Sunday, August 19, 2018
Follow us on
Punjab

वन मंत्री के दौरे से ठीक पहले लापता हुआ था फॉरेस्ट ऑफिसर, जंगल में मिली डेड बॉडी

August 09, 2018 05:03 PM

होशियारपुर:पांच दिन से लापता फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर गुरुवार सुबह जंगल में मृत पाए गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने ऑफिसर के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है। इसी बीच पुलिस अधिकारियों की मानें तोमामला आत्महत्या का लग रहा है, लेकिन पोस्टमाॅर्टम रिपोर्ट आने तक कुछ भी कह पाना ठीक नहीं है। हालांकि इस मामले को लेकर डीएफओ पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि वह रेंज ऑफिसर को परेशान करते थे।घटना रविवार की है, जब दोपहर बाद रेंज ऑफिसर को आखिरी बार लोगों ने खड़कां के पास इंडिगो कार ( पी.बी.07 ए.जे.-9306) से उतरकर कुरकुरे का पैकेट खरीद जंगल की तरफ जाते देखा था। 2 बजे के बाद से विजय कुमार का मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ आने लगा तो पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया था। इससे भी बड़ी बात यह थी कि बुधवार 8 अगस्त को प्रदेश के वन मंत्री साधु सिंह धर्मसोत ऊना रोड पर स्थित वन चेतना पार्क में आयोजित वन महोत्सव में मुख्य मेहमान के तौर पर आना था और ठीक चार दिन पहले इस कार्यक्रम की तैयारियों में लगा एक ऑफिसर इस तरह लापता हो गया।उधर वन रेंज अफसर और डिप्टी वन रेंज अफसर पंजाब ने वन चेतना पार्क बस्सी जाना में एक विशेष बैठक की तो पंजाब नॉन गजटिड यूनियन और वन रेंज अफसर डिप्टी रेंज अफसर यूनियन की तरफ से सीधे रूप में डीएफओ नरेश महाजन पर आरोप लगाया गया है कि पिछले कुछ दिनों से वन रेंज अफसर विजय कुमार को वह मानसिक रूप से परेशान कर रहा था। विजय कुमार ने यह बात अपने परिवार के साथ भी की थी। बलविन्द्र कुमार सैनी ने बताया कि विजय कुमार बहुत ही शरीफ और ईमानदार अफसर था और उसकी किसी के साथ कोई दुश्मनी भी नहीं थी। नवहीं गुरुवार को ऑफिसर की डेड बॉडी मिलने के बाद यूनियन के पदाधिकारियों का कहना है कि विजय बिना किसी कसूर के मारा गया है। अब परिवार को न्याय दिलाने के लिए संघर्ष की अगली रूपरेखा तैयार की जाएगी।

Have something to say? Post your comment