Saturday, December 15, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
पीएम ने जो पैसे चोरी किए वो किसानों को देंगे- राहुल गांधीकर्नाटक- चमराजनगर में जहरीला प्रसाद खाने से 5 लोगों की मौत, 72 बीमारराजस्‍थान: अशोक गहलोत और सचिन पायलट राजभवन पहुंचेचुनाव में मतदाता को लुभाने बारे यदि कोई व्यक्ति या असामाजिक तत्व शराब या अन्य नशीली वस्तुओं का वितरण नहीं कर सकता:: पुलिस अधीक्षक शिव चरण हरियाणाः निकाय चुनावों के दौरान सुरक्षा के पुख्ता प्रबंधहरियाणा पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा आगामी 17 से 19 दिसम्बर तक ‘जलवायु परिवर्तन अनुकूलन और कमी’ विषय पर 3 दिवसीय राइटशॉप का आयोजन किया जाएगासंसद में राफेल डील पर चर्चा की मांग करेंगे:अरुण जेटलीराफेल पर SC का फैसला सरकार की जीत- सीतारमण
Haryana

प्रस्तावित पृथक भंडारण से ग्रामीणों को कोई क्षति नहीं पहुंचनी चाहिए इसके लिए सुरक्षा के आधुनिक उपकरणों का प्रयोग किया जाए:उपायुक्त

August 29, 2018 04:38 PM
हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड धारूहेडा द्वारा इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड पृथक भंडारण के प्रस्तावित विस्तार के लिए पर्यावरण स्वीकृति के लिए करनावास, भिवाडी व कमालपुर गांवो के लोगों की सार्वजनिक सुनवाई उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा की अध्यक्षता में इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड करनावास टर्मिनल के परिसर में हुई, जिसमें ग्रामीणो ने खुलकर अपने विचार रखे व पर्यावरण को लेकर अपनी शंकाओ को रखा।
उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने इस मौके पर इडियन ऑयल कोर्पोरेशन लिमिटेड को कहा कि टर्मिनल के समीपवर्ती गांव को इसका कोई नुकसान नहीं होना चाहिए। पर्यावरण हर हाल में सुरक्षित रहना चाहिए। ध्वनी प्रदूषण, वायु प्रदूषण व जल प्रदूषण सभी की समय-समय पर जांच हो। श्री शर्मा ने कहा कि टर्मिनल के बाहर जो टैंकर खडे रहते है इससे यातायात बाधित होता है तथा वायु व ध्वनि प्रदूषण फैलता है, इस पर पार्किंग के लिए तुरंत प्रभाव से कार्य करें। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित पृथक भंडारण से ग्रामीणों को कोई क्षति नहीं पहुंचनी चाहिए इसके लिए सुरक्षा के आधुनिक उपकरणों का प्रयोग किया जाए तथा समय-समय पर उनकी जांच होती रहे। अग्रिशमन यन्त्र व जल भंडारण का पूरा प्रबन्ध होना चाहिए। उन्होंने कहा कि ठोस और खतरनाक कचरे के लिए उचित प्रबन्ध किये जाएं और ग्रीन बैल्ट का ध्यान रखें। उपायुक्त ने कहा कि डीजी सेट की समय-समय पर स्टेक मोनिटरिंग हर तिमाही में एक बार, प्लांट के आस-पास के स्थानों पर भू-जल के नमूने हर मौसम में, ठोस अपशिष्ट उत्पादन निगरानी प्रतिदिन हो।
उपायुक्त ने कहा कि टर्मिनल परिसर में भरपूर पौधारोपण किया जाए तथा यह कार्य अभी से शुरू हो जाना चाहिए इसके लिए जिला वन अधिकारी इस कार्य को देखकर अपनी रिपोर्ट प्रशासन को दें। श्री शर्मा ने कहा कि करनावास, कमालपुर व भिवाडी गांवो के लिए इडियन ऑयल कॉर्पोरेशन मेगा स्वास्थ्य शिविर लगाये जिसमें विशेषज्ञो के साथ-साथ सभी प्रकार की जांच की व्यवस्था हो। उन्होंने कहा कि टर्मिनल के समीप जो गांव है उसके विकास के लिए सीएसआर के तहत राशि खर्च करें।
 श्री अशोक कुमार शर्मा ने इस मौके पर भिवाडी, कमालपुर व करनावास गांव में कौशल विकास केन्द्र खोलने की घोषणा भी की।
उल्लेखनीय है कि इडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड आईसोलेटेड स्टोरेज के लिए प्रस्तावित 60 हजार केएल एचएसडी (डीजल), 9 हजार केएमएस (पट्रोल) व 140 केएस बायोडीजल के भंडारण का विस्तार करने का प्रस्ताव है। इस समय 11 टैंक है तथा 6 टैंक लगाने के बाद इनकी संख्या 17 हो जाएगी। वर्तमान में पेट्रोलियम उत्पाद पानीपत रिफाईनरी से पानीपत रेवाडी पाईपलाईन के माध्यम से प्राप्त किया जाता है। यह विस्तारीकरण उत्तरी क्षेत्र में रिटेल आउटलेट्स और उपभोक्ताओं की भविष्य की मांग को पूरा करने के लिए जरूरी है। आईओसीएल ने प्रस्तावित विस्तार की पर्यावरण मंंजूरी के लिए इको केम सेल्स एंड सर्विसीज सूरत की पर्यावरण परामर्श सेवाएं आवंटित की गई है।
इस मौके पर कमालपुर गांव के राजेन्द्र शर्मा ने बताया कि आईओसीएल टर्मिनल ने अपनी तरफ सडक को उंचा कर दिया है तथा बरसात में पानी रास्ते में भर जाता है, इस पर उपायुक्त ने संज्ञान लेते हुए कहा कि गांव के लोगों के रास्ते पर पानी न भरे तथा आईओसीएल इसके लिए प्रबन्ध करें। भिवाडी के सरपंच सतीश कुमार ने इस अवसर पर बताया कि अतीत में इनका सेफ्टी टैंक फट गया था तथा गांव का एक बच्चा इससे पीडित हुआ जिस पर आईओसीएल के अधिकारियों ने बताया कि उसका सारा खर्चा कम्पनी ने वहन किया है। उपायुक्त ने आईओसीएल के अधिकारियों को कहा कि टैंको की समय-समय पर जांच हो तथा सुरक्षा की ऐसी व्यवस्था की जाएं कि जिससे कोई घटना न हो। कमालपुर के नम्बरदार रामपाल ने कहा कि प्रदूषण रोकने के लिए कडे कदम उठाये जाए ताकि समीपवर्ती गांव के लोग बिमारी की चपेट से बचे रहे।
गौरतलब है कि ग्रामीणों की शंकाओ को दूर करने के लिए आज यह सार्वजनिक सुनवाई की गई।
इस अवसर पर एसडीएम जितेन्द्र कुमार, प्रदूषण विभाग के क्षेत्रीय अधिकारी कुलदीप, तहसीलदार मनमोहन सिंह, संयुक्त निदेशक उद्योग विरेन्द्र सिंह, कार्यकारी अधिकारी नगरपरिषद मनोज कुमार, जिला नगर योजनाकार अनिल डबास व आईओसीएल के अधिकारियों व कर्मचारियों सहित आसपास के गांवो के सरपंच, पंच व ग्रामीण मौजूद थे।
Have something to say? Post your comment
More Haryana News
चुनाव में मतदाता को लुभाने बारे यदि कोई व्यक्ति या असामाजिक तत्व शराब या अन्य नशीली वस्तुओं का वितरण नहीं कर सकता:: पुलिस अधीक्षक शिव चरण हरियाणाः निकाय चुनावों के दौरान सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध हरियाणा पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा आगामी 17 से 19 दिसम्बर तक ‘जलवायु परिवर्तन अनुकूलन और कमी’ विषय पर 3 दिवसीय राइटशॉप का आयोजन किया जाएगा कन्या भू्रण जांच व हत्या मामलों की सूचना पर मिलता है एक लाख रूपये का नगद ईनाम- उपायुक्त हरियाणा के करनाल जिला में इंडो-इजराइल परियोजना-उत्कृष्टï सब्जी उत्पादन केन्द्र घरौंडा की तकनीक पर मॉरिशस में भी फल व सब्जियां उगाई जाएंगी
हरियाणा- देसी व अंग्रेजी शराब का जखीरा बरामद,414 पेटी शराब व ट्रैक्टर ट्रॉली के साथ एक काबू
टी.एल.सत्यप्रकाश को हरियाणा प्रशासन सुधार प्राधिकरण के महानिदेशक का अतिरिक्त कार्यभार भी सौंपा Morari Bapu visits Kamathipura, invites sex workers for katha Residents seek monthly power bills from discom पांच राज्यों की महाभारत के बाद कुरुक्षेत्र नहीं आए शाह