Tuesday, April 23, 2019
Follow us on
Haryana

HARYANA-मंच से दिया एकता का मंत्र, लेकिन कमेटी की दूसरी बैठक से भी नदारद रहे बिश्नोई

March 24, 2019 06:46 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR MARCH 24

मंच से दिया एकता का मंत्र, लेकिन कमेटी की दूसरी बैठक से भी नदारद रहे बिश्नोई
दिल्ली में कांग्रेस की बैठक : निजी नारों के बजाय सोनिया, राहुल के नारे लगाने के निर्देश

गुलाम नबी को दिखा गुटबाजी का भय तो दी सख्त हिदायत- किसी ने व्यक्तिगत नारा लगाया तो कटेगी टिकट
भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा
दिल्ली स्थित एआईसीसी कार्यालय में कांग्रेस ने कार्यकर्ता सम्मेलन बुलाया। इसमें प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी गुलाम नबी आजाद, प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर, पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा समेत तमाम बड़े नेता पहुंचे, लेकिन कुलदीप बिश्नोई चुनाव समिति की लगातार दूसरी बैठक से गैरहाजिर रहे। बिश्नोई गुजरात में हुई सीडब्ल्यूसी की बैठक में भी नहीं पहुंचे। इसके बाद दिल्ली में गत दिनों हुई प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में भी नहीं पहुंचे थे। वे शनिवार को तीसरी बार पार्टी की बैठक और दूसरी बार चुनाव कमेटी की बैठक से नदारद रहे।
बैठक में गुलाम नबी ने कहा कि मैं नहीं हम, हम सब एक हैं, एकजुट होकर चुनाव लड़ना है। सभी सीटें जीतकर राहुल गांधी को देनी है। कांग्रेस को फिर से सत्ता में लाना है। भाजपा को सत्ता से बाहर करना है। आजाद ने बार-बार मंच से खेमों में बंटी प्रदेश कांग्रेस को एकजुट होने की बात कही। उन्होंने कहा कि अब केवल कांग्रेस पार्टी, राहुल गांधी और सोनिया गांधी जिंदाबाद के नारे ही लगाए जाएंगे। कोई अपने-अपने नेता के निजी नारे नहीं लगाएगा। इसी से गुटबाजी खुलकर सामने आती है। िहदायत दी कि किसी नेता के कार्यकर्ता तीन नारों के अलावा चौथा लगाते मिले तो टिकट काट दी जाएगी।
मंच पर साथ बैठने से परहेज, असहज महसूस कर देखते रहे दाएं-बाएं
मंच पर दिखे संभावित प्रत्याशी : मंच पर समन्वय समिति के सदस्यों के अलावा कई अन्य दिग्गज मौजूद रहे। हालांकि कांग्रेस की इस बैठक में भी कुलदीप बिश्नोई नहीं पहुंचे, जबकि उनके बड़े भाई चंद्रमोहन सबसे पहले पहुंच गए थे। रणदीप सुरजेवाला शुरुआत में ही भाषण देकर चले गए। प्रदेश में लोकसभा की 10 सीटों के लिए कांग्रेस के संभावित प्रत्याशी भी मंच पर थे।
भीड़ से निकले आवेदन, किसी ने दिया, िकसी ने नहीं : कांग्रेस में टिकट चाहने वालों की लाइन पहले ही लंबी हो चुकी है, लेकिन कुछ सक्रिय कार्यकर्ता इस मौके पर भी टिकट के लिए अावेदन के दस्तावेज साथ लेकर आए। करनाल के एक कार्यकर्ता ने लंबी जद्दोजहद के बाद किसी तरह अंदर प्रवेश किया और पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा को अपना आवेदन सौंप दिया। करीब पांच से छह ऐसे आवेदकों ने शनिवार को भी अपने आवेदन सौंपे। कई आवेदक अपने आवेदन नहीं कर पाए। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि कार्यकर्ता सम्मेलन में पूरी तरह से हुड्‌डा गुट हावी रहा।
एकजुटता रथयात्रा का रूट प्लान बदला
पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा की अगुवाई में चलने वाली परिवर्तन यात्रा पहले दिन 26 मार्च को दिल्ली बॉर्डर से गुड़गांव, धारूहेड़ा, रेवाड़ी, अटेली होते हुए नारनौल पहुंचेगी। 27 को नारनौल, महेंद्रगढ़, दादरी, भिवानी, बवानीखेड़ा, हांसी होते हुए हिसार जाएगी। 28 को हिसार से यात्रा भट्टू, फतेहाबाद, सिरसा, टोहाना, नरवाना, कैथल होते हुए कुरुक्षेत्र जाएगी। 29 को कुरुक्षेत्र से नारायणगढ़, सढौरा, रायपुररानी, जगाधरी, यमुनानगर, रादौर, लाडवा, इंद्री से करनाल जाएगी। 30 को करनाल से यात्रा घरौंडा, पानीपत, इसराना, गोहाना, लाखन माजरा, महम, कलानौर, बेरी, झज्जर होते हुए दिल्ली आएगी। यात्रा के आखिरी दिन 31 मार्च को फरीदाबाद से तिगांव, पृथला, पलवल, हथीन होकर होडल में संपन्न होगी। यह यात्रा पहले फरीदाबाद से शुरू होकर झज्जर में खत्म होनी थी, अब दिल्ली से शुरू होकर होडल में संपन्न होगी

 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
HARYANA-नाम तय, नजारा दिलचस्प, नजर चुनावी समर पर अम्बाला से भाजपा प्रत्याशी कटारिया द्वारा दायर ताज़ा हलफनामे और पिछले 2014 एफिडेविट में दर्शाए अपने पैन कार्ड नंबर में अंतर दुष्यंत की पूर्व केंद्रीय मंत्री बिरेंद्र सिंह को चुनौती ‘मैं विपक्ष का सांसद और आप रहे मोदी सरकार में मंत्री रहे, आओ करें बहस, हिसार में किसने क्या करवाया’ - दुष्यंत चौटाला
अम्बाला से कांग्रेस प्रत्याशी कुमारी शैलजा पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के साथ जिला चुनाव अधिकारी के समक्ष नामांकन करने पहुंची
हरियाणा की दस लोकसभा के लिए चुनाव में भाग ले रही मुख्य पार्टियों के प्रताशियों के नामों का ब्यौरा जेजेपी-आप गठबंधन के आखिरी तीन उम्मीदवार घोषित, दिग्विजय सिंह चौटाला सोनीपत से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे Father will serve you honestly, assures Brijendra’s daughter बजरंग और बेटे पर केस दर्ज होने के बाद हिसार पुलिस ने डीसी को भेजा लेटर, कहा-आर्म्स लाइसेंस कैंसिल करें डेरे की ताकत 29 अप्रैल को सिरसा में दिखेगी किस दल को समर्थन देना है इस पर राजनीतिक विंग फैसला लेगा GURGAON-Told to ‘return’ compensation, 72 villages may boycott polls