Monday, June 24, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
उच्चतमन्यायालय ने बम्बई उच्च न्यायालय के उस आदेश के खिलाफ सुनवाई से इंकार कर दिया है जिसमें पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल और डेंटल पाठ्यक्रमों में मराठा छात्रों को 16 प्रतिशत आरक्षण के खिलाफ दायर याचिका नामंजूर कर दी गई थी।मायावती ने तोड़ा सपा के साथ गठबंधन, कहा- आगे होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव बीएसपी अपने बूते लड़ेगी Nirmala Sitharaman, Minister of Finance, has been appointed as India’s Governor on the Board of Governors of the European Bank for Reconstruction and Development (EBRD)ढेसी की विदाई तय, मुख्य सचिव डी एस ढेसी की रिटायरमेंट पर हरियाणा आईएएस एसोसिएशन ने 30 जून को विदाई पार्टी का किया आयोजनराज्यसभा में AAP सांसद संजय सिंह ने कहा, दिल्ली में हत्या की घटनाएं बढ़ रही हैंलोकसभा में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के अभिभाषण पर चर्चा शुरू हुई उत्तराखंड के कुमाऊं रेंज में बारिश का येलो अलर्ट जारीSP-BSP गठबंधन टूटने पर अमर सिंह बोले, जो बाप का न हुआ वो 'बुआ' का क्या होगा
Haryana

HARYANA-प्राइमरी स्कूलों के टीचर करा सकेंगे गृह जिलों में ट्रांसफर, गेस्ट-एडहॉक को भेज सकते हैं दूर

February 16, 2019 05:28 AM


COURTESY DAINIK BHASKAR FEB 16
प्राइमरी स्कूलों के टीचर करा सकेंगे गृह जिलों में ट्रांसफर, गेस्ट-एडहॉक को भेज सकते हैं दूर
रेगुलर टीचर आने से गेस्ट टीचर और एडहॉक को भेजा जाएगा दूसरी जगह
पीआरटी, जेबीटी और हेड टीचर को 28 फरवरी तक करना होगा ऑनलाइन आवेदन
भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा
शिक्षा विभाग ने प्राइमरी स्कूलों में शिक्षकों की लंबे समय से चल रही मांग पर अब इंटर डिस्ट्रिक्ट ट्रांसफर पॉलिसी लागू कर दी है। इससे पीआरटी, जेबीटी और हेड टीचर किसी भी तीन जिलों में अपना ट्रांसफर करा सकेंगे।
बड़ी बात यह है कि इस पॉलिसी से गेस्ट टीचर और एडहॉक के बीच समस्या बन गई है। उनकी जगह दूसरे शिक्षक तबादला होकर आने से या तो उन्हें हटाया जा सकता है या फिर उन्हें किसी दूसरे जिलों में खाली पदों पर भेजा जा सकता है। विभाग की ओर से बताया गया है कि प्रदेश में 8031 खाली पद हैं। इनमें 516 एडहाॅक और 6090 पदों पर गेस्ट टीचर लगे हुए हैं। जबकि रिक्त पद 380 है। विभाग ने कहा कि ट्रांसफर कराने वाले शिक्षक 28 फरवरी तक एमआईएस पोर्टल पर आवेदन कर सकता है। बता दें कि दैनिक भास्कर ने जनवरी में ही
जानिए...किस जिले में कितने एडहॉक और गेस्ट टीचर हो सकते हैं प्रभावित
जिला गेस्ट टीचर एडहाॅक
अम्बाला 47 317
भिवानी-दादरी 00 45
फरीदाबाद 14 471
फतेहाबाद 20 414
गुड़गांव 315 240
हिसार 107 43
जिला गेस्ट टीचर एडहाॅक
झज्जर 00 09
जींद 21 122
कैथल 00 433
करनाल 124 476
कुरुक्षेत्र 01 215
महेंद्रगढ़ 00 28
पलवल 56 687
पंचकूला 23 317
पानीपत 12 371
रेवाड़ी 98 34
सोनीपत 133 115
यमुनानगर 84 516
मेवात 347 940
यह भी जानें...
शिक्षक जिस जिले में नियुक्त है, उसके अलावा अन्य तीन जिलों में तबादले के लिए विकल्प दे सकता है।
आवेदन करने की अंतिम तिथि 28 फरवरी तक वह अपने विकल्प बदल सकता है।
तबादला उन्हीं शिक्षकों का होगा, जिनका सेवाकाल 3 साल का पूरा चुका है।
यदि आवेदन करने में कोई दिक्कत है तो इसके लिए विभाग ने हेल्प डेस्क भी बनाई है, जिस पर वह संपर्क कर सकता है।
हाईकोर्ट में था इंटर डिस्ट्रिक्ट ट्रांसफर मामला
लंबे समय से तबादला न होने का मामला हाई कोर्ट तक पहुंचा था। इस पर हाई कोर्ट ने विभाग को एक अप्रैल 2019 से शुरू होने वाले नए शिक्षा सत्र से पहले इंटर डिस्ट्रिक्ट ट्रांसफर करने के आदेश दिए थे। हाईकोर्ट द्वारा तलब करने के बाद मौलिक शिक्षा विभाग हरियाणा के निदेशक डीके बेहरा शुक्रवार को हाईकोर्ट में व्यक्तिगत रूप से पेश हुए और तबादलों की प्रक्रिया जल्द शुरू करके मार्च में वार्षिक परीक्षा समाप्त होते ही तबादलों के आदेश जारी करने की बात कही। हाईकोर्ट में 2011 में नियुक्त जेबीटी शिक्षकों के वकीलों ने कहा कि उनका तो जिला आबंटन ही वर्ष-2011 में गलत हुआ था क्योंकि उस वक्त गेस्ट टीचर्स के पदों को खाली नहीं माना गया था और उन्हें इस कारण दूसरे जिले आबंटित किए गए थे।
लंबे समय से थी हमारी मांग: संघ
राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रदेशाध्यक्ष तरुण सुहाग ने कहा कि हम लंबे समय से इंटर डिस्ट्रिक्ट ट्रांसफर की मांग कर रहे थे। विभाग ने इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी है। इससे दूर जिलों में रह रहे शिक्षक अपने घरों के पास जा सकेंगे।

Have something to say? Post your comment