Thursday, January 24, 2019
Follow us on
Haryana

शरणदीप कौर बराड़ ने गांव इस्माईलपुर की अमरजीत कौर की वृद्धावस्था पैंशन से सम्बन्धित शिकायत के मामले में सुनवाई करते हुए 3 सदस्यीय कमेटी का गठन किया

October 25, 2018 04:19 PM
उपायुक्त श्रीमती शरणदीप कौर बराड़ ने गांव इस्माईलपुर की अमरजीत कौर की वृद्धावस्था पैंशन से सम्बन्धित शिकायत के मामले में सुनवाई करते हुए 3 सदस्यीय कमेटी का गठन किया है। उन्होंने समिति के सदस्यों को निर्देश दिए कि वे वृद्धावस्था, विधवा और विकलांग पैंशन के ऐसे सभी मामलों की जांच करें जिनमें अनावश्यक देरी हुई है। इस समिति में जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदिति, शिकायत निवारण समिति के गैर सरकारी सदस्य मोहम्मद दानिश, साहब सिंह मोहड़ी को शामिल किया गया है।
उपायुक्त आज पंचायत भवन अम्बाला शहर में जिला लोक सम्पर्क एवं शिकायत निवारण समिति की मासिक बैठक में शिकायतों की सुनवाई कर रही थी। उन्होंने आज 12 पंजीकृत शिकायतों के अलावा लोगों द्वारा रखी गई 25 से अधिक व्यक्तिगत व सामूहिक समस्याओं की भी सुनवाई की।
इस्माईलपुर निवासी अमरजीत कौर की शिकायत की थी उसने मार्च 2017 में वृद्धावस्था पैंशन के लिए आवेदन किया था। उसकी पैंशन उसके खाते में न जाकर सिरसा निवासी कमला देवी पत्नी श्री राम स्वरूप के खाते में जा रही है। जिला समाज कल्याण अधिकारी श्रीमती सुरजीत कौर ने बताया कि गल्त कोड फीड होने के कारण यह समस्या उत्पन्न हुई है और उन्होंने विभागीय स्तर पर कार्रवाई करते हुए सिरसा निवासी कमला देवी से 11400 रूपए की रिकवरी कर ली है और शेष 13000 रूपए की राशि भी शीघ्र कवर कर ली जाएगी। उपायुक्त ने मामले की गंभीरता को देखते हुए ऐसे अन्य मामलों की भी बारीकी से जांच करने के निर्देश दिए। उन्होंने उपस्थित लोगों को बताया कि अब 20 विभागों की 214 योजनाओं के ऑनलाईन आवेदन के लिए एडीसी कार्यालय के नजदीक अंतोदय सरल केन्द्र स्थापित किया गया है और लाभार्थियों को अलग-अलग कार्यालयों में जाने की आवश्यकता नही है। 
गांव ठरवा में पानी की निकासी की समस्या के समाधान में कईं विभागों के शामिल होने के कारण उपायुक्त ने 4 सदस्यीय समिति बनाकर इस समस्या का जल्द समाधान करने के निर्देश दिए। इस समिति में एसडीएम अम्बाला छावनी सुभाष चन्द्र सिहाग के अलावा कार्यकारी अभियंता लोक निर्माण विभाग, कार्यकारी अभियंता पंचायती राज और खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी अम्बाला प्रथम को शामिल किया गया है। गांव गोला के लोगों की शिकायत थी कि किसी बाहरी कम्पनी द्वारा गोला से शेरपुर मार्ग पर पोल्ट्रीफार्म लगाया जा रहा है, जिससे आबादी के लोगों को समस्या पेश आने के साथ-साथ उसके नजदीक स्थित स्कूल व मंदिर में जाने वाले लोगों को भी दिक्कत होगी। उपायुक्त ने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस मामले में जब तक न्यायालय का स्टे है, वे कम्पनी को एनओसी न दें और बिजली निगम के अधिकारी भी बिजली कनैक्शन न देें। उन्होंने कहा कि स्टे हटने के बाद ही पूरे मामलें की जांच करने उपरांत कोई विभागीय कार्रवाई अमल में लाएं। 
गांव जोधपुर की जसविन्द्र कौर द्वारा अपनी बेटी से छेड़छाड़ के मामले में दी गई शिकायत की जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए शिकायत निवारण समिति के सदस्य साहब सिंह मोहड़ी, श्रीमती सरला कपूर और सुरेश सहोता ने बताया कि शिकायतकर्ता को अपने घर में आने-जाने में वास्तविक दिक्कत है और उन्हें सुरक्षित वातावरण मिलना चाहिए। उपायुक्त ने घर के बंटवारे का मामला सिविल कोर्ट में डालने के निर्देश देते हुए शिकायतकर्ता को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से मुफ्त कानूनी सहायता उपलब्ध करवाने की बात कही। गांव बहलौली के अमन कुमार की शिकायत थी कि उनके गांव के ही विनोद कुमार ने विदेश भेजने के नाम पर दो लाख 40 हजार रुपए हड़प लिए हैं। इस मामले की जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए डीएसपी बलजीत सिंह ने बताया कि दोषीगण के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और आगामी कार्रवाई भी अमल में लाई जा रही है। गांधी नगर बैंक कालोनी अम्बाला छावनी के शक्ति कपूर की शिकायत थी कि एडवोकेट पुनीत सिरपोल ने अपने घर के सामने 5 फुट से अधिक रैम्प बनाकर रास्ते को बंद किया हुआ है, जिससे गाड़ी इत्यादि नही निकाली जा सकती। उपायुक्त ने निगम अधिकारियों को पूरे मामले की निष्पक्ष जांच करके इस तरह के अवैध निर्माण हटवाने के निर्देश दिए और कहा कि यदि शिकायतकर्ता ने भी ऐसा अवैध निर्माण किया है तो उसे भी हटाया जाए। कृष्णा कालोनी अम्बाला शहर के वीरेन्द्र कुमार ने ऋण न मिलने, निहारसी गांव के मामचंद ने गांव से गैर कानूनी तरीके से पेड़ो की कटाई, कबीर नगर अम्बाला शहर निवासी वेद प्रकाश ने जिला कल्याण अधिकारी कार्यालय से अंतर्जातीय विवाह योजना का लाभ न मिलने तथा जन्धेड़ी निवासी पासा राम ने रसोई गैस की सब्सिड़ी उनके बैंक खाते में न आने सम्बन्धी शिकायतें रखी, जिस पर उपायुक्त ने सम्बन्धित अधिकारियों को इनके शीघ्र निपटान के आदेश दिए।
इस मौके पर पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार, एडीसी कैप्टन शक्ति सिंह, एएसपी चन्द्रमोहन,वन मंडल अधिकारी हैरतजीत कौर, एसडीएम श्रीमती मीनाक्षी दहिया, सुभाष चन्द्र सिहाग, गिरीश कुमार, नगराधीश सुशील कुमार, निगम के संयुक्त आयुक्त सत्येन्द्र सिवाच, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदिति सहित अन्य अधिकारी व समिति के गैर सरकारी सदस्य मौजूद रहे।
 
Have something to say? Post your comment