Tuesday, October 16, 2018
Follow us on
Haryana

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भिवानी में की नयी योजनाओं व नीतियों की घोषणा

July 16, 2018 01:52 PM

 हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहार लाल ने भिवानी के गांव चांग के राजकीय विद्यालय परिसर में आयोजित एक सम्मलेन में  सीधे पंचायत प्रतिनिधियों और आम जनता से रूबरू होते हुए कहा कि बाजरा का मूल्य 1450 रूपए से बढ़ाकर 1950 रूपए कर दिया गया है जिससे प्रदेश का किसान खुशहाल होगा व चारों तरफ समृद्धि आएगी। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं आपके साथ हूं और गांव के विकास पर सरकार पूरा ध्यान दे रही है। जिला परिषद को बस शैल्टर बनवाने का जिम्मा दिया है। पहले जिला परिषद को मुश्किल से एक करोड़ रूपए की ग्रांट मिलती थी। भिवानी में 18 करोड़ रूपए जिला परिषद को मिल चुके है। सरकार की योजना है कि छोटे-छोटे विकास कार्य गांव की पंचायत, पंचायत समिति व जिला परिषद से करवाए जाएं। प्रत्येक ग्राम पंचायत को 50 लाख से दो करोड़ रूपए तक की ग्रांट दी गई है। आने वाले समय में पंचायती संस्थाओं का बजट और बढ़ाया जाएगा।

 इस विशेष सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने विकास कार्योें की पंचायत प्रतिनिधियों से पुष्टि की तथा उनको विश्वास दिलवाया कि घोषित योजनाओं को जल्दी पूरा करवाया जाएगा। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों से बिजली के बकाया बिल भराने का आह्वान किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि भवन या अन्य कोई विकास परियोजना के लिए पंचायत के पास जमीन नहीं है तो इसे अपने स्तर पर सामूहिक रूप से खरीदे या किसी को दान के लिए प्रेरित करे। सरकार की पढ़ी-लिखी पंचायत, नौकरियों में योग्यता, महिलाओं की सुरक्षा, स्वच्छ भारत अभियान जैसी योजनाओं के लिए पंचों व सरपंचों ने सराहना की और सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर सुधारने व अधिकारियों पर लगाम कसने की सलाह भी दी। उन्होंने कहा कि दस हजार से अधिक आबादी वाले प्रदेश के सभी बड़े 126 गांवों में शहरी स्तर की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी। प्रत्येक व्यक्ति को 130 लीटर पानी उपलब्ध करवाने का लक्ष्य रखते हुए बडे़ गांवों में सीवरेज लाईनें बिछाने का कार्य शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गांव हमारी आत्मा है और गांव में हमारी संस्कृति बसती है।उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के समय खैरड़ी मोड़ से आगे भिवानी और रोहतक का फर्क साफ नजर आता था। अब दिल्ली से भिवानी तक दो घंटे के सफर में यह पता नहीं चलता कि कब रोहतक आया और कब भिवानी। सरकार के लिए सभी 22 जिलें एक समान है और सभी विधान सभा क्षेत्रों में चाहे सत्ता पक्ष का विधायक हो या विपक्ष का, विकास कार्योें में कोई पक्षपात नहीं होता। पर्यावरण संरक्षण को महत्त्व देते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि सरकार अब विद्यार्थियों के सहयोग से प्रदेश में 22 लाख पौधे लगवाने जा रही है। उन्होंने कहा कि छठी से 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थी को अपने घर या आसपास सार्वजनिक स्थान पर एक वृक्ष का रोपण करना है और तीन साल तक उसकी देखभाल करनी है। इसके बदले विद्यार्थी को प्रोत्साहन के रूप में 300 रुपये दिए जाएंगे।
 मुख्यमंत्री ने कहा कि नौकरियों और अध्यापकों के स्थानांतरण में पारदर्शिता सुनिश्चित कर दी गई है। इसके उदारण ग्रामीणों को अपने आसपास बखूबी मिल जाएंगे। उन्होंने कहा कि नौकरियों में भेदभाव के कारण ही एक पूर्व मुख्यमंत्री जेल में है। उन्होंने कहा कि 30 साल से जिन नहरों में पानी नहीं आ रहा था, वहां पानी पहुंचाकर सरकार ने किसानों के प्रति अपनी संकल्पबद्धता दिखाई है। सभी घरों की रसोईयों में एलपीजी सिलैंडर पहुंच गया है। उन्होंने भीड़ में हाथ उठवाकर पूछा कि किसके घर में सिलैंडर नहीं है। छह महिलाओं व पुरूषों ने हाथ उठाया। मुख्यमंत्री ने भिवानी के उपायुक्त अंशज सिंह को दो दिन में उज्जवला योजना का लाभ इन्हें दिलवाने के आदेश दिए। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना का जिक्र करते हुए बताया कि चार साल पहले प्रदेश का लिगांनुपात 836 था, जो अब बढ़कर 922 हो गया है। महिलाओं के साथ अनाचार करने वालों को सरकार ने फांसी देने का फैसला लिया है और महिलाओं से दुर्व्यवहार करने वालों का आरोप साबित होने पर सभी सरकारी सुविधाएं वापिस ले ली जाएगी। 

इस विशेष सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने विकास कार्योें की पंचायत प्रतिनिधियों से पुष्टि की तथा उनको विश्वास दिलवाया कि घोषित योजनाओं को जल्दी पूरा करवाया जाएगा। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों से बिजली के बकाया बिल भरने का आह्वान किया। उन्होंने  कहा कि भवन या अन्य कोई विकास परियोजना के लिए पंचायत के पास जमीन नहीं है तो इसे अपने स्तर पर सामूहिक रूप से खरीदे या किसी को दान के लिए प्रेरित करे। सरकार की पढ़ी-लिखी पंचायत, नौकरियों में योग्यता, महिलाओं की सुरक्षा, स्वच्छ भारत अभियान जैसी योजनाओं के लिए पंचों व सरपंचों ने सराहना की और सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर सुधारने व अधिकारियों पर लगाम कसने की सलाह भी दी।

 

बाइट 4  -   मुख्यमंत्री मनोहर लाल  


वी ओ 5-  चांग में मुख्यमंत्री ग्राम पंचायत चांग कलां, चांग खुर्द, खरक कलां, खरक खुर्द, कलिंगा, सैय, रिवाड़ी, सरसा घोघड़ा, गुजरानी, घुसकानी, नाथुवास, कालुवास, पालुवास, निनाण, मिताथल व ढाणी हरसुख के सरपंच, पंच, जिला पार्षद व पंचायत समिति सदस्यों से मिले।

 
Have something to say? Post your comment