Friday, December 14, 2018
Follow us on
Haryana

हुडा की वन टाइम सेटलमेंट पॉलिसी काे नहीं मिला रुझान, दस फीसदी भी नहीं हुई रिकवरी, स्पष्टीकरण देने चंडीगढ़ पहुंचे अफसर

July 12, 2018 06:00 AM

COURSTEY DAINIK BHASKAR JULY 12
हुडा की वन टाइम सेटलमेंट पॉलिसी काे नहीं मिला रुझान, दस फीसदी भी नहीं हुई रिकवरी, स्पष्टीकरण देने चंडीगढ़ पहुंचे अफसर

इनहांसमेंट : 5 जून से 15 जुलाई तक के लिए छूट के साथ एकमुश्त राशि भरने का समय लगभग बीता

शहर का नाम इनहांसमेंट का इतने अलॉटी कुल जमा हुई
कुल योग ने जमा की
अम्बाला 1024300043 3076 89830107
बहादुरगढ़ 989540463 5644 216520792
भिवानी 26303885.13 114 256562
धारूहेड़ा 5061477.91 14 938
फरीदाबाद 5070306716 6573 377447953
गोहाना 61122705.62 632 3042247
फतेहाबाद 1304165054 1277 18938503
गुड़गांव -1 127486889.9 185 24154448
गुड़गांव-2 8792993776 3898 2068363274
हांसी 10415661.54 887 15783965
हिसार 4370542788 5442 84038026
जगाधरी 600687.59 11 8352
झज्जर 74525678.96 746 8358958
जींद 335716321.1 2256 21034894
कैथल 108702607.7 1010 4545697
करनाल 441205989.7 2584 164465267
कुरुक्षेत्र 3644442.84 110 282075
नारायणगढ़ 2153002.46 24 17552
नारनौल 39202880.7 279 4516283
पलवल 52634732.01 272 5733856
पंचकूला 5342009125 6617 1106346077
पानीपत 3261667954 5504 63273187
रेवाड़ी 485794735.7 2454 40751900
रोहतक 1233069726 4180 146326225
शाहबाद 1165931.5 11 0
सिरसा 155028963.4 477 6102721
सोनीपत 1878981108 7593 86494247
एजु. सिटी सोनीपत 1886692078 7 570238600
सेटलमेंट पॉलिसी का टाइम हाे रहा पूरा, 70% इनहांसमेंट जमा कराने की थी उम्मीद
भास्कर न्यूज | सोनीपत
हुडा सेक्टरों में इनहांसमेंट भरवाने को लेकर सरकार द्वारा दी गई वन टाइम सेटलमेंट पॉलिसी सेक्टर वासियों को रास नहीं आई है। सेक्टर के लोग पॉलिसी को सही नहीं बताते हुए इनहांसमेंट ही गलत देने की बात कर रहे हैं। कई जगह विरोध चल रहा है तो कहीं लोग कोर्ट में गए हैं। 15 जून से 15 जुलाई तक के लिए छूट के साथ एकमुश्त राशि भरने का समय लगभग बीत गया है। 10 प्रतिशत रिकवरी भी हुडा नहीं कर पाया है।
हुडा की वन टाइम सैटलमेंट पॉलिसी के प्रति प्लॉट अलाटी ने कोई खास रुझान नहीं दिखाया। जिसके चलते अरबों की इनहांसमेंट जमा नहीं हुई। सुस्त रिकवरी पर हुडा महकमें में भी मायूसी है। यहीं नहीं 11 जुलाई को प्रदेश भर के स्थानीय हुडा अधिकारी आला कमान को स्पष्टीकरण देने मुख्यालय पहुंचे।
स्थानीय स्तर पर चर्चा रही कि पॉलिसी लागू करते समय उम्मीद लगाई जा रही थी कि करीब 70 प्रतिशत लोग इनहांसमेंट जमा कर देंगे। लेकिन आंकड़ा 10 प्रतिशत से भी नीचे रह गया। प्रदेश के जिन जिलों में विरोध ज्यादा रहा उन जिलों में तो हालत बेहद खराब रहे हैं। हिसार, सोनीपत, रोहतक सहित कई जिलों में तो अरबों की इनहांसमेंट प्लाॅट अलॉटी में बची हुई है।
यह है वन टाइम सेटलमेंट पॉलिसी
हुडा सेक्टरों के लिए किसानों से जमीन अधिग्रहण कर हुडा ने प्लॉट अलॉट कर दिए। किसान बाद में जमीन अधिग्रहण की एवज में मिली राशि काे कम बताकर कोर्ट में चले गए। कोर्ट में फिर राशि बढ़ाकर देने के फैसले हुए। इसी इनहांसमेंट की राशि को हुडा को प्लॉट धारकों से वसूलना था। समय अनुसार हुडा ने अलॉटियों से यह राशि नहीं ली। अब बाद में ब्याज के साथ जोड़कर राशि के नोटिस जारी किए गए। इसका हुडा सेक्टर वासियों ने विरोध किया तो सरकार ने वन टाइम सेटलमेंट पॉलिसी 15 मई को लागू की। यह 15 जुलाई तक रहेगी। इसके तहत प्लॉट अलॉटी को इनहांसमेंट पर 40 प्रतिशत छूट दी गई थी, अलॉटी को छूट के साथ सारी इनहांसमेंट एक साथ चुकानी है।
वन टाइम सेटलमेंट पॉलिसी 10 जुलाई तक जमा इनहांसमेंट के प्रदेश भर के आंकड़े
बार-बार मांग करने पर सरकार ने मांगें नहीं मानी
इनहांसमेंट चुकाने पर हुडा ने छूट वह बहुत ही कम है। जिसके चलते लोगों ने इनहांसमेंट भरने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। जिन लोगों ने इनहांसमेंट वन टाइम सेटलमेंट पॉलिसी लागू हाेने से पहले चुका दी उन्हें कोई लाभ नहीं मिला। इसके साथ 15 प्रतिशत ब्याज भी गैर कानूनी है। बार-बार मांग करने पर भी सरकार ने उनकी मांगे नहीं मानी। जिसके चलते 6 माह से आंदोलन जारी है। - राजेंद्र राठी, प्रधान , जॉइंट वेलफेयर एसोसिएशन सेक्टर, सोनीपत

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
उन्होंने और युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों पर चलने का निर्णय लिया:दिग्विजय चौटाला प्रदेश के 44 खिलाडिय़ों को नौकरी देने की प्रक्रिया शीघ्र पूरी की जाएगी:विज हरियाणा पुलिस ने चलाया एंटी-ड्रग अभियान, भारी मात्रा में नशीला पदार्थ बरामद ,286 आरोपी गिरफ्तार कुरुक्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव का शुभारंभ पांच राज्यों की हार का गीता जयंती महोत्सव पर पड़ा असर, बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कुरुक्षेत्र दौरा किया रद्द If new house is in wife or kid’s name, no tax benefit’ Jats get maximum seats in House followed by Rajputs Jats got 37 seats in the state assembly followed by Raputs with 17 seats 'गर्भवती महिलाओं की परफॉर्मेंस पर एम्प्लॉयर को रखनी चाहिए सहानुभूति' Cong accuses state poll panel of delaying probe against Grover Birender rules out simultaneous LS, assembly polls in Haryana