Thursday, March 21, 2019
Follow us on
Chandigarh

चंडीगढ़:एनआईटीटीआरआर, सेक्टर 26 कैम्पस में आयोजित किया गया

October 13, 2018 10:57 PM

चंडीगढ़ एंजल्स नेटवर्क (सीएएन) द्वारा शहर की सबसे बड़ी एंटरप्रेन्योरशिप सम्मिट कैनाबेल 2.0 आज यहां एनआईटीटीआरआर, सेक्टर 26 कैम्पस में आयोजित किया गया। इस दौरान सामाजिक प्रभाव के लिए स्थिरता के मुद्दों को हल करने के लिए स्टार्ट-अप की आवश्यकता पर केंद्रित चर्चा की गई।

सम्मिट में 350 से अधिक स्टार्टअप्स और युवा महत्वाकांक्षी उद्यमियों ने हिस्सा लिया, जिनमें हरटेक से सिमरप्रीत सिंह, अर्थर.ओआरजी से कुणाल नंदवानी, एम्ब्रोस ऑटोमोटिव्स के अशोक मेहता, यूट्रेड के आशीष ग्रोवर जैसे कई निवेशकों ने सम्मिट में शामिल डेलीगेट्स को संबोधित किया।

प्रो. श्याम सुंदर पटनायक, डायरेक्टर, एनआईटीटीआरटी, एसटीपीआई निदेशक अजय श्रीवास्तव ने भी सम्मिट में हिस्सा लिया।

पटियाला में हर्ष कोठारी के स्टार्टअप प्रोजेक्ट ‘हर हाथ कलम’ ने काफी प्रशंसा प्राप्त की, जिसमें भीख मांगने वाले बच्चों को स्कूल में लेकर जाया जा रहा है और इससे पटियाला में बच्चों द्वारा भीख मांगने के मामले 60 प्रतिशत तक कम हो गए हैं। इस प्रोजेक्ट के सामाजिक प्रभावों पर विस्तार से चर्चा की गई।

इस दौरान विभिन्न विषयों पर चर्चा की गई। जिनमें फंड्स जुटाने, विफलता और स्थायित्व का जश्न मनाने वाले विषयों पर पैनल चर्चा काफी विस्तृत हुई। इसका उद्देश्य ऐसे उद्यमियों को गाइड करना था, जो कि अपने स्टार्टअप्स शुरू करना चाहते हैं।

200 आवेदकों में से तीन स्टार्ट-अप भी चुने गए जिन्होंने निवेशकों को अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए अपने प्रोजेक्ट्स को फंडिंग के लिए सबके सामने प्रस्तुत किया।

दिल्ली के गौरव शर्मा ने ड्राइव ट्रैकर को प्रस्तुत किया जो कि बड़ी कंपनियों को व्हीकल पिकअप और ड्रॉप सर्विस प्रदान करता है। इस स्टार्टअप की सफलता इसी तथ्य से प्रमाणित होती है कि बीते 10 महीनों में इस स्टार्टअप ने 1 करोड़ रुपए की टर्नओवर हासिल की है। कंपनी अपना संचालन बढ़ाने के लिए 1 करोड़ रुपए की फंडिंग प्राप्त करना चाहती है।

चंडीगढ़ स्टार्टअप ‘रोल एक्सप्रेस’ ने अपने मौजूदा 19 आउटलेट से 75 लाख रुपए की बिक्री की है। स्टार्टअप दिसंबर 2019 तक अपने आउटलेट्स की संख्या 100 तक लेकर जाने के लिए 1 करोड़ रुपए की फंडिंग प्राप्त करना चाहती है।

वहीं जालंधर स्थित इलेक्ट्रिक रिक्शा और पिकअप निर्माता, रीपब्लिक मोटर्स ने 500 से अधिक वाहनों को सफलतापूर्वक बेचा है और कंपनी आरएंडडी और मार्केटिंग के लिए 2 करोड़ रुपए की फंडिंग प्राप्त करना चाहती है।

 
Have something to say? Post your comment