Monday, December 10, 2018
Follow us on
Haryana

कानून एवं व्यवस्था व यातायात को सुचारु बनाए रखने के लिए करें सहयोग- राजेश दुग्गल

August 02, 2018 03:03 PM

 कांवड मेला-2018 को ध्यान में रखते हुए कांवड यात्रा को सुरक्षित व सुव्यवस्थित ढंग से सम्पन्न करवाने के लिए श्रद्धालुओं के गुजरने वाले मार्गों पर जिला प्रशासन द्वारा सुरक्षा के साथ-साथ यातायात व्यवस्था के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। यह मेला 9 अगस्त,2018 तक चलेगा। उपायुक्त ने सभी कांवडियों से भी अपील की है कि वें सडक़ के बीच में न चलकर एक साईड में चलें तथा कानून व्यवस्था बनाये रखने मेेें पुलिस का सहयोग करें। 
कावड शिविर को लेकर उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने आज लघु सचिवालय में सामाजिक संगठनों, धार्मिक संगठनों के पदाधिकारियों, प्रशासिनक अधिकारियों की बैठक ले रहे थे। उन्होंने कहा कि कांवडियों और अन्य सडक़ उपयोगकर्ताओं के आवागमन को सुचारु बनाए रखने के लिए भी पर्याप्त व्यवस्था की जाए ताकि श्रद्धालुओं के साथ-साथ आम जनता को भी कोई असुविधा न हो। उपायुक्त ने कहा कि जहां पर भी शिविर लगे वहां पर सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए तथा शिविर के आस-पास कीचड नहीं होनी चाहिए। श्री शर्मा ने कहा कि जहां पर भी कावड शिविर लगें उनमें प्लास्टिक का प्रयोग न करें तथा इस अवसर पर बजने वाले डीजे की आवाज कम रखे। उन्होंने कहा कि जिला में जो भी शिविर लगाये जाए वह सडक के बाई ओर लगाये जाए तथा इनमें पीने के पानी के साथ-साथ आयोजक शौचालय का भी  उचित प्रबन्ध करें। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा एम्बुलैंस व फ्रस्ट ऐड व्यवस्था कराने के लिए सीएमओ को निर्देश दिये है। उन्होंने कहा कि त्यौहार की गरिमा को बनाये रखें तथा अपनी मस्ती के लिए दूसरो को परेशान न करें। यह धारणा हमारे दिल में होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बच्चें हमेशा बडो से सीखते है यदि हम स्वयं प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करेगें तो बच्चें भी इसका प्रयोग नहीं करेगें।  
     शर्मा ने कहा कि कावडियों के लिए जो भी मदद चाहिए वह जिला प्रशासन द्वारा उपलब्ध करा दी जाएगी। उपायुक्त ने कावड शिविर को देखते हुए सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को स्टेशन न छोडने के निर्देश भी दिये है। 
    उन्हें यातायात जाम से बचने और उपयुक्त सुरक्षा व्यवस्था के साथ मुख्य सडक़ों से शिविर या पार्किंग स्थल दूर स्थापित करने के लिए कहा है। सभी अधिकारी यह भी सुनिश्चित करेंगे कि कांवडियों के शिविर सडक़ के किनारे से पर्याप्त दूरी पर स्थापित किए जाएं और शिविर उसी तरफ स्थित होना चाहिए जिस पर कांवडिये यात्रा करते हैं। इसके अलावा, उन्हें महिला कांवडियों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं।
     पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल ने बताया कि कानून एवं व्यवस्था व यातायात को सुचारु बनाए रखने के लिए पर्याप्त प्रबंध किये जाएगें। उन्होंनेे कहा कि जिला में कांवडियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले सभी मार्गों पर गहन गश्त सुनिश्चित करने के लिए भी अधिकारियों को निर्देश दिये गये है। उन्होंने कहा कि असामाजिक तत्वों पर नजर रखने के अलावा, सभी पुलिस अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में ट्रैफिक व्यवस्था को सुचारू रूप से बनाये रखने के लिये ज्यादा ट्रैफिक कर्मचारियों को तैनात करने के निर्देश दिए गए हैं। पुलिस को आवश्यकता होने पर यातायात को वैकल्पिक मार्गों पर डाईवर्ट करने के लिए भी कहा गया है।  सभी पुलिसकर्मियों को क्षेत्र में इस संदर्भ में व्यवस्था करने के लिए कहा गया है ताकि श्रद्धालुओं को किसी भी असुविधा का सामना न करना पडेे। 
    कावडियों व शिविर आयोजको के लिए पुलिस हैल्प लाईन नम्बर भी जिला प्रशासन ने जारी किये है। पुलिस कन्ट्रोल रूम 100 व 01274-225156, 7056666100 व 7056666104 जारी किये है। कावड यात्रा को देखते हुए उपायुक्त द्वारा जिले में आठ डयूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किये गये है जिनमें नायब तहसीलदार धारूहेडा कृष्ण कुमार, बावल तहसीलदार मनीष कुमार, कोसली तहसीलदार विजय कुमार, बीडीपीओ जाटूसाना अजीत सिंह चहल, बीडीपीओ रेवाडी दीपक कुमार, नायब तहसीलदार मनेठी कहैन्यालाल, रेवाडी के नायब तहसीलदार भूप सिंह के अतिरिक्त उपमण्डल मजिस्ट्रेट रेवाडी, कोसली व बावल को अपने-अपने उपमण्डल के ओवर ऑल इंचार्ज नियुक्त किया गया है।
इस अवसर पर नगराधीश डा. विरेन्द्र, डीएसपी सुरेश हुड्डा, समाज सेवी, रिपुदमन गुप्ता, अजय मित्तल सहित अन्य सामाजिक संगठनों के लोग भी मौजूद रहे।

Have something to say? Post your comment