Friday, November 16, 2018
Follow us on
Haryana

इनेलो के बागी विधायक को समिति में सम्मान

November 07, 2018 08:12 AM

COURTESY DAINIK TRIBUNE NOV 7

इनेलो के बागी विधायक को समिति में सम्मान
चंडीगढ़, 6 नवंबर (ट्रिन्यू)
हरियाणा के विपक्षी दल इनेलो में चल रही उठापटक के बीच भाजपा ने बड़ा दांव खेलते हुए इनेलो के बागी विधायक को बड़ी जिम्मेदारी देकर नेता विपक्ष अभय चौटाला को झटका दे दिया है। पिछले कई दिनों से पार्टी के वरिष्ठ नेताओं व पूर्व विधायकों द्वारा अभय चौटाला को छोड़कर दुष्यंत के समर्थन में जाने का सिलसिला चल रहा है।
हरियाणा के सभी राजनीतिक दलों की नजर इनेलो में चल रहे सियासी घटनाक्रम पर लगी हुई है। अब तक इनेलो के करीब आधा दर्जन पूर्व विधायक और तीन मौजूदा विधायक अभय को छोडक़र दुष्यंत के साथ जा चुके हैं। इनेलो में मचे घमासान में सबसे पहले भाजपा ने दांव खेल दिया है। जिसके चलते हरियाणा सरकार ने फरीदाबाद एनआईटी के विधायक नगेंद्र भड़ाना को राज्य में हिंदी भाषा के प्रसार से संबंधित उच्च स्तरीय समिति में शामिल किया है।
नगेंद्र भड़ाना लंबे समय से अभय चौटाला के विरूद्ध मोर्चा खोले हुए हैं। भड़ाना न केवल मुख्यमंत्री मनोहर लाल की जनसभाओं का आयोजन करवा चुके हैं बल्कि राष्ट्रपति चुनाव के दौरान भी वह खुलकर भाजपा प्रत्याशी का समर्थन कर चुके हैं। भड़ाना पिछले करीब तीन साल से इनेलो की किसी भी बैठक में शामिल नहीं हो रहे हैं। इसके बावजूद अभय चौटाला ने अभी तक उनके विरूद्ध कोई कार्रवाई नहीं की है।
अब हरियाणा की सत्तारूढ़ भाजपा सरकार ने इनेलो की अंदरूनी राजनीति को हवा दे दी है। जिसके चलते सरकार ने राज्य में हिंदी भाषा के प्रसार से संबंधित उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है। इस समिति में लाडवा (कुरुक्षेत्र) के विधायक डॉ. पवन सैनी, रेवाड़ी के विधायक रणधीर कापड़ीवास, फरीदाबाद के विधायक नागेंद्र भड़ाना, पानीपत (शहर) की विधायक रोहिता रेवड़ी, सफीदों (जींद) के विधायक जसबीर देशवाल और महेश नगर, अम्बाला छावनी के हिंदी विशेषज्ञ डॉ.सुरेंद्र गुप्ता शामिल हैं।

 

Have something to say? Post your comment