाला तुगलकी फरमान: सुरजेवालाहरिद्वार: स्वामी सत्यमित्रानंद की भू-समाधि में शामिल होंगे योगी आदित्यनाथअमित शाह कल जाएंगे अमरनाथ, पवित्र गुफा में करेंगे बाबा बर्फानी की पूजा दिल्ली: अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पियो आज पीएम मोदी और एस. जयशंकर से करेंगे मुलाकातराज्यसभा में आज राष्ट्रपति के अभिभाषण पर जवाब देंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्ल्ड कप: पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के बीच मुकाबला आज J-K: त्राल में सुरक्षा बलों ने आतंकियों को घेरा, मुठभेड़ जारी
Haryana

इंजीनियरिंग स्कॉलरशिप टैस्ट में प्रथम आने पर श्रेया गर्ग को मिला लैपटाप

May 26, 2019 04:43 PM

श्री राम मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा संचालित स्कालरशिप टेस्ट द्वारा पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन अम्बाला कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग के सभागार में किया गया जिसमे सभी विजेता छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया गया। प्रथम स्थान श्रेया गर्ग ने हासिल किया जिसे पुरस्कार के तौर पर लैपटॉप व प्रशस्तिपत्र देकर सम्मानित किया व साथ ही द्वितीय पुरस्कार आदित्य यादव को 10 इंच के टैब तथा तृतीय पुरस्कार मृदुल सेठी को 7 इंच टैब व प्रशस्तिपत्र देकर सम्मानित किया गया। इसके साथ ही 59 छात्र- छात्राओं को प्रशस्तिपत्र देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर संस्थान के निदेशक डा. आशावंत गुप्ता ने उपस्थित छात्र-छात्राओं और अविभावकों को संबोधित करते हुए कहा कि इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं। साथ ही वैश्विक चुनौतियों का भी जिक्र किया कि किस तरह चीन और अमेरिकी नीतियों के वजह से भारत के मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र को काफी नुकसान हुआ जिसका सीधा असर नौकरियों पर पड़ा है और इंजीनियरिंग एडमिशन भी इससी कारण से कम हो गए। इस अवसर को सुनहरा अवसर बताते हुए कहा कि हमें मैन्युफैक्चरिंग सैक्टर को बढ़ाना है व इसी से ही इंजीनियरों की मांग काफी बढ़ेगी। 

कॉलेज के बारे में बताते हुए कहा कि यहां शिक्षा में गुणवत्ता के साथ बेहतर प्रयोगशालाएं, उच्च कोटि के शिक्षित प्रोफ़ेसर व रहने के लिए आवासीय परिसर की व्यवस्था की गई है। भारत सरकार के सहयोग से इंटरप्रेन्योरशिप प्रमोशनल इन्क्यूबेशन कौंसिल (एपिक) की स्थापना की गई जिसका सीधा उदेश्य छात्रों में हैंड्स ऑन प्रैक्टिकल के माध्यम से कौशल व उद्यमिता का विकास करते हुए मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देना है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि संस्थान अपनी मूल सिद्धांतो में कोई बदलाव नहीं करेगी। उन्होंने सरकारी विद्यालयों के शिक्षकों का उदाहरण देते हुए कहा की कोई भी शिक्षक अपने बच्चे को सरकारी स्कूल में दाखिला नहीं करवाता किन्तु मेरी बेटी यहाँ से शिक्षा प्राप्त कर रही है जिसका मुझे गर्व है।
इस अवसर पर कॉलेज के चेयरमैन डा. जयदेव ने सभी छात्र –छात्राओं को उज्जवल भविष्य की शुभकानाएँ दी। इस अवसर पर कॉलेज के सचिव नलिनीकांत गुप्ता, अर्जुनदेव गाँधी, रामाकांत, अश्वनी गोयल, प्रिंसिपल डा. अमित वासन, पी.के. सोनी, रजिस्ट्रार ग्रुप कैप्टन सी.एस.शर्मा.(रि.), लायसन आफिसर इंजीनियर राकेश कुमार मक्कड़ सहित सभी विभागाध्यक्ष मौजूद रहे।

Have something to say? Post your comment