Tuesday, December 11, 2018
Follow us on
Haryana

वर्ष 2018-19 के लिए ‘विश्वविद्यालय कार्यकारी विद्यार्थी परिषद्’ के गठन के लिए छात्र चुनाव का कार्यक्रम घोषित किया

October 11, 2018 03:52 PM

जेसी बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए फरीदाबाद ने अकादमिक वर्ष 2018-19 के लिए ‘विश्वविद्यालय कार्यकारी विद्यार्थी परिषद्’ के गठन के लिए छात्र चुनाव का कार्यक्रम घोषित किया है तथा छात्र चुनाव के सुचारू संचालन के लिए डीन स्टूडेंट वेलफेयर डॉ. नरेश चौहान को विश्वविद्यालय चुनाव अधिकारी नियुक्त किया है। विश्वविद्यालय में छात्र चुनाव 17 अक्तूबर, 2018 को होंगे।

विश्वविद्यालय ने आज अपनी कार्यकारी की बैठक में छात्र चुनाव करवाने के लिए गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के कुलपति प्रो. टंकेशवर कुमार की अध्यक्षता वाली समिति की सिफारिशों को अनुमोदित किया। उल्लेखनीय है कि हरियाणा के महाविद्यालयों व विश्वविद्यालय में 22 वर्षों के अंतराल के बाद छात्र चुनाव आयोजित किये जा रहे है। छात्र चुनाव को शांतिपूर्ण, पारदर्शी, स्वतंत्र व निष्पक्ष करवाने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा सभी तरह के प्रबंध किये जा रहे है।

विश्वविद्यालय में पहले विद्यार्थी परिषद् चुनाव के लिए विद्यार्थियों को शुभकामनाएं देते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि छात्र चुनाव विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय प्रशासन के साथ संरचित साझेदारी में विश्वविद्यालय की प्रगति व अकादमिक विकास के लिए काम करने का अवसर प्रदान करते है। यह विद्यार्थियों को परस्पर विचारों को लेकर चर्चा, बहस व संवाद का अवसर प्रदान करते है, जिससे उनकी नेतृत्व क्षमता का भी विकास होता है। उन्होंने विद्यार्थियों से चुनावों को सक्रिय भागीदारी तथा चुनाव आचरण व निर्देशों का पालन करने का आह्वान किया। उन्होंने विद्यार्थियों से चुनाव के दौरान परिसर में शांति व अकादमिक माहौल बनाये रखने की अपील भी की है।

विश्वविद्यालय कार्यकारी विद्यार्थी परिषद् में चार पदाधिकारी तथा पांच सदस्य रहेंगे। परिषद् के पदों में एक पद अध्यक्ष, एक पद उपाध्यक्ष, एक पद सचिव तथा एक पद संयुक्त सचिव का होगा। विश्वविद्यालय द्वारा संयुक्त सचिव का पद लॉटरी के ड्रा से छात्रा उम्मीदवार के लिए आरक्षित कर दिया है। इसके अलावा, परिषद् के पांच सदस्य विभिन्न संकायों से होंगे। इनमें दो सदस्य फैकल्टी आफ इंजीनियरिंग व टैक्नोलॉजी, एक-एक सदस्य फैकल्टी आफ ह्युमेनिटीज व साइंसेज, फैकल्टी आफ मैनेजमेंट तथा फैकल्टी आफ इंफोमैटिक एंड कम्प्यूटिंग से होगा। परिषद् का एक सदस्य डीन स्टूडेंट वेलफेयर द्वारा मनोनीत किया जायेगा।

विश्वविद्यालय द्वारा चुनाव कार्यक्रम अधिसूचित तथा जारी किया गया है। कार्यक्रम के अनुसार, पात्र विद्यार्थियों से कक्षा प्रतिनिधियों के लिए 12 अक्तूबर, 2018 को सुबह 10 बजे से सायं 4 बजे तक नामांकन आमंत्रित किये गये है, जिसके लिए नामांकन फार्म संबंधित विभागाध्यक्षों के कार्यालय से प्राप्त किये तथा जमा किये जा सकते है। इसी दिन नामांकन फार्म की छंटाई भी की जायेगी और सायं 5 बजे नामांकित उम्मीदवारों की सूची प्रदर्शित की जायेगी। नामांकन उम्मीदवारों के संबंध में आपत्तियां 13 अक्तूबर, 2018 को सुबह 10 बजे तक प्राप्त की जायेगी। इसी दिन दोपहर 12 बजे तक नामांकित उम्मीदवारों को नाम वापसी की अनुमति दी जायेगी और उम्मीदवारों की अंतिम सूची 13 अक्तूबर को सायं 4 बजे प्रदर्शित की जायेगी। सभी कक्षा प्रतिनिधियों के चुनाव संबंधित विभागों में 17 अक्तूबर को प्रात: 9:30 बजे से प्रात: 11:30 बजे आयोजित किये जायेंगे। चुनाव के तुरंत बाद इसी दिन मतगणना होगी तथा 17 अक्तूबर को दोपहर 1 बजे कक्षा प्रतिनिधियों के परिणाम घोषित कर दिये जायेंगे।

कक्षा प्रतिनिधियों के चुनाव के बाद 17 अक्तूबर को कार्यकारी विद्यार्थी परिषद् के पदाधिकारियों तथा सदस्यों का चुनाव विश्वविद्यालय के मल्टीमीडिया सेंटर में होगा, जिसमें सभी चुने गये कक्षा प्रतिनिधि दोपहर 2 बजे से 2:30 बजे तक विभिन्न पदों के लिए अपना नामांकन भर सकेंगे। इसके बाद नामांकन पत्रों की जांच व छंटाई की जायेगी तथा उम्मीदवारों को नामांकन वापसी का समय दिया जायेगा और दोपहर 3:30 बजे तक कार्यकारी विद्यार्थी परिषद् के लिए उम्मीदवारों की अंतिम सूची जारी कर दी जायेगी। इसी दिन दोपहर 3:30 बजे से सायं 5:30 बजे तक मतदान होगा और मतदान के तुरंत बाद मतगणना की जायेगी और सायं 5:45 बजे तक चुनाव परिणाम घोषित कर दिया जायेगा।

इस संबंध में जानकारी देते हुए डीन स्टूडेंट वेलफेयर डॉ. नरेश चौहान ने बताया कि चुनाव लडऩे के सभी विद्यार्थियों को टंकेशवर समिति की सिफारिशों के अनुरूप आचरण, पात्रता तथा निर्देश व प्रक्रिया का पालन करना होगा। समिति की सिफारिशों को विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर देखा जा सकता है।

उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय ने सुचारू चुनाव करवाने तथा अनुशासन बनाये रखने के लिए जरूरी कदम उठाये है। इसके अंतर्गत विश्वविद्यालय परिसर में बाहर के विद्यार्थियों तथा अनाधिकृत वाहनों के प्रवेश के प्रवेश पर तुरंत प्रभाव से रोक लगा दी गई है। विश्वविद्यालय पुलिस व जिला प्रशासन के साथ निरंतर संपर्क में है और चुनाव प्रक्रिया संपन्न होने तक विश्वविद्यालय में कानून व व्यवस्था बनाये रखने के लिए पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती का आग्रह किया गया है। इसके साथ-साथ विश्वविद्यालय में लगाये गये सीसीटीवी कैमरे के पूर्णत: जांच करने तथा चुनाव संपन्न होने तक कैमरे की रिकार्ड सुरक्षित रखने के निर्देश दिये गये है।

Have something to say? Post your comment