Sunday, August 18, 2019
Follow us on
 
Haryana

भाजपा कैप्टन-धनखड़ के हलकों में हारी तो कांग्रेसी दिग्गज भी अपने क्षेत्रों में नहीं दिला पाए अपने उम्मीदवारों को लीड

May 24, 2019 07:11 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR MAY 24

भास्कर न्यूज | पानीपत
भाजपा ने प्रदेश की सभी 10 लोकसभा सीटों पर क्लीन स्वीप कर इतिहास रचा है। पार्टी ने एक तीर से दो निशाने साधने का काम किया है। 10 में से 6 लोकसभा सीटों में भाजपा ने वहां के सभी 9-9 विधानसभा क्षेत्रों में लीड लेकर विधानसभा चुनाव के लिए भी संकेत दे दिए हैं। इसके बावजूद भाजपा में मंथन करने योग्य बात यह है कि उसके दो बड़े जाट चेहरों के क्षेत्रों में भाजपा को हार मिली है। हिसार सीट पर वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के विधानसभा क्षेत्र नारनौंद से ब्रिजेंद्र करीब 3 हजार वोट से पिछड़ गए। वहीं रोहतक सीट जहां पर एक-एक वोट काफी महत्वपूर्ण हो रखी थी वहां भी कृषि मंत्री ओपी धनखड़ अपने विधानसभा क्षेत्र बादली से अरविंद शर्मा को लीड नहीं दिला पाए और यहां से अरविंद शर्मा करीब 14 हजार वोटों से पिछड़ गए। हालांकि कांग्रेस और इनेलो में दिग्गज नेताओं का हाल इससे भी बुरा रहा। दोनों ही पार्टियों के दिग्गज नेता अपनी विधानसभा क्षेत्रों में अपने उम्मीदवारों को जीत नहीं दिला पाए। ऐसे में यहां भी पार्टियों की तरफ से मंथन तय है।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
कालका:मंत्री कृष्ण पंवार और मंत्री ओ पी धनखड़ कार्यक्र्म स्थाल पर पहुंचे हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर आज से शुरू करेंगे जन आशीर्वाद यात्रा हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की महापरिवर्तन रैली रोहतक में आज
अबकी बार 75 पार का नारा लेकर भाजपा द्वारा मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर के नेतृत्व में कालका से शुरु की जाने वाली जन आशीर्वाद यात्रा में शामिल होने वाली गाड़ियों का काफिला
पंचकूला के सैक्टर 25 में आवारा पशुओँ और बंदरों की भरमार से लोगों का जीना दूभर
कालका से चुनावी बिगुल फूंकेगी भाजपा, रक्षामंत्री राजनाथ की मौजूदगी में शुरू होगी आशीर्वाद यात्रा SHO ‘connived with journalist’, used articles to pressurize DCP For Hry ministers Shah is ‘Loh Purush’ Dera chief celebrates b’day with family in Rohtak prison GURGJAON-लापरवाही : पीडब्ल्यूडी मंत्री ने 1 माह में सर्विस लेन सही कराने का आश्वासन दिया था, डेढ़ साल बाद भी नहीं सुधरी