Thursday, July 19, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
राहुल गांधी कल अविश्‍वास प्रस्‍ताव के दौरान लोकसभा में देंगे स्‍पीच: आनंद शर्मा मिदनापुर: PM की रैली में घायल हुए लोगों से मिलने अस्‍पताल पहुंचीं ममता बनर्जी यूपी: देवरिया जेल पर डीएम ने मारा छापा, 1 मोबाइल, 4 पेन ड्राइव और चाकू बरामदसंसद भवन में 22 जुलाई को होगी कांग्रेस की कार्यसमिति की बैठक चार्जशीट फाइल करने के लिए सीबीआई पर दबाव डाला गया है: पी. चिदंबरम क्‍या औरतों को प्रार्थना करने का समान अधिकार नहीं: सबरीमाला पर जया बच्चन क्‍या औरतें पुरुषों से कमतर हैं: सबरीमाला पर जया बच्चनशहीद गुरसेवक के विद्यालय में मनाया गया वन महोत्सव, अध्यापकों व बच्चों ने लगाए 100 से अधिक पौधे
National

75 से ज्यादा उम्र वाले नेताओं का इस बार पत्ता काटेगी बीजेपी/

July 12, 2018 06:14 AM

COURSTEY NBT JULY 12

2 19 में
कौन बीस/
अगर ऐसा हुआ तो लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी जैसे नेताओं पर गिर सकती है गाज•विशेष संवाददाता, नई दिल्ली

 

मिशन 2019 को कामयाब बनाने के इरादे से इस बार बड़ी संख्या में मौजूदा सांसदों के टिकट काटने की चर्चाओं के बीच अब यह खबर आई है कि 75 वर्ष या उससे ज्यादा उम्र के कम से कम 19 मौजूदा सांसदों का पत्ता इस बार काटा जा सकता है। हालांकि, अभी पार्टी की ओर से इस बारे में कुछ साफ नहीं किया गया, लेकिन माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव में भी पार्टी इसी नियम का पालन कर सकती है। अगर ऐसा हुआ तो जिन सांसदों का पत्ता कटेगा, उनमें लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का नाम भी आना तय है।

बीजेपी सूत्रों का कहना है कि वर्ष 2014 के बाद से विधानसभा चुनावों में पार्टी अधिकांश मौकों पर इस नियम का पालन करती आई है। इस नियम के तहत जिन नेताओं की आयु 75 साल या उससे ज्यादा होती है, उन्हें पार्टी का टिकट नहीं दिया जा रहा। ऐसे में माना जा रहा है कि इस बार लोकसभा चुनाव से पहले भी पार्टी इसी नियम का पालन कर सकती है। इस नियम का पालन करने पर पार्टी के पुराने कई दिग्गज नेताओं को चुनावी राजनीति से बाहर होना पड़ेगा। हालांकि, इस मामले में पार्टी के कोई नेता टिप्पणी के लिए तैयार नहीं हैं। अगर ऐसा होता है तो टिकट बंटवारे के वक्त ऐसे नेताओं को टिकट देने से इनकार किया जा सकता है या फिर पार्टी के निर्देश पर स्थानीय इकाइयों की ओर से ही ऐसे नेताओं के नाम ही नहीं भेजे जाएंगे।

पार्टी सूत्रों का कहना है कि अगर यही व्यवस्था लागू की गई तो उनमें पार्टी के दिग्गज नेता और पार्टी के संस्थापक सदस्य लालकृष्ण आडवाणी, डॉ. मुरली मनोहर जोशी, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, शांता कुमार, कलराज मिश्र, करिया मुंडा, बीसी खंडूरी, हुकुम देव नारायण यादव का नाम भी आ सकता है।

Have something to say? Post your comment
 
More National News
मिदनापुर: PM की रैली में घायल हुए लोगों से मिलने अस्‍पताल पहुंचीं ममता बनर्जी चार्जशीट फाइल करने के लिए सीबीआई पर दबाव डाला गया है: पी. चिदंबरम CBI ने पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की कई मुद्दे हैं जिन्‍हें हम सदन के सामने रखना चाहते हैं: आनंद शर्मा संसद में मोदी सरकार का समर्थन करेगी श‍िवसेना अविश्वास प्रस्ताव: अमित शाह ने उद्धव ठाकरे से की बात अविश्वास प्रस्ताव: शि‍वसेना ने अपने सांसदों के लिए जारी किया व्ह‍ि‍प अव‍िश्वास प्रस्ताव के ख‍िलाफ वोट करेगी श‍िवसेना अमित शाह ने अविश्वास प्रस्ताव को लेकर शिवसेना प्रमुख से फोन पर बात की पिछले 2 सालों में इतना पैसा देश से बाहर गया जितना दशकों में नहीं गया: आनंद शर्मा