Saturday, May 25, 2019
Follow us on
Haryana

PANCHKULA- मीटिंग में जूनियर अफसर बोला-पंचकूला में नहीं हो रही अवैध माइनिंग सीनियर अफसर बोले-गलत रिपोर्ट पर साइन नहीं करेंगे, सब टंग जाएंगे

April 21, 2019 08:58 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR APRIL 21


मीटिंग में जूनियर अफसर बोला-पंचकूला में नहीं हो रही अवैध माइनिंग सीनियर अफसर बोले-गलत रिपोर्ट पर साइन नहीं करेंगे, सब टंग जाएंगे
डीसी की मीटिंग में उठा अवैध माइनिंग का मुद्दा, एसीपी और एसडीएम की टीम करेगी सर्वे, बनाएगी रिपोर्ट

पंचकूला एरिया में जारी अवैध माइनिंग को लेकर प्रशासन, पुलिस और माइनिंग डिपार्टंमेंट पर सवाल उठ रहे हैं। इसी कारण डीसी ने माइनिंग डिपार्टमेंट और पुलिस अफसरों समेत प्रशासन के अफसरों की मीटिंग बुलाई।
मीटिंग में भी अफसरों में तालमेल की कमी नजर आई। फील्ड में चेकिंग करने वाले अफसर ने जब कहा कि पंचकूला में अवैध माइनिंग बंद है तो एक सीनियर अफसर ने जवाब दिया कि अवैध माइनिंग बंद नहीं है, बल्कि जारी है। दिन-रात अवैध माइनिंग हो रही है।
मीटिंग में उन साइट्स क जिक्र भी हुआ जहां पर अवैध माइनिंग जारी है। इसके बाद इस मीटिंग में साइन को लेकर भी सवाल खड़ा हो गया, क्योंकि कुछ अफसरों ने तो साइन करने से भी मना कर दिया। कहा गया कि जब अवैध माइनिंग हो रही है तो ऐसे में साइन कैसे कर दिए जाएं कि माइनिंग नहीं हो रही है। अगर साइन कर दिए तो जिन अफसरों की फील्ड में चेकिंग की ड्यूटी लगी है वे बच जाएंगे। जबकि गलत रिपोर्ट पर साइन करने वाले अफसर टंग जाएंगे। यह गंभीर मामला है।
गुमराह करने वाले कर्मचारी और जूनियर अफसर प्रशासन से लेकर माइनिंग और पुलिस के सीनियर अफसरों को फील्ड में रहने वाले कर्मचारी और जूनियर अफसर गुमराह कर रहे हैं। अवैध माइनिंग रोकने को लेकर पंचकूला में सही से काम नहीं हो रहा है। कोई भी अफसर अपनी जिम्मेदारी सही से नहीं निभा रहा है।
: ज्वॉइंट टीम बनी... भास्कर ने अवैध माइनिंग के मुद्दे को प्रमुखता से उठाया है। अब पंचकूला के एसडीएम पंकज सेतिया और एसीपी ओमप्रकाश की एक ज्वॉइंट टीम बनाई गई है। इसमें इन्हें सर्वे कर रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है। पिछले तीन दिनों में ये ज्वॉइंट टीम एरिया सर्वे कर चुकी है। अब दोबारा से बाकी एरिया का सर्वे किया जाएगा। एक रिपोर्ट तैयार कर डीसी और डीसीपी को दी जाएगी। एक रिपोर्ट माइनिंग डिपार्टमेंट के हेड ऑफिस में दी जाएगी। इसके आधार पर अब धड़ाधड़ मामले दर्ज करवाए जाने हैं। कई एरिया में तो कानूनी तौर नॉर्म्स को भी चेक किया जा रहा है। गुप्त रूप से चेकिंग चल रही है।
18 अप्रैल को छापी थी खबर
: विजिलेंस की टीम ने चेकिंग की तो पंचकूला के अफसर उतरे फील्ड में
पंचकूला में बड़े स्तर पर अवैध माइनिंग का धंधा चलता है। पंचकूला प्रशासन, माइनिंग डिपार्टमेंट और पुलिस इसे रोकने में नाकाम है। इसी कारण बीते बुधवार को हरियाणा विजिलेंस, पॉल्यूशन कंट्रोल डिपार्टमेंट और जियोलॉजिकल एंड एन्वायर्नमेंट साइंस डिपार्टमेंट की टीम को फील्ड में उतरना पड़ा। बरवाला, रायपुररानी, खेतपुराली एरिया में खदानों की चेकिंग की गई थी। अवैध माइनिंग के सबूत मिले हैं। स्टोन क्रशर एरिया में भी वीडियोग्राफी कराई गई है। टीम जल्द ही अपनी रिपोर्ट देगी। इस रिपोर्ट में सच्चाई सामने आ सकती है। सूत्रों के अनुसार टीम में मौजूद अफसर यही कहते सुने गए थे कि पंचकूला में पिंजौर कालका से लेकर बरवाला, रायपुररानी एरिया में जमकर अवैध माइनिंग हो रही है। इस बारे में माइनिंग डिपार्टमेंट के अफसरों को पता भी होता है, लेकिन उसके बाद भी कोई एक्शन नहीं लिया जाता है।
खेतपुराली एरिया में अवैध माइनिंग के सबूत

 
Have something to say? Post your comment