Wednesday, December 12, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव 16 दिसंबर से शुरू होंगे जिनका उदघाटन मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल गुरूग्राम से करेंगे 10 जनवरी से लेकर 14 जनवरी तक हिसार में राष्टï्रीय स्कूल खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगाजल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय जल पुरस्कार 2018 के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए जम्मू कश्मीर के पुंछ में पाकिस्तान की ओर से भारी गोलीबारीउत्तराखंड: 2016 रेप केस के आरोपी को देहरादून कोर्ट ने दी मौत की सजादिल्ली: कीर्ति नगर फर्नीचर मार्केट में भीषण आग, मौके पर 20 दमकल गाड़ियांजयपुर में CM पर घमासान, कांग्रेस दफ्तर के बाहर RAF, पुलिस तैनातआलाकमान तय करेंगे CM पर फैसला, फैसले का करेंगे सम्मान: सिंधिया
Haryana

सरकार और विभाग कृषि क्षेत्र में निवेश के लिए हर तरह का सहयोग करेगी:धनखड

October 11, 2018 03:48 PM

हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री ओमप्रकाश धनखड ने विभिन्न देशों के प्रतिनिधियों को हरियाणा में आकर कृषि क्षेत्र में काम करने का न्यौता दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार और विभाग कृषि क्षेत्र में निवेश के लिए हर तरह का सहयोग करेगी।

        कृषि मंत्री आज गुरुग्राम के वेस्टिन होटल में आयोजित 32वीं वल्र्ड यूनियन ऑफ हॉलसेल मार्केट कांफ्रेंस में नई तकनीक, आधुनिकीकरण एवं मार्केट नेटवर्किंग विषय को लेकर आयोजित विभिन्न देशों के प्रतिनिधियों के सेमीनार में बोल रहे थे। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि अब ग्लोबल विलेज कांसेप्ट आ गया है। ऐसे में सभी देशों को एक दूसरे के अनुभव सांझे करते हुए कृषि क्षेत्र को आगे बढऩे की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पांच राष्ट्रीय राजमार्ग हरियाणा से निकलते हैं और इस दृष्टि से कृषि क्षेत्र में निवेश की दृष्टि से हरियाणा बेहतरीन जगह है। इसलिए सभी देश व्यापार की दृष्टि से भी हरियाणा को चुन रहे हैं। हरियाणा में निवेशकों और उत्पादकों को नई दिल्ली और चंडीगढ़ के दो अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डों का लाभ भी मिलता है। हरियाणा के किसान अब मार्डन हो चले हैं। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में हरियाणा में निवेश करने वाले देशों को प्रदेश सरकार और कृषि विभाग बेहतर सहयोग को तत्पर है।

        उन्होंने कहा कि हरियाणा में कृषि क्षेत्र से संबंधित तीन विश्वविद्यालय हैं। करनाल में महाराणा प्रताप बागवानी विश्वविद्यालय खोला जा रहा है। हिसार में एशिया का सबसे बड़ा  कृषि विश्वविद्यालय और पशुपालन विश्वविद्यालय है। उन्होंने कहा कि हरियाणा अब कृषि क्षेत्र में आधुनिक विचार और तकनीक के साथ आगे बढ़ रहा है। ईज ऑफ डूईंग बिजनेस में हरियाणा देश में तीसरे और उत्तर भारत में पहले नंबर पर है। उन्होंने कहा कि आज का समय सभी देशों को एक साथ मिलकर अपने अनुभव सांझा करते हुए काम करने का है। उन्हें विश्वास है कि ऐसे कार्यक्रमों से न केवल कृषि क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा, बल्कि दुनिया के देश एक दूसरे से सीखकर खाद्य सुरक्षा और ताजा उत्पादकों के मामले में भी आगे बढ़ेंगे।

        सेमीनार में टयूनेशिया दूतावास के बौजडारिया जामेल ने कहा कि हरियाणा फल और सब्जी सहित कृषि क्षेत्र में जाना माना नाम है। कई ऐसे क्षेत्र और उत्पाद हैं, जिनकों लेकर टयूनिशिया और हरियाणा काम कर सकते हैं। उन्होंने चावल, गेंहू और चीनी का हरियाणा से आयात करने की ईच्छा जाहिर की। उन्होंने टयूनेशिया में ऑरगेनिक फार्मिंग के क्षेत्र में अपने गए तकनीकों सहित अन्य जानकारियां भी दी।

        फ्रांस दूतावास की फ्रनकुश मोरीन ने अपने प्रजेंटेशन में बताया कि फल व सब्जी के क्षेत्र में फ्रांस कैसे एक उत्पादक से लेकर उपभोक्ता तक ताजा उत्पाद पहुंचाया जाता है। उन्होंने बताया कि फ्रांस में फलों के लगभग 27500 और सब्जी के लगभग 30800 फार्म हैं। इन फार्मों से खरीददार सीधे उत्पाद खरीदतें हैं। सेमीनार में आस्टे्रलिया दूतावास के एनीरबन डेब ने बताया कि उनके देश में खाद्य सुरक्षा को लेकर किस प्रकार से कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आस्ट्रेलिया और हरियाणा का मौसम लगभग एक जैसा ही है। आस्टे्रलिया में बहुत कम क्षेत्र में बागवानी होती है और चुनिंदा फल ही उगाए जाते हैं। ऐसे में आस्टे्रलिया जरूरत के हिसाब से फलों का आयात और निर्यात करता है। 

        सेमीनार में हरियाणा राज्य औधोगिक एवं आधारभूत संरचना विकास निगम के मनोज कुमार ने प्रदेश में औधोगिक क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी और बताया कि प्रदेश में एकल सुविधा केन्द्र की स्थापना की गई है, जिसके माध्यम से निवेशक सिंगल विंडो पर औधोगिक विभाग से जुड़ी सारी सेवाएं उपलब्ध कर सकते हैं।

        सेमीनार में हरियाणा की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती नवराज संधु, कृषि विभाग के निदेशक श्री डी के बेहरा, कृषि विपणन बोर्ड के मुख्य प्रशासक श्री हरदीप सिंह व डॉ. आर एस ढिल्लो, मार्केटिंग बोर्ड की चेयरपर्सन श्रीमती कृष्णा गहलावत सहित इथोपिया, दक्षिण  अफ्रीका, स्पेन व इटली आदि देशों के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव 16 दिसंबर से शुरू होंगे जिनका उदघाटन मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल गुरूग्राम से करेंगे 10 जनवरी से लेकर 14 जनवरी तक हिसार में राष्टï्रीय स्कूल खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय जल पुरस्कार 2018 के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए शिक्षा के बिना व्यक्ति का जीवन अधूरा : रघुजीत सिंह विर्क राजस्थान विधानसभा चुनाव में एंटीकंबैन्सी के बावजूद भी भाजपा 199 सीटों में से अच्छी-खासी 73 सीटें हासिल करने में कामयाब हुई नशा और छेड़छाड़ पर लगने लगा अंकुश, जारी रहेगा दौरा : रॉकी मित्तल टोल की दरें KMP एक्सप्रेसवे पर आज से वसूला जाएगा टोल टैक्स HARYANA-BJP’s decision to contest corporation polls on party symbol may go wrong Sex ratio at birth dips in Haryana, Panipat and Jhajjar fare badly कांग्रेस की गुटबाजी, लॉबिंग होगी तेज!