Saturday, June 06, 2020
Follow us on
Business

महिंद्रा म्यूचुअल फंड ने लाॅन्च की ‘महिंद्रा रूरल भारत एंड कंसम्प्शन योजना

October 11, 2018 06:42 PM

ग्रामीण भारत के निवेश क्षेत्रों में खेती, ग्रामीण बुनियादी ढांचा, खपत और वित्तीय सेवाएं शामिल हैं।शुरुआती निवेश के लिए नया फंड खुलेगा 19 अक्टूबर, 2018 से 02 नवंबर, 2018 तक।महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (एमएमएफएसएल) के पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक इकाई महिंद्रा म्यूचुअल फंड ने नई, ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम ‘महिंद्रा रूरल भारत एंड कंसम्प्शन योजना‘ लाॅन्च की है। यह योजना लंबी अवधि में पूंजी वृद्धि की उम्मीद के साथ ग्रामीण भारत में आय और उच्च विकास का लाभ उठाने के लिए इक्विटी और इक्विटी से संबंधित इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश करने के इच्छुक निवेशकों के लिए है।

 

महिंद्रा म्यूचुअल फंड के सीएमओ श्री जतिन्दर पाल सिंह ने कहा, ‘‘यह योजना ग्रामीण संस्थाओं में संरचनात्मक बदलाव और विकास से लाभ उठाने वाली संस्थाओं और व्यवसायों में निवेश करके पूंजी अधिमूल्यन उत्पन्न करने का प्रयास करेगी। इसमें कई ऐसे क्षेत्रों को शामिल किया जाएगा, जिनके ग्रामीण भारत की आय और उपभोग में सुधार के कारण लगातार लाभान्वित होने की संभावना है। मिट्टी स्वास्थ्य कार्ड, फसल बीमा, उच्च एमएसपी, ई-मंडी और कृषि आय के दोगुनी करने के प्रयास जैसे विभिन्न संरचनात्मक सुधार पहलों के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में आय में तेजी से बढ़ोतरी नजर आने लगी है।‘‘

 

एनएफओ (न्यू फंड आॅफर) 19 अक्टूबर 2018 को खुलेगा और 2 नवंबर 2018 को बंद होगा। यह योजना आगामी निरंतर बिक्री और पुनर्खरीद के लिए अलाॅटमेंट की तारीख के 5 दिनों के भीतर फिर से खुलेगी।

 

महिंद्रा म्यूचुअल फंड के एमडी और सीईओ श्री आशुतोष विश्नोई ने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि सकारात्मक जनसांख्यिकीय लाभांश और ग्रामीण भारत से उपभोग पैटर्न में सुधार से देश के सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि में अच्छा योगदान दिया जाएगा। ‘महिंद्रा रूरल भारत एंड कंसम्प्शन योजना‘ निवेशकों को मजबूत और प्रसिद्ध कंपनियों के अच्छी तरह से विविध इक्विटी पोर्टफोलियो में निवेश करके ग्रामीण भारत की विकास की कहानी में भाग लेने का अवसर प्रदान करती है। हमारा मानना है कि यह योजना एक आकर्षक दीर्घकालिक निवेश अवसर प्रदान करती है, इसलिए ऐसे निवेशक जो अपने निवेश से उच्च स्तर के पूंजी अधिमूल्यन की उम्मीद करते हैं, उनके लिए यह योजना उपयुक्त है और ऐसे निवेशकों को ‘महिंद्रा रूरल भारत एंड कंसम्प्शन योजना‘ में भाग लेने पर विचार करना चाहिए।‘

 

चीफ इक्विटी स्ट्रेटेजिस्ट श्री वेंकटरामन बालासुब्रमण्यम कहते हैं, ‘‘महिंद्रा म्यूचुअल फंड की महिंद्रा रूरल भारत एंड कंसम्प्शन योजना निवेशकों को भारत की बढ़ती जीडीपी में सबसे मजबूत योगदान देने वाले सेगमेंट में निवेश करने का अवसर प्रदान करेगी। यह फंड करेंसी मूवमेंट्स जैसे ग्लोबल अस्थिरता आदि से जुड़े सेगमेंट्स पर केंद्रित होगा और उन कंपनियों में निवेश करेगा, जो ग्रामीण भारत में अंडर-पेनिट्रेशन अपाॅच्र्यूनिटीज को पकडना चाहती हैं।‘‘

 

योजना के तहत ग्रामीण भारत के संपर्क में आने वाली इकाइयों के इक्विटी और इक्विटी से संबंधित इंस्ट्रूमेंट्स में कम से कम 80 प्रतिशत राशि निवेश की जाएगी और ग्रामीण भारत के संपर्क के अलावा अन्य संस्थाओं के इक्विटी और इक्विटी से जुड़े उपकरणों में 20 प्रतिशत तक का निवेश करेगी। यह योजना ऋण और मनी मार्केट सिक्योरिटीज में 20 प्रतिशत तक और आरईआईटी और आईएनवीआईटी इनवेंट द्वारा जारी यूनिट्स में 10 प्रतिशत तक निवेश करेगी।

 

 

 

 

महिंद्रा म्यूचुअल फंड के बारे में

कंपनी अधिनियम, 1956 के तहत निगमित एक कंपनी महिंद्रा एसेट मैनेजमेंट कंपनी प्राइवेट लिमिटेड, महिंद्रा म्यूचुअल फंड के लिए निवेश प्रबंधक है। यह महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (एमएमएफएसएल) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है।

महिंद्रा म्यूचुअल फंड ग्रामीण और अर्ध-शहरी इलाकों में विशेष ध्यान देने के साथ, भारत में विभिन्न म्यूचुअल फंड योजनाओं की पेशकश करता है।

वैधानिक विवरणः महिंद्रा म्यूचुअल फंड को भारतीय ट्रस्ट अधिनियम, 1882 के तहत एक ट्रस्ट के रूप में गठित किया गया है। प्रायोजकः महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (प्रायोजक की देनदारी सीमित 1,00,000/- तक) ट्रस्टीः महिन्द्रा ट्रस्टी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड निवेश। प्रबंधकः महिंद्रा एसेट मैनेजमेंट कंपनी प्राइवेट लिमिटेड। प्रायोजक, ट्रस्टी और निवेश प्रबंधक कंपनी अधिनियम, 1956 के तहत शामिल किए गए हैं।

 

महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंषियल सर्विसेज लिमिटेड के बारे में

महिंद्रा ग्रुप का हिस्सा महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (महिंद्रा फाइनेंस) भारत की अग्रणी गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियों में से एक है। ग्रामीण और अर्द्ध-शहरी क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करते हुए आज कंपनी के 5.5 मिलियन से अधिक ग्राहक हैं और 8.5 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक का एयूएम है। कंपनी एक अग्रणी वाहन और ट्रैक्टर फाइनेंसर है और फिक्स्ड डिपाॅजिट और एसएमई को ऋण भी प्रदान करती है। कंपनी के देश भर में 1291 कार्यालय हंै जिनके जरिये वह 3,50,000 गांवों और 700 शहरों में फैले ग्राहकों के संपर्क में रहती है।

 

डॉव जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स का एक हिस्सा बनने वाली भारत की पहली गैर बैंकिंग फाइनेंस कंपनी है। ग्रेट प्लेस टू वर्क® इंस्टीट्यूट द्वारा घोषित इंडियाज बेस्ट कंपनीज टू वर्क फाॅर 2018 के तहत महिंद्रा फाइनेंस को 14 वें स्थान पर रखा गया है। इकोनाॅमिक टाइम्स ने कंपनी को एआॅन बेस्ट एम्प्लायर 2017 और बेस्ट बीएफएसआई ब्रांड्स 2018 में शामिल किया है।

कंपनी का संयुक्त राज्य अमेरिका में एक संयुक्त उद्यम महिंद्रा फाइनेंस यूएसए है, यह अमेरिका में राबो बैंक की सहायक कंपनी डे लागे लैंडन के साथ साझेदारी में है और जो अमेरिका में महिंद्रा ट्रैक्टरों के वित्तपोषण का काम कर रही है।

कंपनी की बीमा ब्रोकिंग सहायक कंपनी महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स लिमिटेड (एमआईबीएल) एक लाइसेंस प्राप्त कम्पोजिट ब्रोकर है जो डायरेक्ट एंड रीइंश्योरेंस ब्रोकिंग सर्विसेज प्रदान करती है।

महिंद्रा फाइनेंस लिमिटेड की महिंद्रा ग्रामीण हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (एमआरएचएफएल) देश के ग्रामीण क्षेत्रों में व्यक्तियों को खरीद, मरम्मत, घरों के निर्माण के लिए ऋण प्रदान करती है।

महिंद्रा के बारे में

महिंद्रा ग्रुप 20.7 बिलियन अमेरिकी डॉलर की कंपनियों का फेडरेशन है जो लोगों को आवागमन के नए समाधान, ग्रामीण समृद्धि को बढ़ावा, शहरी जीवन के विस्तार, नए व्यवसायों का पोषण करने और समुदायों को बढ़ावा देने में सक्षम बनाता है। उपयोगी वाहनों, सूचना प्रौद्योगिकी, वित्तीय सेवाओं और वैकेशन के मामले में इसकी स्थिति एक नेतृत्वकारी की रही है और उत्पादों की संख्या के आधार पर यह दुनिया की सबसे बड़ी ट्रैक्टर कंपनी है। महिंद्रा, कृषि व्यवसाय, खाद, वाणिज्यिक वाहनों, परामर्श सेवाओं, ऊर्जा, औद्योगिक उपकरण, रसद, रियल एस्टेट, स्टील, एयरोस्पेस, डिफेंस और टू-व्हीलर में अपनी मजबूत उपस्थिति का भी आनंद उठाता है। भारत में मुख्यालय वाला महिंद्रा 100 देशों के 2,40,000 से अधिक लोगों को रोजगार देता है।

Have something to say? Post your comment
 
More Business News
मई में बेरोजगारी दर स्थिर, करीब 24% लोग अब भी बेरोजगार Ice cream cos start home delivery as sales dive 40%
रिजर्व बैंक ने बड़ी राहत देते हुए रेपो रेट में 0.40 फीसदी की कटौती का किया ऐलान,ईएमआई देने पर मिली तीन महीने की और छूट
भारतीय शेयर बाजार में निराशा का माहौल, शुरुआती कारोबार में सेंसेक्‍स 600 अंक लुढ़का आर्थिक पैकेज के ऐलान के बाद शेयर बाजार में रौनक, सेंसेक्‍स में 1100 अंक की तेजी शेयर बाजार में भारी गिरावट, 1469 अंक टूट गया सेंसेक्स In a first, auto firms post nil sales in Apr SLIGHT RESPITE : Some of them managed to restart exports अंबानी नहीं लेंगे वेतन, स्टाफ की सैलरी में कटौती रिटेल यूनिट का लाभ 33% बढ़ा Q4 में RIL का नेट प्रॉफिट 37% घटा यस बैंक मामले में कपिल और धीरज वधावन की सीबीआई कस्टडी 1 मई तक बढ़ी