Monday, August 20, 2018
Follow us on
Haryana

अनाज के सुरक्षित भंडारण के लिए प्रदेश में 9.50 लाख मीट्रिक टन क्षमता के स्टील के साईलो बनाए जाएंगे:कर्णदेव कांबोज

August 09, 2018 05:43 PM
हरियाणा के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री श्री कर्णदेव कांबोज ने कहा कि अनाज के सुरक्षित भंडारण के लिए प्रदेश में 9.50 लाख मीट्रिक टन क्षमता के स्टील के साईलो बनाए जाएंगे। इनके लिए टैंडर प्रक्रिया शुरू दी है। श्री कांबोज ने आज यहां पत्रकारवार्ता में बोलते हुए कहा कि राज्य सरकार अनाज के सुरक्षित भंडारण के लिए कवर्ड क्षमता को बढाने पर काम कर रही है। इसके तहत भारत सरकार ने हरियाणा में तीन चरणों में इन साईलो के निर्माण का लक्ष्य रखा है। भारतीय खाद्य निगम द्वारा कुल 3 लाख एमटी क्षमता के लिए साईलो बनने के टैंडर का कार्य आबंटन कर दिया गया है। इनमें रोहतक, जीन्द, पलवल, पानीपत, भटट्ू व सोनीपत में प्रत्येक स्थान पर 50 हजार एमटी क्षमता के होंगे। इसके अलावा अंबाला एक लाख एमटी, फरीदाबाद, भिवानी, रोहतक, जगाधरी, हांसी, उचाना तथा कुरूक्षेत्र में 50-50 हजार एमटी, करनाल तथा तरावड़ी 75 हजार एमटी की क्षमता वाले स्टील साईलों बनाने का अनुमोदन कर दिया गया है। हरियाणा वेयर हाउसिंग कारपोरेशन को स्टील साईलों बनाने के लिए नोडल एजैन्सी नियुक्त कर दी है, जोकि उचाना में साईलो का निमार्ण करेगी। खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री ने कहा कि इसके अतिरिक्त विभाग द्वारा नाबार्ड बैक के सहयोग से हिसार में 40656 एमटी गोदामों का निमार्ण डब्ल्यूआईएफ स्कीम के तहत करवाया जाना है जिसका अनुमोदन माननीय मुख्यमंत्री द्वारा किया जा चुका है। हैफेड द्वारा 15500 मीट्रिक टन व एच.एस.डब्ल्यू.सी. 52464 मीट्रिक टन. की क्षमता के गोदामों का निर्माण किया जा रहा है। इसी प्रकार खाद्य एवं पूर्ति विभाग द्वारा तीन स्थानों भौरसेंदा (कुरूक्षेत्र), खरखौदा (सोनीपत) व तिगांव (फरीदाबाद) में कुल 89678 मीट्रिक टन क्षमता के गोदामों का निर्माण डब्ल्यूआईएफ स्कीम नाबार्ड बैंक की मदद से करवाया जा रहा है। श्री कांबोज ने कहा कि इसके अलावा तिगांव (फरीदाबाद) में 21098 मिट्रिक टन क्षमता के गोदामों का निर्माण कार्य पूर्ण हो चूका है तथा शेष गोदामों के निर्माण का कार्य प्रगति पर है। हरियाणा वेयर हाउसिंग द्वारा जिला अंबाला में 15600 एमटी गोदाम सैनमाजरा व 2340 एमटी गोदाम शाजादपुर में निमार्ण करवाने के लिए प्राशानिक स्वीकृति दी गई है, जिसको मार्च 2019 तक पूर्ण होने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि खाद्य एवं पूर्ति विभाग, हरियाणा व राज्य की अन्य खरीद एजेसिंयों के पास अभी तक 84.39 लाख मीट्रिक टन कवर्ड भंडारण की क्षमता है जिसमें से खाद्य विभाग के पास 3.80 लाख टन, हैफेड 11.32 लाख टन, एच.एस.डब्ल्यू.सी. 15.14 लाख टन, हरियाणा एग्रो 1.79 लाख टन, एफ.सीआई 7.58 लाख टन, सीडब्ल्यूसी 4.55 लाख टन, एच.एस.ए.एम.बी. 4.19, पी.ई.जी. स्कीम 34.02 तथा 2 लाख मिट्रिक टन के साईलोज हैं।
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
कॉमन सचिवालय पंचकूला में बनेगा और सभी राज्यों से एक नोडल अधिकारी उसमें बैठेगा:सीएम मनोहर लाल हरियाणा: शादी का झांसा देकर महिला से रेप करने वाला शख्स गिरफ्तार इनेलो-भाजपा पर नरम, कांग्रेस पर ही बरसे बादल-रैली में लंगर, 30 क्विंटल आटा-15 क्विंटल चावल बजरंग पूनिया के गोल्ड जीतने की खुशी में घर, साई और योगेश्वर दत्त की एकेडमी में देर रात तक मना जश्न HARYANA-भाटला में पुलिस की 1 कंपनी रहेगी तैनात नाराज दलितों ने धर्म परिवर्तन समारोह की तैयारी की, प्रशासन अलर्ट Master water pipeline bursts, supply hit in New Gurugram areas Sirsa Dera chief-Sunaria jail flooded with birthday cards HARYANA-जीएसटी में एडजस्ट करने को सरकार की ट्रांस-वन स्कीम का व्यापारियों को झटका HARYANA-तबादले पर आईएएस के बोल-अब कौन देखता है नियम वीडियोग्राफी देख आपत्ति जताने वाले उम्मीदवारों को िमला सुनवाई का मौका