Thursday, December 13, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
उन्होंने और युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों पर चलने का निर्णय लिया:दिग्विजय चौटालाप्रदेश के 44 खिलाडिय़ों को नौकरी देने की प्रक्रिया शीघ्र पूरी की जाएगी:विजभोपाल: कांग्रेस दफ्तर के बाहर लगे पोस्टर में कमलनाथ को CM बनने पर दी बधाईभोपाल: कांग्रेस दफ्तर के बाहर लगे पोस्टर में कमलनाथ को CM बनने पर दी बधाईजयपुर: सचिन पायलट के घर के बाहर जुटे समर्थक, कर रहे नारेबाजी J-K: बारिश और भारी बर्फबारी के कारण उधमपुर नेशनल हाइवे पर 2 दिन से फंसे हैं वाहनआंध्र में 15 दिसंबर से भारी बारिश की चेतावनी, समुद्र में मछुआरों के जाने पर मनाहीहरियाणा पुलिस ने चलाया एंटी-ड्रग अभियान, भारी मात्रा में नशीला पदार्थ बरामद ,286 आरोपी गिरफ्तार
Haryana

हरियाणा राज्य में 10 अक्तूबर, 2018 तक 4 लाख एक हजार हैक्टेयर क्षेत्र में धान की कटाई हो चुकी

October 11, 2018 06:46 PM

हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेश में फसल अवशेषों को जलाने से रोकने के लिए किए गये ठोस प्रयासों से धान के चालू मौसम में पराली जलाए जाने के मामलों में उल्लेखनीय कमी आई है। राज्य में 10 अक्तूबर, 2018 तक 4 लाख एक हजार हैक्टेयर क्षेत्र में धान की कटाई हो चुकी है। इसमें से केवल 735 हैक्टेयर क्षेत्र में 459 स्थानों पर पराली जलाए जाने के मामले प्रकाश में आए हैं। यह कुल क्षेत्र का एक प्रतिशत से भी कम है।

यह जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि प्रदेश में राज्य की विभिन्न मंडियों में अब तक 20 लाख टन धान की आवक हुई है। उन्होंने बताया कि हरियाणा में 13 लाख हैक्टेयर क्षेत्र पर धान की बुआई की गई है जिसमें से अधिकतर क्षेत्र जिला करनाल, कैथल, जींद, कुरुक्षेत्र और फतेहाबाद में आता है।

        उन्होंने बताया कि पराली न जलाने के लिए सरकार की विभिन्न एजेंसियों ने व्यापक सूचना एवं शिक्षा अभियान चलाया है। इसके फलस्वरूप ये सकारात्मक परिणाम आ रहे हैं। इस अभियान में उपायुक्तों, उप-मंडल अधिकारियों और अन्य अधिकारियों ने गांव-गांव जाकर किसानों को जागरूक व प्रेरित किया। उन्होंने किसानों को खेत में ही फसल अवशेष प्रबन्धन मशीनरी और उपकरणों की खरीद के लिए सरकार द्वारा दी जा रही वित्तीय सहायता की जानकारी भी दी। उन्होंने विश्वास प्रकट किया कि सरकार के इन प्रयासों के फलस्वरूप जल्द ही पराली जलाए जाने के मामले हरियाणा में पूरी तरह से समाप्त हो जाएंगे।

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि राज्य सरकार ने इस वित्त वर्ष के दौरान किसानों को कृषि इनपुट्स की खरीद के लिए 98 करोड़ रुपये की राशि सब्सिडी के रूप में प्रदान की है। प्रदेश में 857 कस्टम हायरिंग सेंटर स्थापित किए गए हैं और 2867 किसानों को कृषि इनपुट्स की खरीद पर सब्सिडी दी गई है।

प्रवक्ता ने बताया कि इसके अतिरिक्त, सरकार ने ‘खेत में ही फसल अवशेष प्रबंधन के लिए मशीनीकरण को बढ़ावा देने हेतु फसल अवशेष प्रबंधन पर नई केन्द्रीय योजना’ के तहत राज्य व जिला स्तरीय निगरानी समितियों का गठन किया है। इस योजना के संचालन के लिए यह समिति नोडल एवं अन्य संबंधित विभागों के साथ नियमित बैठकों का आयोजन करके योजना के क्रियान्वयन की देखरेख कर रही है।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
उन्होंने और युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों पर चलने का निर्णय लिया:दिग्विजय चौटाला प्रदेश के 44 खिलाडिय़ों को नौकरी देने की प्रक्रिया शीघ्र पूरी की जाएगी:विज हरियाणा पुलिस ने चलाया एंटी-ड्रग अभियान, भारी मात्रा में नशीला पदार्थ बरामद ,286 आरोपी गिरफ्तार कुरुक्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव का शुभारंभ पांच राज्यों की हार का गीता जयंती महोत्सव पर पड़ा असर, बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कुरुक्षेत्र दौरा किया रद्द If new house is in wife or kid’s name, no tax benefit’ Jats get maximum seats in House followed by Rajputs Jats got 37 seats in the state assembly followed by Raputs with 17 seats 'गर्भवती महिलाओं की परफॉर्मेंस पर एम्प्लॉयर को रखनी चाहिए सहानुभूति' Cong accuses state poll panel of delaying probe against Grover Birender rules out simultaneous LS, assembly polls in Haryana