Saturday, May 25, 2019
Follow us on
Haryana

कमेटी का फैसला सार्वजनिक करने के लिए सेक्टर वासियों ने सरकार को दिया 3 दिन का अल्टीमेटम

April 25, 2019 06:39 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR APRIL 25

कमेटी का फैसला सार्वजनिक करने के लिए सेक्टर वासियों ने सरकार को दिया 3 दिन का अल्टीमेटम
इनहांसमेंट को लेकर पानीपत में प्रदेशस्तरीय बैठक में आर-पार की लड़ाई का ऐलान
कहा- 1 माह पहले ही कमेटी ने रिपोर्ट विभाग को सौंपी, लेकिन अधिकारी झूठ बोलते रहे कि रिपोर्ट नहीं आई

इनहांसमेंट के खिलाफ डेढ़ साल से लड़ रहे सेक्टर वासियों का धैर्य जवाब देने लगा है। बुधवार को सेक्टर-छह स्थित कम्युनिटी सेंटर में प्रदेशस्तरीय बैठक कर प्रदेश सरकार को अल्टीमेटम दिया। चेतावनी दी कि तीन दिन में तीन जजों की कमेटी द्वारा पेश की गई रिपोर्ट को सार्वजनिक करो। अन्यथा सेक्टरवासी 29 अप्रैल से बीजेपी के लोकसभा प्रत्याशी के विरोध में अाकर विद्रोह का बिगुल फूंक देंगे। जिला स्तर पर नुक्कड़ सभाएं करेंगे। डोर-टू-डोर जाकर पम्फलेट बांटेंगे।
एचएस हुडा सेक्टर्स कनफेडरेशन के प्रदेश संयोजक यशवीर मलिक ने कहा कि प्रदेश सरकार हर बार वादाखिलाफी कर रही है। सेक्टरवासी भी आर-पार की लड़ाई लड़ने को तैयार बैठे हैं। प्रदेश सरकार ने छह महीने पहले तीन जजों की कमेटी इसलिए बनाई थी ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके। यह रिपोर्ट सिर्फ तीन दिन में सौंपी जानी थी। धीरे-धीरे कर रिपोर्ट को लटकाया जाता रहा। कमेटी ने जो जानकारी हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण से मांगी। वह वक्त पर नहीं दी। एक महीने पहले ही कमेटी ने रिपोर्ट विभाग को सौंप दी, लेकिन विभाग के अधिकारी झूठ बोलते रहे कि रिपोर्ट नहीं आई है। उन्होंने सूत्रों से पता किया तो पोल खुल गई।
देश का सबसे बड़ा भ्रष्टाचार है, बड़े चेहरे होंगे बेनकाब
यशवीर मलिक ने दावा करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार इस रिपोर्ट को इसलिए छिपा रही है। क्योंकि उन्हें पता लगा गया है कि एचएसवीपी विभाग का यह सबसे बड़ा घोटाला है। अगर रिपोर्ट सार्वजनिक हो गई तो कई बड़े चेहरे बेनकाब हो जाएंगे। क्योंकि इस घोटाले की जड़े काफी गहरी हैं।
गलत थे इसलिए दे रहे थे स्कीम
सेक्टर-29 पार्ट टू डायर्स एसोसिएशन के प्रधान भीम सिंह राणा ने बताया कि प्रदेश सरकार गलत नहीं थी तो क्यों बार-बार छूट देकर सेक्टर वासियों को इनहांसमेंट जमा कराने का लालच दे रहे थे। इससे ही साफ होता है कि सरकार की नीयत ही ठीक नहीं है। इसलिए बार-बार लॉलीपॉप दिया जा रहा है।
पानीपत | सेक्टर-6 कम्युनिटी सेन्टर में अाॅल हरियाणा सेक्टर हुडा रेजीडेंस वेलफेयर एसाेसिएशन इनहांसमेंट के विरोध में प्रदर्श करते।
18 जिलों के सेक्टरवासी जमा कर चुके 832 करोड़
यशवीर मलिक ने बताया कि 18 जिलों के 66 सेक्टर के वासियों पर 4880 करोड़ रुपए वसूलने के लिए नोटिस भेज दिए थे। अब तक सेक्टर वासी 832 करोड़ रुपए जमा कर चुके हैं। सूत्र बताते हैं कि प्रदेश सरकार जल्द ही फिर से नए नोटिस भेजने की तैयारी कर रही है। इस बार 10 हजार करोड़ रुपए के नोटिस आएंगे।
यह लोग प्रमुख रूप से रहे मौजूद
पानीपत से दीनानाथ गुप्ता, दिनेश बंसल, मेहर दास, सोनीपत से राजेंद्र राठी, रोहतक से रामचंद्र सिवाच, कदम सिंह, पंचकूला से डीएस हीरा, सिरसा से टेकचंद, जींद से सतवीर सिंह, रामनिवास, फतेहाबाद से हरनाम सिंह, भिवानी से चिरंजी लाल, एके त्यागी, हिसार से दिलीप सिंह, इंद्र सिंह मलिक, फरीदाबाद से भीम सिंह, गुड़गांव से दिलबाग सिंह, बहादुरगढ़ से आरके अादि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।
सोनीपत से फूंकेंगे विद्रोह का बिगुल
यशवीर मलिक ने तीन दिन का वक्त देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने तीन दिन के अंदर रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की तो वह 29 अप्रैल से विद्रोह का बिगुल फूंक देंगे। शुरूआत सोनीपत की धरती से होगी। 29 को सोनीपत, 30 को जींद, एक मई को हिसार में नुक्कड़ सभाएं की जाएंगी।
सेक्टर वासी दबाएंगे नोटा का बटन
जिला संयोजक बलजीत सिंह ने बताया कि वोट की चोट देना जरूरी हो गया है। पिछली बार निकाय चुनाव से दो दिन पहले सीएम ने वेबसाइट पर नोटिफिकेशन जारी करने की बात कही थी। वह भी झूठ निकली, लेकिन इस बार कोई वादा नहीं चलेगा। प्रदेश सरकार ने इनहांसमेंट के भेजे गए नोटिस निरस्त नहीं किए तो सेक्टरवासी नोटा का प्रयोग करेंगे

 
Have something to say? Post your comment