Friday, February 22, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
Sense of National Pride Need of the Hour Sadhguru Jaggi VasudevMamata Govt Creates Own DRI and ED This will run parallel to the Centre’s DRI & ED & probe tax evasion casesSena Medal awardee speaks of ‘humiliation’ Gujarat BJP govt took 7 yrs to pay Rs 3,000प्रधानमंत्री मोदी ने 55 महीने में 93 विदेश दौरे किए; पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने 10 साल में 93 और इंदिरा गांधी ने 16 साल में 113 विदेशी दौरे किए टीम को सरसों तेल के कारखाने में सरसों का एक दाना तक नहीं मिला शुद्ध के लिए युद्ध : नारायणगढ़ में फैक्टरी व दुकानों पर रेड HARYANA-भाजपा विधायकों ने घेरे अपने मंत्री : आंकड़ों में उलझे उद्योग मंत्री, सफाई पर निकाय मंत्री बोलीं- कंपनी को देंगे नोटिस मनेठी एम्स पर केंद्रीय कैबिनेट की अगली बैठक में लगेगी मुहर पंचकूला नगर निगम की सेक्टर-3 में बनने वाली ऑफिस बिल्डिंग में टाउन हॉल भी बनेगा
International

पाक में अब तलाकशुदा या विधवा हिंदू महिलाएं कर सकेंगी शादी

August 11, 2018 09:08 AM

COURSTEY NBT AUG 11

पाक में अब तलाकशुदा या विधवा हिंदू महिलाएं कर सकेंगी शादी


• नया कानून महिलाओं और बच्चों की वित्तीय सुरक्षा भी सुनिश्चित कराएगा • नाबालिग लड़कियों की शादी पर भी लगा प्रतिबंध, जबरन धर्मांतरण के खिलाफ भी बिल पेश
सिंध प्रांत की विधानसभा ने कानून में किया ऐतिहासिक बदलाव

• एनबीटी, नई दिल्ली

 

पाकिस्तान में पहली बार तलाकशुदा या विधवा हिन्दू महिलाओं को दोबारा विवाह करने की इजाजत दी गई है। एक मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि सिंध प्रांत की असेंबली में यह ऐतिहासिक संशोधन किया गया है। इस संशोधन के मुताबिक सिंध प्रांत में तलाकशुदा या विधवा हिंदू महिलाओं को प्रांतीय असेंबली द्वारा किए गए ऐतिहासिक संशोधन के तहत पुनर्विवाह करने की इजाजत दी गई है। इससे पहले पाकिस्तान में तलाकशुदा या विधवा हिन्दू महिलाओं को दूसरी शादी की इजाजत नहीं थी।

पाकिस्तानी अखबार द एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक, सिंध हिंदू विवाह (संशोधन) विधेयक 2018 न केवल पति / पत्नी दोनों को अलग करने का अधिकार प्रदान करता है, बल्कि पत्नी और बच्चों की वित्तीय सुरक्षा भी सुनिश्चित करता है। इस विधेयक को पाकिस्तान मुस्लिम लीग- फंक्शनल के नेता नंद कुमार ने मार्च में स्थानांतरित किया और अब ये विधानसभा द्वारा पारित किया गया।

नंद कुमार ने बताया कि, ‘पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय में आर्थिक रूप से कमजोर और मजबूर परिवारों में नाबालिग लड़कियों का विवाह कर दिया जाता था, जिस बात को लेकर पाकिस्तानी हिन्दू लगातार विरोध करते थे अब इस कानून के लागू होने के बाद नाबालिग लड़कियों के विवाह पर भी प्रतिबंध लग गया है।’ कुमार ने धार्मिक अल्पसंख्यक सदस्यों के जबरन धर्मांतरण के खिलाफ एक बिल भी पेश किया जो कि विधानसभा सचिवालय में धूल खा रहा था। उन्होंने बताया कि इस कानून के लागू हो जाने के बाद हिन्दू महिलाओं को तलाक का अधिकार भी मिल जाएगा जबकि इससे पहले अल्पसंख्यकों को तलाक का अधिकार भी नहीं दिया गया था।

Have something to say? Post your comment