Sunday, February 17, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
सोनीपत:गन्नौर में इंडिया इंटरनेशनल हार्टिकल्चर मार्केट में चौथी एग्रीलीडरशीप समिट में हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद को शॉल भेंट कीसोनीपत:गन्नौर में इंडिया इंटरनेशनल हार्टिकल्चर मार्केट में चौथी एग्रीलीडरशीप समिट में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को पगड़ी भेंट करके उनका स्वागत कियासोनीपत:गन्नौर में इंडिया इंटरनेशनल हार्टिकल्चर मार्केट में चौथी एग्रीलीडरशीप समिट में मुख्य अतिथि राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद कार्यक्रम में पहुंचेसोनीपत:गन्नौर में इंडिया इंटरनेशनल हार्टिकल्चर मार्केट में चौथी एग्रीलीडरशीप समिट में मुख्यमंत्री मनोहर लाल पहुँचेबैडमिंटन : सायना का खिताब बरकरार, सौरभ तीसरी बार बने विजेतापुलवामा हमले के सबूत साझा करने पर भारत के साथ सहयोग को तैयार-पाकपंजाब में 11 आईएएस अधिकारी, 66 पीसीएस अधिकारियों का तबादलाअर्जेंटीना के राष्ट्रपति मॉरिशियो मैक्री अपने 3 दिवसीय दौरे पर आज भारत आएंगे
Himachal

हिमाचल प्रदेश: ट्रैकिंग पर गए 35 IIT रुड़की के स्टूडेंट समेत 45 लोग लापता

September 25, 2018 09:48 AM

हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश और बर्फबारी से हालात बदतर हो रहे हैं. अब खबर आ रही है कि लाहौल स्पिति जिले में ट्रैकिंग के लिए गए 45 लोग लापता हैं और इनमें 35 आईआईटी रुड़की के स्टूडेंट भी हैं.हिमाचल में पिछले दो-तीन दिनों से भारी बारिश हो रही है और बर्फबारी भी हुई है. यहां अब तक जान-माल का काफी नुकसान हुआ है. परिवार जनों ने बताया है कि इन लापता कहे जा रहे लोगों से उनका संपर्क टूट चुका है. न्यूज एजेंसी एएनआई ने सोमवार देर रात इसकी जानकारी दी.लापता दल में शामिल एक आईआईटी स्टूडेंट अंकित भाटी के पिता राजवीर सिंह ने एएनआई को बताया कि वे सभी हम्पता पास के लिए ट्रैकिंग पर गए थे और उन्हें मनाली लौटना था. लेकिन उनसे संपर्क टूट चुका है.एएनआई ने मंगलवार सुबह ट्वीट कर बताया कि लाहौल-स्पीति घूमने गए लापता हो चुके 8 लोगों का एक ग्रुप सुरक्षित है. इनमें ब्रुनेई की एक महिला संजीदा तुबा, नीदरलैंड के एबी लिम और 6 भारतीय नागरिक प्रियंका वोरा, पायल देसाई, दीपिका, दिव्या अग्रवाल, अभिनव चंदेल और अशोक हैं.बता दें कि हिमाचल में बारिश से आई अचानक बाढ़ और भूस्खलन के चलते अब तक पांच लोगों की मौत हो चुकी है. हिमाचल प्रदेश में मूसलाधार बारिश से कुल्लू, कांगड़ा और चंबा जिले में अलग-अलग घटनाओं में पांच लोगों की मौत हो गई और कुछ घायल भी हुए हैं. कुल्लू जिले को हाई अलर्ट पर रखा गया है. यहां अब तक 20 करोड़ की संपत्ति का नुकसान हो चुका है.कांगड़ा, कुल्लू और हमीरपुर जिलों में सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल-कॉलेजों को बंद रखने की सलाह दी गई है.भारी बारिश की वजह से कांगड़ा जिले में ब्यास नदी पर बने पोंग बांध के गेट खोले जा सकते हैं, क्योंकि नदी में जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया है. भाखड़ा ब्यास प्रबंधन बोर्ड (बीबीएमबी) के अधिकारी अरुण भाटिया ने बताया कि मंगलवार दोपहर तक पोंग बांध के गेट खोले जा सकते हैं. इस डैम से 49,000 क्यूसेक पानी छोड़ा जाएगा. हिमाचल प्रदेश की निचली जगहों पर लोगों को सावधान रहने को कहा गया है साथ ही पंजाब में भी हाई अलर्ट जारी किया गया है.बता दें कि सोमवार को चंबा के चमेरा डैम को भी ज्यादा पानी बढ़ जाने की वजह से खोलना पड़ा थाउत्तर भारत में पिछले कुछ हफ्तों से धूप निकलने के बाद फिर से बारिश का सिलसिला शुरू हो गया है. पिछले हफ्ते से ही रोज बारिश हो रही है. मौसम विज्ञान विभाग ने अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और हिमाचल प्रदेश में छिटपुट जगहों पर बारिश का पूर्वानुमान जताया है.

Have something to say? Post your comment