Saturday, March 23, 2019
Follow us on
Haryana

सीएम विंडो पर प्राप्त शिकायतों का तत्काल करे समाधान-एडीसी अन्जू चौधरी

July 11, 2018 03:10 PM

अतिरिक्त उपायुक्त अन्जू चौधरी ने कहा कि सीएम विंडो पर आने वाली शिकायतों को प्राथमिकता के आधार पर हल करें तथा उसकी एटीआर रिपोर्ट भी भेजे।
    अतिरिक्त उपायुक्त अन्जू चौधरी बुधवार को जिला लघु सचिवालय स्थित सभागार में सीएम विंडो,  सोशल मीडिया, हरपथ व सरल पोर्टल की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रही थी। उन्होंने कहा कि वर्ष 2016, 2017 व 2018 की 422 शिकायते सीएम विंडो की ओवर डयू चल रही है, इनका तुरंत समाधान करें। उन्होंने बताया कि वर्ष 2016 की 6 शिकायतें ओवरडयू है जिसमें 5 डीडीपीओ व एक बीडीपीओ डहीना की शामिल है। वर्ष 2017 की सीएम विंडो पर आई हुई शिकायतों की समीक्षा करते हुए उन्होंने बताया कि 129 शिकायतें ओवर डयू है, जिसमें डीडीपीओ की 24, बीडीपीओ रेवाडी 24, बीडीपीओ डहीना 21, बीडीपीओ नाहड 12, बीडीपीओ जाटूसाना 8, बीडीपीओ बावल 6, बीडीपीओ खोल2, एसडीएम बावल 2, एमसी रेवाडी 3, नायब तहसीलदार नाहड एक, एमसी बावल एक, एसपी रेवाडी एक, कार्यकारी अभियंता पंचायती राज 4, डीएफएससी 2, डीआरओ 2, डीएसडब्लूओ 1, एसडीएम कोसली 2, सचिव आरटीए 2, सीटीएम रेवाडी एक, सीईओ जिला परिषद 3, जीएम बीएसएनएल 1, एडीसी 3, एसई पब्लिक हैल्थ एक, डीईईओ एक, एमसी धारूहेडा की एक ओवरडयू है। वर्ष 2018 में अब तक 1407 शिकायतें सीएम विंडो पर प्राप्त हुई जिनमें से 808 का समाधान कर दिया गया है, तथा शेष 500 शिकायतों पर एक्शन लिया जा रहा है 99 शिकायतें लम्बित है।
     चौधरी ने कहा कि सभी अधिकारी अपने विभाग से सम्बंधित शिकायतों का समाधान कर रिपोर्ट अपडेट करें। उन्होंने जिला के सभी अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे सीएम विंडो पर प्राप्त हुई शिकायतों के निपटान में देरी न करें। उन्होंने कहा कि निपटारे के समय शिकायतकर्ता को संतुष्ट किया जाए ताकि शिकायतकर्ता के मन में कोई संशय न रहे। 
एडीसी ने कहा कि सभी अधिकारी सीएम विंडो के संबंध में अपने-अपने विभाग से संबंधित शिकायतों की प्रतिदिन व्यक्तिगत तौर पर निगरानी रखेंं। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को चाहिए कि वे शिकायतों को गंभीरता से लें और उनका प्राथमिकता के आधार पर समाधान करें। 
    हरपथ एैप की समीक्षा करते हुए अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि हरियाणा की सडकों को गड्डा मुक्त बनाने के लिए राज्य सरकार ने नई पहल करते हुए ‘हरपथ हरियाणा’ मोबाइल एप लांच किया है। 
एडीसी ने आज हरपथ पर आई शिकायतों की समीक्षा करते हुए बताया कि अब तक हरपथ पर जिले की 407 शिकायतें प्राप्त हुई है, जिनमें से 215 का निपटान कर दिया गया है तथा 180 शिकायतें सही न होनें के कारण रिजैक्ट कर दी गई है बाकि शेष 12 शिकायतों का तुरंत समाधान करें। उन्होंने कहा कि जो शिकायते दूसरे विभाग से सम्बंधित होती है उन्हें सम्बंधित विभाग को ट्रांसफर कर दें। 
    एडीसी ने कहा कि रोजगार देने के लिए सरकार ने सभी विभागों को निर्देश दिये हुए है कि वे आईटीआई के विद्यार्थियों को अप्रैंटिंस पर रखे, जिन विभागों ने अप्रैंटिस के लिए अंगेज नहीं किये है वे पद क्रियेट करे उनको लगाये। 
    एडीसी ने सरल पोर्टल की समीक्षा करते हुए कहा कि पोर्टल पर आये हुए आवेदनों पर तुरंत कार्यवाही करें तभी इस पोर्टल का कार्य सार्थक होगा। उन्होंने कहा कि दक्षिणी हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम के मामले पोर्टल पर लम्बित है। अधिकारी उनको देखकर तुरंत उनपर कार्यवाही करें।  सोशल मीडिया पर 12 शिकायते लम्बित है जिनका शीघ्रता से समाधान करें। 

 
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
Modi my inspiration: Ex-ADGP from TN in Hry poll race BJP to stick to 4 MPs, may field Yogeshwar Dutt HUDA debt burden stands at more than ₹19,000 crore, finds RTI query HARYANA- औचक निरीक्षण में निगम के 90 फीसदी अफसर और कर्मचारी नदारद मिले पारिवारिक लड़ाई बढ़ने का तर्क देकर भाजपा का दामन थाम रहे इनेलाे नेता इनेलो का घटता कुनबा : दोफाड़ होने से लगातार पार्टी छोड़ रहे विधायक-पूर्व विधायक यमुनानगर में कोर्ट कर्मी 6 दिन से तलाश रहे थे जज का लापता डॉग, त्यागी गार्डन से मिला मध्य प्रदेश में 'बीवी-बेटे' के लिए छिड़ी है जंग HARYANA-भाजपा में टिकटों पर फंसा पेच, दूसरे दलों को देख तय करेंगे प्रत्याशी जेजेपी के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का विस्तार, 24 वरिष्ठ पदाधिकारी और 20 जिलाध्यक्ष नियुक्त हिसार: बोरवेल में फंसे बच्चे तक पहुंची सेना, रेस्क्यू जारी