Thursday, January 24, 2019
Follow us on
Haryana

पूर्ननिर्माण कार्य पूरा होने पर धार्मिक पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केन्द्र होगा नौरंगराय तालाब

October 04, 2018 04:14 PM
हरियाणा सरकार द्वारा एतिहासिक और धार्मिक महत्व के अम्बाला शहर स्थित नौरंगराय सरोवर का पूर्न निर्माण और सौन्दर्यकरण किया जा रहा है। विधायक असीम गोयल की मांग पर मुख्यमंत्री द्वारा इस स्थल के जीर्णोद्धार के लिए 12 करोड़ रूपये की राशि उपलब्ध करवाई गई है और पूर्न निर्माण का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। विधायक असीम गोयल के मुताबिक नगर निगम अम्बाला के अधिकारियों और निर्माण एंजैसी को यह कार्य 31 मार्च 2019 तक पूरा करने के निर्देश दिये गये हैं और कार्य समय पर पूरा होने की उम्मीद है। 
विधायक ने बताया कि यह सरोवर भगवान वामन के इतिहास से जुड़ा होने के साथ-साथ इस स्थल का एतिहासिक पहलू महाभारत से युद्ध से भी जुड़ा हुआ है। उन्होंने बताया कि गत कर्ईं वर्षों से उपेक्षित इस सरोवर के पूर्न निर्माण और सौन्दर्यकरण की परियोजना पर गत वर्ष कार्य आरम्भ करवाया गया था। उन्होंने बताया कि पूरे सरोवर के चारों ओर परिक्रमा के लिए कैरिडोर तैयार किया जा रहा है। इसके अलावा ठाकुरद्वारे के  सामने की दिशा में एक स्क्रीन दीवार का भी निर्माण करवाया जा रहा है जिस पर विशेष कार्यक्रमों में प्रोजैक्टर के माध्यम से नौरंगराय सरोवर के इतिहास के साथ-साथ धार्मिक व एतिहासिक ज्ञान पर आधारित अन्य फिल्में भी प्रदर्शित की जा सकेंगी। 
उन्होने बताया कि सरोवर के बीचोंबीच एक पुल तैयार किया जा रहा है। लगभग 300 फुट लंबे और 20 फुट चौड़े इस पुल के दोनों ओर 8 रंगीन फव्वारे लगाये जायेंगे और आकर्षक लाईटों का भी प्रबंध किया जायेगा। उन्होंने बताया कि यह पुल बनाने के लिए सिमेंटड नीव डालने का कार्य पूरा किया जा चुका है और सरोवर का पानी निकालकर पुल का निर्माण भी जल्द आरम्भ किया जायेगा। 
श्री गोयल ने बताया कि सरोवर में स्नान के लिए 6 घाट तैयार किये जा रहे हैं तथा सरोवर के पूर्व और पश्चिम की तरफ दो प्रवेश द्वार भी बनाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह सभी कार्य पूरे होने पर यह स्थल एक आकर्षक स्थल का रूप लेगा और कार्य पूर्ण होने पर धार्मिक पर्यटकों के साथ-साथ शहरवासियों और बाहर से आने वाले लोगों के लिए भी रमणीक स्थान उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि नौरंगराय सरोवर के साथ-साथ म्यूनिसिपल पार्क के सौन्दर्यकरण और जीर्णोद्वार का कार्य भी युद्ध स्तर पर जारी है। लगभग 8 करोड़ रूपये की लागत से इस पार्क में कैरिडोर, चिल्ड्रन पार्क, गजीबो, कैफिटेरिया इत्यादि सुविधाओं के साथ-साथ इस पार्क को बाल भवन परिसर से जोडने के लिए एक सम्पर्क पुल भी तैयार किया जा रहा है। 
 
Have something to say? Post your comment