Wednesday, October 24, 2018
Follow us on
Haryana

जरूरतमंदों की सहायता के लिए खुली रोयल रेवाड़ी सोसायटी-डीसी शर्मा

September 15, 2018 05:03 PM

उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि जरूरतमंदों की सहायता के लिए  ‘रायल रेवाड़ी’ नाम की स्वयं सेवी संस्था का गठन किया है। यह नव गठित संस्था संकट के समय रेवाड़ी के लोगों की मददगार बनेगी। यह प्रयास इस बात का प्रमाण भी है कि हर काम के लिए सरकारी की ओर देखने की जरूरत नहीं है। अगर दृढ़ इच्छाशक्ति हो तो फिर सेवा के लिए रास्तों की कमी नहीं है।
डीसी ने बताया कि रायल रेवाड़ी किसी एक उद्देश्य के लिए गठित नहीं की गई है। इसके पीछे हमारी सोच अंत्योदय की है। समाज का अंतिम व्यक्ति भी हमारे लिए उतना ही महत्वपूर्ण है, जितना उच्च पायदान पर बैठे लोग। संस्था के माध्यम से उन लोगों को हर स्तर पर मदद देने का प्रयास रहेगा, जिनको पात्र होते हुए भी किसी वजह से सहायता नहीं मिल पाती। जैसे किसी के घर आग लगने पर भारी नुकसान हो गया। सरकारी मदद जब तक नहीं मिलेगी तब तक रायल रेवाड़ी जैसी संस्था की मदद से उसके जख्मों पर मरहम लगाना संभव होगा।
उपायुक्त ने बताया कि अगर सडक़ों पर गायें व अन्य बेसहारा पशु घूमेंगे तो शहर रायल कैसे बन सकेगा। इसलिए संस्था के उद्देश्य में गायों व अन्य पशुओं के संरक्षण की व्यवस्था भी की गई है। गोशाला की स्थापना करनी हो या पहले से चल रही गोशाला की मदद करनी हो, रायल रेवाड़ी हर मामले में अग्रिम पायदान पर नजर आएगी। जिला प्रशासन के अधिकारी व कर्मचारी प्रतिमाह अपने वेतन से इस संस्था के लिए सहयोग करेंगे। 
डीसी ने बताया कि शहर के उन सेवाभावी सज्जनों को भी इस संस्था से जुडऩे का अवसर मिलेगा जो स्वेच्छा से सेवा कार्य के लिए आगे आना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि इस संस्था के कोष में हर समय पैसा रहेगा। इससे किसी भी दुर्घटना के समय गरीब परिवार की तत्काल मदद करना संभव होगा। किसी गरीब को आपातकालीन चिकित्सा सेवा के समय मदद मिलने से उसका जीवन बचाया जा सकेगा। कई बार सरकार से सहायता तो मिल जाती है, लेकिन कुछ मामलों में तत्काल सहायता का कोई प्रावधान नहीं है। नवगठित संस्था इस कमी को पूरा करेगी। पैसे के अभाव में न तो किसी गरीब विद्यार्थी की पढ़ाई रुकने दी जाएगी व न ही किसी को सर्दी में ठिठुरने दिया जाएगा। किसी दैवीय आपदा के समय किसी का सहारा बनने में भी संस्था के स्वयं सेवक करेंगे। शहर के गोभक्त भी संस्था से जुडक़र सहयोग दे सकेंगे।


Have something to say? Post your comment