Saturday, August 17, 2019
Follow us on
 
Haryana

बजरंग और बेटे पर केस दर्ज होने के बाद हिसार पुलिस ने डीसी को भेजा लेटर, कहा-आर्म्स लाइसेंस कैंसिल करें

April 22, 2019 06:16 AM


COURTESY DAINIK BHASKAR APRIL 22

बजरंग और बेटे पर केस दर्ज होने के बाद हिसार पुलिस ने डीसी को भेजा लेटर, कहा-आर्म्स लाइसेंस कैंसिल करें
लापरवाही पर कार्रवाई : बजरंगदास गर्ग के नौकर ने उनके हथियारों के साथ ली थी फोटो
नौकर विकास और उसके मामा पर हो चुका है केस

कॉन्फैड के पूर्व चेयरमैन और हरियाणा व्यापार मंडल के प्रदेशाध्यक्ष बजरंग दास गर्ग, उनके बेटे अखिल और ड्राइवर विकास पर केस दर्ज होने के बाद अब उनके लिए नई मुसीबत खड़ी हो गई है। पंचकूला पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। वहीं, दूसरी ओर हिसार पुलिस ने डीसी को लेटर लिखकर गर्ग और उनके बेटे के हथियार का लाइसेंस कैंसिल करने के लिए कहा है। इस पर हिसार के डीसी ने इसी सप्ताह में एक्शन लेना है। लिहाजा गर्ग को अपना हथियार और लाइसेंस जमा कराना पड़ेगा।
गौरतलब है कि बजरंग दास गर्ग कॉन्फैड के पूर्व चेयरमैन एवं हरियाणा व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष होने के साथ कांग्रेस के सीनियर नेता हैं। गर्ग को कुमारी सैलजा का करीबी माना जाता है। वहीं, पंचकूला विधानसभा में संभावित उम्मीदवारों में गर्ग का नाम आता रहा है। बजरंग के नौकर विकास और उसके मामा पर हिसार में पहले ही केस दर्ज होे चुका है, जिसके बाद पंचकूला में गर्ग पर केस दर्ज किया गया है।
हिसार ने जांच कर डीएसपी हेडक्वार्टर को सौंपी रिपोर्ट
हिसार पुलिस के सीआईए स्टॉफ की ओर से मामले में जांच की गई और इसके बाद रिपोर्ट डीएसपी हेडक्वार्टर को दी गई है। इसके बाद डीएसपी हेडक्वार्टर की ओर से हिसार के डीसी को इस बारे में लेटर लिखा गया है। जिसमें कहा गया कि बजरंग दास गर्ग और उनके बेटे अखिल का आर्म्स लाइसेंस कैंसिल किया जाए, जिसके बाद अब डीसी की ओर से इस लेटर पर एक्शन लिया जाना बाकी है।
टेक्निकल तौर पर इस बारे में होगी पूछताछ
गर्ग और उनके बेटे पर आरोप है कि जब आर्म्स लाइसेंस उनके नाम है तो उनके हथियार को कोई इस्तेमाल कैसे कर सकता है। जब आर्म्स लाइसेंस जारी किया जाता है तो नियम के अनुसार उस हथियार को सिर्फ अलॉटी ही रख सकता है। उसे किसी दूसरे को नहीं दिया जा सकता है। ऐसे में गर्ग और उनके बेटे के हथियार को उनके नौकर ने उठाया, अपने पास चाहे कुछ देर के लिए रखा। उसके बाद उसकी फोटो को भी क्लिक किया। अब गर्ग और उनके बेटे से इस बारे में पूछताछ होगी। पंचकूला पुलिस को हिसार पुलिस ने पहले ही गर्ग अौर उनके बेटे के बयानों की कॉपी भी भेज दी है।
बजरंग दास गर्ग ने पुलिस पर लगाया फंसाने का आरोप
वहीं दूसरी ओर गर्ग ने बताया कि हिसार पुलिस की ओर से जब इन्वेस्टिगेशन शुरू की गई थी तो उसके बाद उनके बयान लिए गए थे। पंचकूला में आकर इन बयानों को लिया गया था। मैंने उस दौरान भी बताया था और अब भी बता रहा हूं कि इसमें उनकी या उनके बेटे की कोई गलती नहीं है। उनके हथियार घर थे और चोरी से उनके हथियार से फोटो की गई है। ऐसे में उनकी गलती नहीं है। उन्हें परेशान किया जा रहा है, क्योंकि धोखा तो हमारे साथ भी हुआ है। पुलिस हमें गलत फंसा रही है।
इधर, हिसार के डीएसपी हेडक्वार्टर अशोक कुमार ने बताया कि हमने केस दर्ज करने के बाद पंचकूला पुलिस को इस बारे में रिपोर्ट भेज दी थी, जिसके साथ-साथ हमने हिसार के डीसी को गर्ग और उनके बेटे अखिल के आर्म्स लाइसेंस को कैंसिल करने के लिए लेटर भेजा है।
वहीं, हिसार के डीसी अशोक कुमार मीणा ने बताया कि इस बारे में पुलिस की ओर से लेटर भेजा गया हो, लेकिन अभी वो डाक में होगा। वे सोमवार को चैक कराएंगे। इसके बाद आर्म्स एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी।
अंदर की बात : हिसार पुलिस को एक वाॅट्सएप पर मैसेज आया था, जिसके बाद सोर्स रिपोर्ट ली गई थी। इसमें गर्ग और उनके बेटे का जिक्र ही नहीं था। मामला था कि विकास नाम का युवक अवैध हथियारों का काम करता है। वो बार-बार फेसबुक या सोशल मीडिया पर हथियारों के साथ फोटो डालकर दहशत का माहौल पैदा कर रहा है। इसके बाद जांच में गर्ग और उनके बेटे का नाम सामने आया था। पुलिस के लिए जांच की बात यह थी कि एक फोटो में एके47 राइफल भी शामिल थे, जो किसी भी निजी व्यक्ति के पास नहीं हो सकती है। ये पुलिस या आर्मी के पास होती है।
क्या कहता है आर्म्स एक्ट : आर्म्स एक्ट के तहत, आर्म्स लाइसेंस को जारी करने वाली अथॉरिटी को उसे कैंसिल करने की भी पावर होती है। इसके चलते पुलिस कमिश्नरी में ये पावर डिप्टी पुलिस कमिश्नर या पुलिस कमिश्नर को होती है, जबकि जिले में डीसी को इसकी पावर होती है। नियमों के मुताबिक कोई भी आर्म्स लाइसेंस धारक अपना लाइसेंसी हथियार किसी को नहीं दे सकता। चाहे वह कुछ देर के लिए ही क्यों न हो। अगर ऐसा होता है तो दोनों पर केस दर्ज किया जा सकता है या फिर आर्म्स लाइसेंस को कैंसिल किया जा सकता है।
पंचकूला पुलिस की जांच : पंचकूला पुलिस की मानें तो बजरंग दास गर्ग और उनके बेटे अखिल गर्ग ने पहले ही अपने बयान हिसार पुलिस के पास दिए हुए हैं। अब दोबारा उनके बयानों को लिया जाएगा, क्योंकि ये दो मामले दर्ज हो रहे हैं। इसके बाद इसकी रिपोर्ट सेक्टर-5 पुलिस थाने से एसीपी और डीसीपी को दी जाएगी। इसके बाद गर्ग और उनके बेटे पर एक्शन हो सकता है

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
SHO ‘connived with journalist’, used articles to pressurize DCP For Hry ministers Shah is ‘Loh Purush’ Dera chief celebrates b’day with family in Rohtak prison GURGJAON-लापरवाही : पीडब्ल्यूडी मंत्री ने 1 माह में सर्विस लेन सही कराने का आश्वासन दिया था, डेढ़ साल बाद भी नहीं सुधरी सर्व कर्मचारी संघ ने कहा-पक्के की जगह दिया जा रहा कच्चा रोजगार राज्य प्रतिनिधि सम्मेलन पंचकूला में शुरू पीएम 8 को रोहतक में करेंगे जन आशीर्वाद यात्रा का समापन: सीएम शाह की रैली में रेलिंग में करंट आने से मची भगदड़, पंडाल के बाहर उतरवाए काले कपड़े, बेल्ट-घड़ियां घरौंडा नपा चेयरमैन का चुनाव सर्वसम्मति से संपन्न, 18 फरवरी को 13 पार्षदों ने सुभाष गुप्ता के खिलाफ डाला था अविश्वास प्रस्ताव
दिल्ली से अम्बाला राष्ट्रीय राजमार्ग, 20 स्थानों पर लगेंगे उच्च क्षमता के कैमरे
बैंक अब एटीएम में नगदी न होने पर ,पिन गलत और किसी तकनीकी खराबी होने के फ्री ट्रांस्जेक्शन में नहीं गिने जाएंगे --आरबीआई