Thursday, April 25, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
28 को राष्ट्रीय पंजाबी महासंघ के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री खट्टर करेंगे शिरकतकल से दुष्यंत के चुनावी समर में उतरेंगी विधायक नैना चौटालावायदों को लेकर कोई नेता से सवाल करे तो भाजपाई कर देते हैं लहुलुहान- दुष्यंतजननायक जनता पार्टी ने चुनाव आयोग से की शिकायत बीजेपी प्रत्याशी सुनीता दुग्गल के HCS भाई और IPS पति की पोस्टिंग पर जताई आपत्तिकर्मचारियों के कोप का भाजन बनेगी भाजपा : महासंघपूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने पूर्व विधायक सन्त कंवर को सोनीपत संसदीय क्षेत्र में सोनीपत जिला का तथा पूर्व मंत्री कृष्णमूर्ति हुड्डा को जीन्द जिला का को-आर्डिनेटर नियुक्त किया 27 अप्रैल 2019 को बसंत गिरिजा श्री सोसाईटी द्वारा चंडीगढ़ के टैगोर थियेटर में ‘सुरीला सफर-12’ का आयोजन किया जाएगा मतदान को बढावा देने एवं मतदाताओं में जागरूकता लाने के लिए प्रदेश के सभी जिला में 5 मई को व्यापक स्तर पर स्वीप कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा:राजीव रंजन
International

पाकिस्तान और चीन के बीच पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) होकर गुजरने वाली बस सर्विस का भारत ने विरोध किया है

November 02, 2018 06:47 AM

COURTESY NBT NOV 2

पाकिस्तान और चीन के बीच पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) होकर गुजरने वाली बस सर्विस का भारत ने विरोध किया है। यह बस चीन और पाकिस्तान के बीच बन रही सड़क सीपीईसी (चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा) से होकर जाया करेगी। भारत ने इसे अपनी संप्रभुता का उल्लंघन बताया है। वहीं चीन ने कहा है कि सीपीईसी का भारत और पाकिस्तान के बीच क्षेत्रीय विवाद से कुछ लेना-देना नहीं है। यह बिलकुल अलग इलाके में है। हालांकि चीन ने यह भी कहा है उसे विवादित कश्मीर के रास्ते बस गुजरने को लेकर भारत के विरोध प्रदर्शन की कोई जानकारी नहीं है।

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, एक निजी परिवहन कंपनी लाहौर और चीन के शिंजियांग प्रांत के काश्गर के बीच चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) ढांचे के तहत शनिवार को बस सेवा शुरू करेगी। बस सेवा की शुरुआत पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शुक्रवार से शुरू होने वाले चार दिवसीय चीन दौरे के समय हो रही है। भारत का कहना है कि उसने चीन और पाकिस्तान से प्रस्तावित बस सेवा को लेकर विरोध दर्ज कराया है। भारत सीपीईसी का विरोध करता है, क्योंकि इसका रास्ता पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से गुजरता है। भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से इस तरह की कोई भी बस सेवा भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का उल्लंघन होगी।’

भारत के विरोध प्रदर्शन के बारे में पूछे जाने पर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा, ‘जहां तक बस सेवा की बात है तो मुझे शिकायत नहीं मिली है।’ उन्होंने कहा, ‘मेरे पास सीपीईसी के बारे में कई सवाल आए हैं। यह पाकिस्तान और चीन के बीच में एक आर्थिक सहयोग परियोजना है और किसी तीसरे पक्ष को निशाना नहीं बनाया गया है।’

लू ने कहा, ‘इसका क्षेत्रीय विवाद से कोई लेना-देना नहीं है और इससे चीन के कश्मीर मुद्दे पर रुख में कोई बदलाव नहीं होगा।

 
Have something to say? Post your comment
 
More International News
आतंकी हमले के बाद श्रीलंका के राष्ट्रपति ने रक्षा सचिव और पुलिस प्रमुख से इस्तीफा मांगा आतंकी हमला - कट्टरता का जनून नेपाल के काठमांडू में भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर 5.2 रही तीव्रता JAPANESE CONNECTION ‘Yogi’ becomes first Indian to win an election in Japan श्रीलंका में हुए बम धमाके की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली श्रीलंका ब्लास्ट में मारे गए भारतीयों की संख्या बढ़कर 10 हुई श्रीलंका: सेंट एंथनी चर्च के पास एक वैन में IED विस्फोटक मिला श्रीलंका पुलिस को कोलंबो के मुख्य बस स्टैंड पर 87 बम डेटोनेटर्स मिले श्रीलंका में राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा, आज रात से होगी लागू श्रीलंका: कोलंबो एयरपोर्ट के पास मिला बम, पुलिस ने किया डिफ्यूज