Saturday, December 07, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
हैदराबाद एनकाउंटरः NHRC टीम ने किया चारों आरोपियों के शव का निरीक्षण उन्नाव रेप केसः यूपी सरकार पीड़िता के परिवार को देगी 25 लाख की मददउन्नाव रेप केसः पीड़िता के परिवार को 25 लाख के अलावा घर भी देगीझारखंडः दूसरे चरण का मतदान संपन्न, 60.56 फीसदी वोटिंगकिसान कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुरेंद्र सोलंकी और किसान कांग्रेस के हरियाणा अध्यक्ष धर्मवीर कोलेखा की संयुक्त प्रेस कांफ्रेंसपंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने जिला एवं सत्र जजों के किए तबादलेझारखंड में वोटिंगः पीएम मोदी की अपील- अधिक से अधिक करें मतदानउन्नाव रेप पीड़िता की मौत पर बोलीं स्वाति मालीवाल-दोषियों को मिले फांसी
Niyalya se

हरियाणा के यमुना पर बनाए अवैध बांध तोड़ने का आदेश

May 25, 2019 06:16 AM

COURTESY NBT MAY 25

हरियाणा के यमुना पर बनाए अवैध बांध तोड़ने का आदेश
तीन सदस्यीय कमिटी की रिपोर्ट के आधार पर हाई कोर्ट का मौखिक आदेश• प्रस, हाई कोर्ट : दिल्ली हाई कोर्ट ने हरियाणा में यमुना पर बने अवैध बचे बांध को गिराने का आदेश दिया है। अपनी तीन सदस्यीय कमिटी की रिपोर्ट के आधार पर हाई कोर्ट ने शुक्रवार को यह मौखिक आदेश पारित किया। साथ ही पड़ोसी राज्य को निर्देश दिया कि कि वह नदी के बहाव को बरकरार रखे।

चीफ जस्टिस राजेंद्र मेनन की अगुवाई वाली बेंच ने यह आदेश पारित किया। ताजेवाला बैराज से डाउनस्ट्रीम में 17 किलोमीटर की दूरी पर ये बांध बनाए गए थे। दिल्ली जल बोर्ड ने अपने अधिकारियों द्वारा नियमित जांच में इन बांधों को देखने का दावा किया था। इसके बाद दिल्ली सरकार मामले को लेकर हाई कोर्ट पहुंची। कोर्ट ने अपने मौखिक आदेश में कहा है कि जरूरत महसूस होने पर मामले को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट को भी रेफर किया जा सकता है। साथ ही यहां नदी में पानी के बहाव की जांच की जरूरत पड़ने पर फ्लो मीटर लगाने की छूट दिल्ली जल बोर्ड को दी गई है।

पिछली सुनवाई पर कोर्ट ने यमुना में पानी की सप्लाई को लेकर हरियाणा को फटकार लगाई थी। साथ ही अवैध बांध के निर्माण की जांच के लिए एक कमिटी बना दी। कोर्ट ने दिल्ली सरकार की अर्जी पर सुनवाई करते हुए यह निर्देश दिया था। आप सरकार का कहना था कि 18 अप्रैल को यमुना नदी बोर्ड की बैठक में हरियाणा ने उससे कहा कि वह पानी के मुद्दे पर दर्ज सभी मामले कोर्ट से वापस ले, तभी वह दिल्ली को पानी देने पर विचार करेगा।

 
Have something to say? Post your comment