Wednesday, April 24, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
जब दुष्यंत चौटाला अपने कार्यकर्ता से मिलने जा पहुंचे खेतों में...हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी और नोडल अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर राज्य में लोकसभा आम चुनाव की तैयारियों का जायजा लियालोकसभा चुनावः अब तक 13.16 करोड़ की शराब, ड्रग्स और नकदी जब्तबर्खास्त किए गए कर्मचारियों ने CJI के खिलाफ साजिश रची है, ये गंभीर मुद्दा है-SCPM मोदी पर राहुल का शायराना ट्वीट, कहा- जनता के सामने, चौकीदार मक्कारी नहीं चलतीसाल 2018 में 272 आतंकी मारे गए और कई गिरफ्तार किए गएः सेनाआतंकी हमले के बाद श्रीलंका के राष्ट्रपति ने रक्षा सचिव और पुलिस प्रमुख से इस्तीफा मांगालोकसभा चुनावः अरविंद केजरीवाल कल जारी करेंगे AAP का घोषणा पत्र
Haryana

हरियाणा के लिए अलग बार कौंसिल बनाने के लिए एडवोकेट हेमंत ने बैलट पेपर पर लिखकर गुहार लगायी

November 03, 2018 01:04 PM

चंडीगढ़ -  गत  एवं  2 नवम्बर को पंजाब एवं हरियाणा बार कौंसिल के चुनाव संपन्न हुए. एक और जहाँ पंजाब एवं हरियाणा  हाई कोर्ट एवं चंडीगढ़ जिला कोर्ट में नवम्बर को इस बाबत अधिवक्ताओं ने मत डाले गए वहीँ पंजाब एवं हरियाणा के सभी जिलों एवं सब-डिवीज़नो में बीते कल नवम्बर को अधिवक्ताओ ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. इसी बीच पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के एडवोकेट हेमंत कुमार ने बताया कि उन्होंने अपने बैलट पेपर पर हरियाणा के लिए अलग बार कौंसिल बनाने की मांग के  लिए लिखकर गुहार लगायी है. हेमंत ने कहा एक हरियाणावासी के नाते बीते नवम्बर को53वें हरियाणा दिवस के अवसर पर  एकएडवोकेट के तौर पर पंजाब एवं हरियाणा बार कौंसिल के चुनावों में हाई कोर्ट में जब वह अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे थे तो  उन्होंने अपनी  अंतरात्मा की आवाज सुनते हुए अपने बैलट पेपर पर साफ़ तौर पर लिख दिया कि पंजाब एवं हरियाणा राज्यों के लिए अलग अलग बार कौंसिलबनायीं जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि उन्हें पूरा ज्ञान है कि ऐसा करने के उनका वोट  रद्द कर दिया जाएगा क्योंकि बैलट पेपर पर अपने मत अंकित करने के अतिरिक्त कुछ भी और लिखा जाए, तो ऐसी स्थिति में वोट को कैंसिल कर दिया जाता  है. परन्तु चूँकि हरियाणा के गठन के 52 वर्ष पश्चात आज तक किसी ने इसके लिए अलग बार कौंसिल बनाने के लिए कुछ नहीं किया, इसलिए उन्होंने ऐसा किया. हेमंत ने आगे बताया कि चाहे पंजाब एवं हरियाणा के लिए अलग-अलग हाई कोर्ट बनाने में कानूनी पेच है कि ऐसी स्थिति में चंडीगढ़ किस राज्य के हाई कोर्ट के  अधिकार-क्षेत्र में आएगा परन्तु जहाँ तक पंजाब एवं हरियाणा के लिए अलग अलग बार कौंसिल बनाने का प्रश्न है, तो ऐसा एडवोकेट एक्ट, 1961 में उपयुक्त संशोधन कर किया जा सकता है. 

 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
लोकसभा चुनाव के लिए विधायक नैना सिंह चौटाला से शुरू किया चुनाव प्रचार जब दुष्यंत चौटाला अपने कार्यकर्ता से मिलने जा पहुंचे खेतों में... हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी और नोडल अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर राज्य में लोकसभा आम चुनाव की तैयारियों का जायजा लिया
लोकसभा चुनावः अब तक 13.16 करोड़ की शराब, ड्रग्स और नकदी जब्त
हरियाणा पुलिस के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (सीआईडी)अनिल कुमार राव ने कांस्टेबल सुनील संधू को 5000 रुपये के नकद पुरस्कार के अलावा प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया
अवैध शराब, ड्रग्स और हथियार सहित 14 गिरफतार
अंबाला में धमाके के साथ विमान से गिरे फ्यूल टैंक, दहशत में लोग
हुड्डा को चुनौती देकर मीडिया की सुखियों में बने रहना चाहते थे राजकुमार सैनी ताऊ देवीलाल की चौथी पीढ़ी से मुकाबला होगा कांग्रेस के दिज्गज नेता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा का लोकसभा चुनाव में हुड्डा और चौटाला परिवार की सम्पूर्ण हार,अर्थात् जातिवाद,भ्र्ष्टाचार और दबंगई की सियासत समाप्त : जवाहर यादव