Monday, December 10, 2018
Follow us on
Haryana

प्रत्येक देश और प्रदेश वासी को शहीदों की शहादत से प्रेरणा लेते हुए देश की रक्षा के लिए तत्पर रहना होगा:सत्यदेव नारायण आर्य

October 26, 2018 04:47 PM
हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने कहा कि प्रत्येक देश और प्रदेश वासी को शहीदों की शहादत से प्रेरणा लेते हुए देश की रक्षा के लिए तत्पर रहना होगा, तभी देश की तरक्की सुनिश्चित होगी और देश आगे बढ़ेगा। 
राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य शुक्रवार को पंचायत भवन के सभागार में स्वतंत्रता सैनानी राजा अजीत सिंह लाडवा मैमोरियल ट्रस्ट की तरफ से शहीद मेजर नितिन बाली के शौर्य दिवस पर आयोजित शहीद सम्मान समारोह में बोल रहे थे। इससे पहले राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य, राज्यपाल के सचिव विजय सिंह दहिया, शहीद भगत सिंह के भतीजे अभय सिंह संधू व उनकी धर्मपत्नी तेजी संधू, उपायुक्त डा. एसएस फुलिया, पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र पाल सिंह, ट्रस्ट के सरंक्षक हरपाल सिंह चीका, ट्रस्ट के अध्यक्ष लखविन्द्र पाल सिंह ग्रेवाल, शहीद मेजर नितिन बाली की माता आदर्श बाली ने शहीद मेजर नितिन बाली की तस्वीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रृद्धांजलि अर्पित की है। इस शौर्य दिवस पर राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने शहीद मेजर नितिन बाली की मां आदर्श बाली, शहीद सिपाही मंदीप सिंह, शहीद सिपाही प्रगट सिंह, शहीद सिपाही राजेश पुनिया, शहीद हवलदार सुशील कुमार, शहीद सिपाही विक्रमजीत सिंह, शहीद गुरसेवक सिंह, , शहीद सिपाही संजीव सिंह के परिजनों को सम्मानित किया।
राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने कहा कि देश की स्थिति को मजबुत बनाने में स्वतंत्रता सैनानियों का अहम योगदान रहा है। इसलिए देश के जवानों और स्वतंत्रता सैनानियों के साथ-साथ शहीदों के परिजनों को हर सम्भव मदद मुहैया करवानी चाहिए। इन स्वतंत्रता सैनानियों और शहीदों के परिजनों को मकान, शिक्षा और अन्य सुविधाओं का ध्यान रखना बेहद जरुरी है। इतना ही नहीं सरकार द्वारा स्वतंत्रता सैनानियों और परिजनों के लिए किसी भी स्थिति में सुविधाओं में कोई कमी नहीं आएगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने भूतर्पूव सैनिक व अर्ध कल्याण सैनिक कल्याण के लिए अलग से विभाग का गठन किया है और अनुग्रह राशि कई गुणा तक बढ़ाने का काम किया है। राज्य सरकार ने शहीद के परिवारों को अनुकम्पा के आधार पर नौकरियां प्रदान की है। द्वितीय विश्व युद्घ के भूतपूर्व सैनिकों तथा विधवाओं को दी जाने वाली आर्थिक सहायता को भी कई गुणा बढ़ाया है।
उन्होंने कहा कि शहीदों के सम्मान के लिए प्रदेश सरकार ने अम्बाला छावनी में 22 एकड़ क्षेत्र में शहीदी स्मारक स्थापित किया जा रहा है। शहीदों के सम्मान पर कार्यक्रमों का आयोजन करने से युवा वर्ग के साथ-साथ आमजन का मनोबल बढ़ता है, इससे राष्ट्रभक्ति की भावना भी पैदा होती है। आज सभी संस्थाओं और संगठनों को स्वतंत्रता सैनानी, वीर शहीदों के परिवारों व जरुरतमंद लोगों के लिए काम करना चाहिए। उन्होंने शहीद मेजर नितिन बाली के शहीदी दिवस पर स्वतंत्रता सैनानी राजा अजीत सिंह मैमोरियल ट्रस्ट द्वारा आयोजित कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए कहा कि समाज की अन्य संस्थाओं को भी इस प्रकार के कार्यक्रमों से प्रेरणा लेकर शहीदों के परिवारों के लिए प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रुप से मदद करनी चाहिए।
ट्रस्ट के मुख्य सरंक्षक हरपाल सिंह चीका ने मेहमानों का स्वागत करते हुए कहा कि स्वतंत्रता सैनानी राजा अजीत सिंह मैमोरियल ट्रस्ट द्वारा शहीदों के परिजनों को सम्मानित करने के लिए हर वर्ष कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। उन्होंने शहीद मेजर नितिन बाली के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि कारगिल में आॅप्रेशन रक्षक के दौरान दुश्मन फौज से लोहा लेते हुए वीरगति को प्राप्त हुए। ट्रस्ट के अध्यक्ष लखविन्द्र पाल सिंह ग्रेवाल ने मेहमानों का आभार व्यक्त कर ट्रस्ट की गतिविधियों पर प्रकाश डाला। इस मौके पर एसडीएम अनिल यादव, नगराधीश संयम गर्ग, शहीद मेजर नितिन बाली की बटालियन से आए अधिकारी रविन्द्र कौशिक, गुलशन ग्रोवर, मेहर सिंह, रोहिनी सहित अन्य अधिकारीगण व गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
Have something to say? Post your comment