Tuesday, November 13, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
हरियाणा पुलिस द्वारा मोबाइल टावर, खडे वाहनों व अन्य स्थानों से बैट्री चोरी करने वाले गिरोह का भंडाफोड करते हुए इसके 10 सदस्यों को जिला रेवाडी से गिरफतार करने में सफलता हासिल कीशैक्षिक भ्रमण द्वारा बटोरा विद्यार्थियों ने ज्ञान अफगानिस्तानः राजधानी काबुल में बड़ा धमाका, कई लोगों के मारे जाने की आशंकाछत्तीसगढ़ः 18 विधानसभा क्षेत्रों में 12 बजे तक 22.50 फीसदी मतदान मुजफ्फरपुर कांडः पूर्व मंत्री मंजू वर्मा की गिरफ्तारी में नाकामी पर SC नाराज MP के CM शिवराज सिंह चौहान आज शाम 4 बजे बेंगलुरु जाएंगेबिलासपुर में PM मोदीः नोटबंदी ने उनके पिता के कहे हुए 85 पैसे को बाहर निकालाबिलासपुर में PM मोदीः हमने विकास की नित नई ऊंचाइयों को छुआ
Haryana

राज्य के 3 जिलों में 100-100 बिस्तरों से युक्त मातृ एवं बाल स्वास्थ्य (एमसीएच) विंग स्थापित की जाएगी:विज

October 30, 2018 04:39 PM
हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि मां एवं नवजात बच्चे की सुरक्षा के लिए राज्य के 3 जिलों में 100-100 बिस्तरों से युक्त मातृ एवं बाल स्वास्थ्य (एमसीएच) विंग स्थापित की जाएगी। इनमें मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को और कम करने के लिए आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने हरियाणा में प्रत्येक विंग की स्थापना के लिए 20 करोड़ रुपये की सैद्घांतिक स्वीकृति प्रदान कर दी है।इसके साथ ही चालू वित्त वर्ष में प्रत्येक एमसीएच के लिए एक-एक करोड़ रुपए टोकन मनी के तौर पर मंजूर किए हैं तथा शेष राशि एमसीएच के कार्य शुरू होने के पश्चात जारी की जाएगी। उन्होंने बताया कि उत्कृष्टï श्रेणी के तृतीय श्रेणी के अस्पतालों से भी इनका लिंक रखा जाएगा ताकि आवश्यकता पडऩे पर मरीज को रैफर की सुविधा मिल सके। इस प्रकार के 100 बिस्तरों से युक्त केन्द्रों को विभिन्न चरणों में प्रदेश के सभी जिलों में स्थापित किया जाएगा।
श्री विज ने बताया कि नई एमसीएच विंग की स्थापना पंचकूला, पानीपत तथा हिसार के मौजूदा स्वास्थ्य केन्द्रों, उपमंडल अस्पताल या जिला सिविल अस्पतालों में ही की जाएगी। इनमें प्रसव पूर्व एवं प्रसव पश्चात की गुणवत्तापूर्वक स्वास्थ्य सेवाएं तुरन्त उपलब्ध करवाई जाएगी, जिनमें व्यापक प्रजनन, माता, नवजात तथा बाल स्वास्थ्य की आधुनिक सुविधाएं प्रदान की जाएगी। इसके साथ ही डिलिवरी के बाद 48  घंटे तक ठहरने की व्यवस्था तथा सुरक्षित एवं सम्मानपूर्वक मातृत्व देखभाल की सुविधा होगी।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि इन सभी एमसीएच विंग में ओपीडी, लेबर रूम, आई सी यू, एसएनसीयू, ओटी रूम, डिलिवरी से पहले एवं बाद में ठहरने के कक्ष, एवं एएनसी, पीएनसी व प्राईवेट वार्ड, प्रयोगशालाए, अल्ट्रासाऊंड सहित प्रतिक्षा कक्ष, पैंट्री, एम्बूलैंस इत्यादि की सुविधा होगी। इसके अलावा, मरीज एवं तीमारदार के लिए उत्कृष्टï सुविधाएं, समुचित पावर सप्लाई तथा पैब्लिक एड्रस प्रणाली भी होगी।
श्री विज ने बताया कि हमारी सरकार द्वारा शुरू की अनेक उत्कृष्टï चिकित्सा सुविधाओं से प्रदेश की एमएमआर तथा आईएमआर में भारी कमी दर्ज की गई है। इसके अलावा हमने वर्ष 2030 तक मातृ मृत्यु दर एवं शिशु मृत्यु दर को और कम करने का लक्ष्य रखा है। इसके तहत एक लाख जीवित बच्चों पर मातृ मृत्यु दर को कम करके 70 तक एवं प्रति एक हजार जीवित बच्चों पर नवजात मृत्यु दर को कम करके 12 तथा 5 वर्ष से कम आयु के बच्चों की दर कम करके 25 प्रति हजार तक लाने का लक्ष्य है।  
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
हरियाणा पुलिस द्वारा मोबाइल टावर, खडे वाहनों व अन्य स्थानों से बैट्री चोरी करने वाले गिरोह का भंडाफोड करते हुए इसके 10 सदस्यों को जिला रेवाडी से गिरफतार करने में सफलता हासिल की
शैक्षिक भ्रमण द्वारा बटोरा विद्यार्थियों ने ज्ञान म़ुझे सदैव बडे भाई का स्नेह देते थे अनंत कुमार: धनखड़ हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार के निधन पर शोक जताया दुष्यंत की मां नैना ने INLD HQ पर जमाया हक, अभय ने किया खाली HARYANAमंत्री और विधायक के गांव में बंद मिले स्कूल, लापता थे शिक्षक HARYANA-Sugarcane season starts, last year’s payment still due मेरी वजह से अपमानित हुए वर्करों से माफी मांग नैना चौटाला के फ्लैट से समेटा दफ्तर का सामान HARYANA-नहीं टूटी भाइयों के मतभेद की ‘दीवार