Sunday, April 21, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
मशहूर पंजाबी सिंगर गगन कोकरी ने गाया जेजेपी के लिए गाना जेजेपी के लिए गगन कोकरी ने गाया "म्हारे ना दिमाग राजनीति जाणते, हरयाणा आगे बढ़े मेरा एक सपना'जेट एयरवेज के CEO: हमने वित्त मंत्री जेटली से पारदर्शी नीलामी प्रक्रिया का अनुरोध कियाकर्नाटक-गोवा में आयकर विभाग ने 4 करोड़ रुपये से अधिक की नकदी जब्त कीरांची: एयरपोर्ट पर मुंबई जा रहे हैं बेगूसराय के यात्री ने डस्टबिन में फेंके 19 लाख रुपयेपंजाब: कांग्रेस ने फिरोजपुर से शेर सिंह, भटिंडा से अमरिंदर सिंह को दिया लोकसभा टिकटलोकसभा आम चुनाव 2019 के लिए हरियाणा की 10 लोकसभा क्षेत्रों से 20 अप्रैल को 39 उम्मीदवारों ने 41 नामांकन पत्र दाखिल कियेकांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए तय किए दिल्ली की सातों सीटों पर अपने उम्मीदवार- सूत्र NIA ने हैदराबाद के 3 और वर्धा में एक जगह पर ISIS मॉड्यूल मामले में की सर्चिंग
Business

कलेक्शन टारगेट हासिल करने की रेस में I-T डिपार्टमेंट

March 05, 2019 05:50 AM

COURTESY NBT MARCJH 5

कलेक्शन टारगेट हासिल करने की रेस में I-T डिपार्टमेंट


सबसे ज्यादा टैक्स कलेक्शन वाले मुंबई में कलेक्शन 2.22 लाख करोड़ रुपये से 7.4 पर्सेंट बढ़कर 2.39 लाख करोड़ रुपये हो गया

अंतरिम बजट में संशोधित किए गए रेवेन्यू टारगेट को हासिल करने का दबाव टैक्स अधिकारियों पर दिख रहा है
फरवरी के तीसरे हफ्ते तक टैक्स कलेक्शन ~8 लाख करोड़ से कुछ कम रहा, टारगेट ~12 लाख करोड़ का
[ सुगाता घोष | मुंबई ]

इ नकम टैक्स से राजस्व तय टारगेट से नीचे रहने के कारण टैक्स अधिकारी कलेक्शन पर जोर बढ़ा सकते हैं। एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि फरवरी के तीसरे हफ्ते तक टैक्स कलेक्शन 8 लाख करोड़ रुपये से कुछ कम रहा, जबकि टारगेट 12 लाख करोड़ रुपये का है। प्रोफेशनल्स का मानना है कि इन आंकड़ों को देखते हुए टैक्स डिपार्टमेंट रिकवरी अभियान तेज कर सकता है और इसके कारण टैक्स रिफंड में देरी हो सकती है।

विभिन्न इलाकों से डिपार्टमेंट ने जो आंकड़े जुटाए हैं, उनके मुताबिक 20 फरवरी तक 'टोटल नेट कलेक्शन' 7,79,459.7 करोड़ रुपये यानी लगभग 7.79 लाख करोड़ रुपये रहा। सबसे ज्यादा टैक्स कलेक्शन वाले मुंबई में कलेक्शन 2.22 लाख करोड़ रुपये से 7.4 प्रतिशत बढ़कर 2.39 लाख करोड़ रुपये हो गया। वहीं दूसरे सबसे बड़े रीजन दिल्ली से टैक्स कलेक्शन पिछले साल के 94,754.3 करोड़ रुपये से 27 प्रतिशत बढ़कर 1.2 लाख करोड़ रुपये हो गया।

इस संबंध में सीबीडीटी के प्रवक्ता को भेजी गई ईमेल का जवाब नहीं आया।

लॉ फर्म खेतान एंड कंपनी के टैक्स पार्टनर संजय सांघवी ने कहा, 'अब तक की कमी को देखते हुए टैक्स अधिकारी कुछ आक्रामक रुख दिखा रहे हैं। वे टैक्सपेयर्स को देय रिफंड रिलीज नहीं कर रहे हैं या उनका एडजस्टमेंट नए असेसमेंट ऑर्डर्स में की गई टैक्स डिमांड्स से कर रहे हैं। वे उन मामलों में भी ऐसा कर रहे हैं, जिनमें ऐसी डिमांड्स का 20 प्रतिशत हिस्सा डिपॉजिट कर टैक्सपेयर्स ने फर्स्ट अपीलेट अथॉरिटी के पास अपील फाइल की है। ऐसे मामलों में विवादित टैक्स डिमांड पर कदम नहीं उठाया

जाना चाहिए।'

अंतरिम बजट में संशोधित किए गए रेवेन्यू टारगेट को हासिल करने का दबाव टैक्स अधिकारियों पर साफ दिख रहा है। वे वीकेंड्स ही नहीं, कुछ सार्वजनिक अवकाशों पर काम कर रहे हैं। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज के चेयरमैन का पद संभालने के बाद पी सी मोडी ने सीनियर इनकम टैक्स अधिकारियों से कहा था कि टैक्स विभाग की 'प्राथमिकता रेवेन्यू कलेक्शन में बढ़ोतरी' होनी चाहिए, लेकिन 'यह काम बिना किसी तरह के हैरासमेंट के किया जाना चाहिए।' उन्होंने कहा, 'हमारा बर्ताव दोस्ताना होना चाहिए।'

एक टैक्स अधिकारी ने कहा, 'कलेक्शन 12.5 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा है, जबकि चुनौती 19.5 प्रतिशत की दर हासिल करने की है।'

चार्टर्ड एकाउंटेंट फर्म चोकसी एंड चोकसी के सीनियर पार्टनर मितिल चोकसी ने कहा कि डिपार्टमेंट उन असेसीज को समन जारी करने या उन पर सर्वे करने में बहुत तेजी दिखा रहा है, जिन्होंने टीडीएस काटा तो है, लेकिन वह रकम टैक्स विभाग के पास जमा नहीं की है। चोकसी ने कहा, 'विभाग उन असेसीज के पीछे भी लगा हुआ है, जिन्होंने अभी सेल्फ असेसमेंट टैक्स या पहले की अवधियों के रेगुलर असेसमेंट पर टैक्स जमा नहीं किया है। मेट्रो शहरों में टीडीएस रेवेन्यू का अहम जरिया है। असेसीज से पिछले साल या पिछली तिमाही के मुकाबले कम एडवांस टैक्स देने पर भी सवाल किया जा रहा है।

 
Have something to say? Post your comment