Saturday, November 17, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
अभय चौटाला की बैठक शुरू, काफी संख्या में पंहुचे कार्यकर्ताक्या एक वर्ष के कार्यकाल से पूर्व आई.जी. एवं एस.पी. का तबादला न्यायोचित – एडवोकेट हेमंतहरियाणा डीजीपी संधू आज पहुंचेंगे पलवल ,CIA पुलिस स्टेशन के नए भवन का करेंगे उद्घाटनतमिलनाडु: एमके स्टालिन आज कर सकते हैं तूफान गाजा से प्रभावित इलाकों का दौराकोच्चि से मुंबई पहुंची तृप्ति देसाई, हो रहा जबरदस्त विरोध50 की उम्र पार करने के बाद सबरीमाला मंदिर जाएं तृप्ति: प्रदर्शनकारी, मुंबईअगली बार सबरीमाला जाने के लिए गुरिल्ला रणनीति अपनाएंगे: तृप्ति देसाईसबरीमाला: केरल में हिंदू एक्यावेदी ने आज किया हड़ताल का ऐलान
Haryana

महिला सुरक्षा एवं सशक्तिकरण पर पंचकूला में मिलेगी मनोहर सौगात

July 11, 2018 09:14 PM
महिला सुरक्षा एवं सशक्तिकरण की दिशा में पुलिसिंग सिस्टम को पुख्ता करने जा रही प्रदेश सरकार 12 जुलाई को पंचकूला में आधी आबादी को मनोहर सौगात देने जा रही है। प्रदेश के अलग-अलग जिलों में एक ओर सुधार सैल के तहत महिलाओं के साथ चिंतन-मनन के बाद उनके द्वारा व्यक्त की गई चिंताओं को गंभीरता से लेते हुए सुनियोजित तरीके से कदम बढाए हैं, ताकि महिला के प्रति घर के अंदर और बाहर दोनों स्थानों पर अपराधों पर शिकंजा कसा जाएगा।
वीरवार को पंचकूला स्थित इंद्रधनुष आडिटोरियम में प्रदेश भर से आने वाली दो हजार महिलाओं के बीच मुख्यमंत्री मनोहर लाल उनकी सुरक्षा और सशक्तिकरण की दिशा में अहम निर्णय लिए जाने की घोषणा करेंगे। इसके लिए पुलिस विभाग और एक ओर सुधार सैल के सांझा प्रयास से तैयारी की जा रही हैं।
बाक्स
जिलों में सुनी गई महिलाओं की मन की बात
एक ओर सुधार सेल के माध्यम से प्रदेश के अलग-अलग जिलों में महिलाओं के सम्मेलन आयोजित किए गए, जिसमें सेल के प्रोजेक्ट डायरेक्टर राकी मित्तल रूबरू हुए तथा उनके सुझावों को डाक्यूमेंट्री के माध्यम से रिकार्ड भी किया गया। इन सभी सुझावों को मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ सांझा किया गया है, जिसपर 12 जुलाई को मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा हजारों महिलाओं के मध्य नए निर्णयों से अवगत कराया जाएगा।
बाक्स
पुलिसिंग सिस्टम को मजबूत करने पर रहा है जोर
प्रदेश में वर्तमान सरकार के साढ़े तीन वर्ष के दौरान जहां पुलिसिंग सिस्टम को मजबूत करने के लिए जहां जिला स्तर पर थाना स्थापित करने पर जोर दिया गया, वहीं महिला पुलिसकर्मियों की भर्ती की गई। जिला मुख्यालयों के अतिरिक्त 38 सब डिविजन पर महिला सहायता डेस्क स्थापित किए जाने से महिलाओं के अंदर उनके सुरक्षा मुद्दों को लेकर जागरूकता और सतर्कता का भाव आया है। महिला थानों के लिए 50 एॢटगा वाहन खरीदने की मंजूरी के साथ-साथ करनाल और महेंद्रगढ में पायलेट प्रोजेक्ट के तौर पर महिला पुलिस वालिंटियर योजना के माध्यम से अपराध की स्थिति में उन्हें उचित मार्गदर्शन दिलाना सुनिश्चित किया जा रहा है। समय-समय पर महिलाओं के प्रति छेडछाड की घटनाएं रोकने के लिए आप्रेशन दुर्गा और अब जिला स्तर पर दुर्गा शक्ति रैपिड एक्शन फोर्स की स्थापना की जा रही है।   
वर्जन
महिला सुरक्षा एवं सशक्तिकरण को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल गंभीर हैं। प्रदेश भर में अलग-अलग क्षेत्रों से महिलाओं के मन के विचार लिए गए हैं, ताकि महिला सुरक्षा का खाका मजबूत करने के लिए पुलिस तंत्र और समाज को साथ लेकर चलने का मार्ग प्रशस्त किया जा सके।
Have something to say? Post your comment