Thursday, July 18, 2019
Follow us on
 
National

इलाज मनोरोग का, लौट आई आंखों की रोशनी

February 22, 2019 05:58 AM

COURTESY NBT FEB 22


यह कैसे मुमकिन हुआ
इलाज मनोरोग का, लौट आई आंखों की रोशनी• अनिर्बान घोष (एई समय)

 

मानसिक बीमारी से आंखों की रोशनी चली जाएगी, कौन जानता था! जानना-समझना तो दूर, परिवार का कोई सदस्य इस बारे में सोच भी नहीं सकता था। यहां तक कि आंखों के डॉक्टरों को भी यह अहसास नहीं था। लेकिन कोलकाता की सारिका बीबी को अंत में जब मनोरोग विशेषज्ञ के पास ले जाया गया। छह महीने के इलाज के बाद उन्हें फायदा होने लगा। उनकी आंखों की रोशनी लौटने लगी। इसका साक्षी बना कोलकाता का इंस्टिट्यूट ऑफ सायकायट्री हॉस्पिटल (आईओपी)। डॉक्टरों का कहना है कि यह जटिल बीमारी है, लेकिन इसका इलाज असंभव नहीं। सारिका के पति नजरूल इस्लाम ने बताया कि 2015 में यह घटना हुई थी। तब किसी ने मनोरोग विशेषज्ञ को दिखाने की सलाह दी।
छह महीने पहले डिप्रेशन का इलाज शुरू करते समय आईओपी के मनोरोग विशेषज्ञ ने बीमारी की वजह भांप ली थी। अस्पताल के डायरेक्टर डॉक्टर प्रदीप कुमार साहा ने बताया, सारिका की दृष्टिहीनता का कारण आंख और तंत्रिका की समस्या ही नहीं है। यह न्यूरो-सायकायट्रिक समस्या है। यह समझते हमें देर नहीं लगी। मेडिकल टेस्ट के बाद हमने इलाज पर फोकस किया। लगभग डेढ़ साल से सारिका का नियमित इलाज चल रहा है। उन्होंने अपनी दूसरी संतान को जन्म भी दिया है। दवाई से बेचैनी और डिप्रेशन से उबर गई हैं। रोशनी लौट आई है।

Have something to say? Post your comment
 
More National News
गुजरात: अल्पेश ठाकोर ने की बीजेपी जॉइन
आईसीजे का फैसला भारत की आधी जीत, जाधव की रिहाई के लिए अभिनंदन जैसी ठोस कार्रवाई की जरूरत
कर्नाटक फ्लोर टेस्ट: डीके शिवकुमार बोले, देश और कोर्ट को गुमराह कर रहे हैं येदियुरप्पा 22 जुलाई की दोपहर 2.43 मिनट पर चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग होगी राज्यसभा में समाजवादी पार्टी ने संभल में 2 सिपाहियों की हत्या का मामला उठाया अयोध्या मामले में 2 अगस्त से ओपन कोर्ट में सुनवाई विदेश मंत्री एस जयशंकर ने राज्यसभा में कहा, कुलभूषण जाधव निर्दोष हैं कुलभूषण जाधव की रिहाई के लिए भारत ने कानूनी लड़ाई लड़ी: एस जयशंकर राज्यसभा में बोले एस जयशंकर- कुलभूषण जाधव को रिहा करे पाकिस्तान महाराष्ट्र: गोरखपुर अंत्योदय एक्सप्रेस पटरी से उतरी