Saturday, February 16, 2019
Follow us on
Haryana

युवा पीढ़ी किसी भी देश की रीढ़ होती है: सत्यदेव नारायण आर्य

October 12, 2018 07:10 PM
युवा पीढ़ी किसी भी देश की रीढ़ होती है, इसलिए राष्ट्र की इस रीढ़ को मजबूत करने के लिए युवाओं को वैश्विक समझ के साथ संस्कारवान बनाना होगा तभी युवा विश्व में शांन्ति सदभाव, पर्यावरण संरक्षण व अन्य ग्लोबल विषयों पर ध्यान आकर्षित कर पाएंगे। 
यह विचार हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने आज यहां राजभवन में श्रीलंका युवा प्रतिनिधिमण्डल से बातचीत में सांझा किये। यह आयोजन अंतर्राष्ट्रीय युवा विनिमय कार्यक्रम के तहत किया गया। 39 सदस्यीय प्रतिनिधिमण्डल ने आज वैश्विक शान्ति, सदभाव, सामाजिक, सांस्कृतिक व पर्यावरण जैसे मुद्दों पर खुल कर बातचीत की। केन्द्रीय युवा व खेल मंत्रालय के राजीव गांधी राष्ट्रीय युवा विकास संस्थान के समन्वयक डॉ० कोटू शेखर ने इस प्रतिनिधिमण्डल को राज्यपाल श्री आर्य से मिलवाया। सुश्री शीला शर्मा ने युवाओं से जुड़े राजीव गांधी राष्ट्रीय युवा विकास संस्थान के कार्यक्रमों की जानकारी दी।
राज्यपाल श्री आर्य ने कहा कि भारत को युवा देश के रूप में जाना जाता है क्ंयंोकि 65 प्रतिशत आबादी 15 से 60 आयु वर्ग के बीच की है, जबकि 54 प्रतिशत आबादी 25 वर्ष से कम युवाओं की है। यही वर्ग देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है और प्रत्येक प्रकार की सांस्कृतिक, शैक्षिणक व सामाजिक गतिविधियों में बढ़-चढ़ कर भाग लेता है, जिससे देश-दूनिया का भविष्य तय होता है। इस प्रकार के सम्बन्ध बढ़ाने में भारत और श्रीलंका के युवाओं ने आगे बढ़-चढक़र भाग लिया है। देश में खेलों एवं सांस्कृतिक आयोजन में भाग लेने से दोनो देश के युवाओं में समन्वय स्थापित होता है। जिससे दोनों देशों के सम्बन्ध मजबुत हुए है और दोनो देशों की प्रगति में नए आयाम जुड़े है। 
उन्होने कहा कि युवा वर्ग ही देश में सामाजिक समरसता व सद्भावना का माहौल कायम रख सकता है। इसलिए युवा विकास संगठनों की भूमिका और जवाबदेह होती है। युवाओ को चाहिए कि वें इन संगठनों से जुडकर राष्ट्र और समाज के विकास में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें। इसी उद्देश्य से युवाओं का विदेश भ्रमण केन्द्रीय मंत्रालय द्वारा विभिन्न संगठनों के माध्यम से करवाया जाता है। केन्द्र व राज्य सरकारें भारतीय युवाओं को शिक्षा कौशल, विकास, उद्यमिता स्वास्थ्य खेल सामाजिक मूल्य, युवा जुड़ाव, इत्यादि जैसे प्रमुख क्षेत्रों में उत्कृष्टता प्राप्त करने में सशक्त बनाने का कार्य करती है।
श्री आर्य ने कहा कि हरियाणा राज्य में युवा शक्ति को चैनेलाइज करने के लिए शिविरों, सेमीनार, सांस्कृतिक वर्कशाप, साहसिक कार्यक्रम, वाटर स्पोट्र्स एंव पर्वतारोहण जैसी गतिविधियां आयोजित की जाती है। इसके साथ-साथ राज्स सरकार द्वारा प्रवासी भारतीयों के लिए भारत सरकार के सहयोग से पिछले दिनों 41वें ‘नॉ इंडिया प्रोग्राम’ (्यठ्ठश2 ढ्ढठ्ठस्रद्बड्ड क्कह्म्शद्दह्म्ड्डद्व) का सफल आयोजन भी किया गया। इसके साथ-साथ प्रदेश के प्रत्येक जिले में स्वर्ण जयंती युवा विकास केन्द्रो की भी स्थापना की जा रही है। 
श्रीलंका के युवा खेल परिषद् श्री शरथ चन्द्रपाला ने अपने देश में युवाओं से संबन्धित चलाई जाने वाली गतिविधियों के बारे में बताया उन्होने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर गठित युवा संगठन विश्व की समरस्ता में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहे है। इस अवसर पर युवा प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य को शॉल भेंट कर सम्मानित किया। राज्यपाल श्री आर्य ने भी प्रतिनिधिमंडल को स्मृति चिन्ह प्रदान किया।
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
Services of 629 striking NHM workers terminated in Gurugram फरीदाबाद से ही लड़ूंगा चुनाव : भड़ाना लखनऊ में गुरुवार को फिर से कांग्रेस में शामिल हुए अवतार सिंह भड़ाना सर्व कर्मचारी संघ ने किया आंदोलन का ऐलान HARYANA-डीजीपी के लिए यूपीएससी की मीटिंग, मंगलवार तक भेजा जा सकता है पैनल HARYANA-प्राइमरी स्कूलों के टीचर करा सकेंगे गृह जिलों में ट्रांसफर, गेस्ट-एडहॉक को भेज सकते हैं दूर HARYANA-अपने जिंदा होने का प्रमाण ना देने से अटकी है 44 हजार सेवानिवृत्त कर्मचारियों की पेंशन HARYANA-700 और एनएचएम कर्मी बर्खास्त, तीन दिन के लिए बढ़ी हड़ताल गन्नौर में एग्री समिट : केंद्रीय मंत्री ने धनखड़ पर कसा तंज सोनीपत के राई में वारदात : स्टेट चैंपियन खिलाड़ी की हत्या पंचकूला-बलटाना बॉर्डर मामला, दोनों डीसी की अध्यक्षता में रेवेन्यु �ऑफिसर्स की मीटिंग