Thursday, April 25, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
गाजियाबादः बिहार से दिल्ली-एनसीआर में हथियार बेचने वाले 3 हथियार तस्कर गिरफ्तारहमारे लिए तो भारत माता की जय भक्ति और वंदे मातरम् का उद्घोष शक्ति है: मोदीPM मोदीः महामिलावट करने वालों, आपके लिए आतंकवाद मुद्दा नहीं होगा, लेकिन नए भारत में ये बड़ा मुद्दादरभंगा में PM मोदीः ये नया हिंदुस्तान है, ये आतंक के अड्डों में घुसकर मारेगादरभंगा में PM मोदीः जो पाकिस्तान का पक्ष ले रहे थे, वो अब मोदी और ईवीएम को गाली देने लगेचंडीगढ़ः नामांकन से पहले बीजेपी दफ्तर पहुंचे बीजेपी उम्मीदवार किरण खेर और अनुपम खेर अखिलेश यादव का ट्वीटः जनता ने बीजेपी का नया अर्थ निकाला- भागती जनता पार्टीपीएम मोदी बोले- विपक्ष हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ने की कर रहा तैयारी
Haryana

प्रदेश की संस्कृति के विकास में हरियाणा कला परिषद् की महत्वपूर्ण भूमिका- मीनाक्षी दहिया

November 01, 2018 12:38 PM
लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्मदिन के उपलक्ष्य में हरियाणा कला परिषद् की ओर से अम्बाला शहर के एस.ए.जैन सीनियर सेकंडरी स्कूल के सभागार में  सूफी गायन संध्या का आयोजन किया गया जिस में जाने माने गायक सुशील शर्मा ने अपने सूफियाना कलाम से श्रोताओं से भरपूर वाहवाही लूटी। इस अवसर पर मुख्य अतिथि हरियाणा कला परिषद के निदेशक अनिल कौशिक थे जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता एस. डी. एम मीनाक्षी दहिया ने की ।कार्यक्रम में हरियाणा कला परिषद गुरुग्राम के क्षेत्रीय निदेशक महेश जोशी विशिष्ट अतिथि के साथ साथ जाने माने रंगकर्मी डॉ अनिल दत्ता भी मौजूद रहे । स्कूल के प्रिंसिपल नीरज बाली औऱ प्रबंधन समिति के सुदेश जैन ने आमंत्रित अतिथियों का पुष्पगुच्छ के साथ स्वागत किया ।
 अपने संबोधन में अनिल कौशिक ने कहा कि भारत को एकसूत्र में पिराने जैसा कठिन कार्य सरदार वल्लभ भाई पटेल की दूरदर्शिता से ही संभव हो पाया था।  वल्लभ भाई पटेल ने देश की 565 छोटी-बडी रियासतों को एक राष्ट्र के सूत्र में पिरोने जैसे महत्वपूर्ण काम को अंजाम दिया। आज समूचा राष्ट्र उन्हें अपने श्रद्धासुमन अर्पित कर रहा है । उन्होने कहा कि मौजूदा सरकार ने सरदार वल्लभ भाई पटेल को सम्मान प्रदान करते हुए उनके जन्मदिवस को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया बल्कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रयासों से गुजरात में नर्मदा नदी के किनारे पर विश्व की सबसे उंची 182 मीटर उंचाई की सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा भी स्थापित की गई है। उन्होने कहा कि वल्लभ भाई पटेल के  कद के मुताबिक ही विश्व की सबसे उंची प्रतिमा स्थापित की गई। उन्होंने सुशील शर्मा की प्रस्तुति को सराहते हुए स्कूल प्रबंधन का सहयोग के लिये आभार भी प्रकट किया। अनिल कौशिक ने हरियाणा कला परिषद की गतिविधियों का लेखा-जोखा देते हुए सामाजिक सौहार्द बढ़ाने के लिए सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देने पर विशेष बल दिया।
एस.डी.एम.मीनाक्षी दहिया ने हरियाणा कला परिषद् के इस प्रयास की प्रसंशा करते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रम प्रदेश की संस्कृति और प्राचीन परम्पराओं केे विकास में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं। उन्होनें कहा कि हरियाणा की लोक गायकी, लोक नृत्यों के साथ-साथ यहां की हास्य कला, सांग व संस्कृति की अन्य विधाए देश की अपनी अलग पहचान रखती हैं। उन्होने कहा कि भौतिकवाद  की दौड़ में युवा वर्ग अपनी मूल संस्कृति से विमुख होता जा रहा है और ऐसे कार्यक्रम भावी पीढिय़ों को प्रदेश की संस्कृति के साथ जोडऩे में सहायक सिद्ध होते हैं। 
सुशील शर्मा ने कार्यक्रम का शुभारंभ जाने माने सूफी कलाम मेरे साहिबा मै तेरी हो चुकी हाँ ,के साथ की। उस के बाद तो बुल्ले शाह, बाबा फरीद और अमीर खुसरो की रचनाओं को अपनी आवाज देकर वो समा बाँधा कि श्रोता झूम उठे। श्रोताओं की फरमाइश पर उन्हों ने नित खैर मंगा गीत भी सुनाया। कार्यक्रम का समापन कबीर  की प्रसिद्ध रचना मन लागो मेरो यार फकीरी में के साथ किया ।उन के साथ संगत करने वाले कलाकारों में हारमोनियम-सिमरन सिंह, राजपाल-ऑर्गन, ढोलक-गुंजन, तबला पर ऋषि बग्गन, चरनजीत चावला, अरुण शर्मा, उपेन्द्रनाथ, संजू व अन्य ने साथ दिया। नीरज बाली ने आमंत्रित विशिष्ट अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट कर अभिनंदन किया औऱ सभी का आभार भी प्रकट किया।
 
Have something to say? Post your comment