Tuesday, September 25, 2018
Follow us on
Haryana

कक्षा 6 से 12वीं तक के स्कूली बच्चे बारिश के मौसम में लगायेंगे एक- एक पौधा

July 11, 2018 03:10 PM

 जिले को को हरा- भरा बनाने तथा लोगों को पर्यावरण प्रदूषण से निजात दिलाने के उद्देश्य  को लेकर सरकार ने पौधागिरी अभियान की शुरूआत की है। इस अभियान में कक्षा छठी से 12वीं तक के बच्चों को शामिल किया गया है। जिले में 30 अगस्त तक पौधागिरी कार्यक्रम चलाया जाएगा। 
यह जानकारी देते हुए उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि बच्चे अपने स्कूल, घर आंगन, नहर, नालों, पार्कों या अन्य सार्वजनिक जगह पर पौधा रोपित करेगें तथा लगाये गये पौधो का नाम भी रख सकेगें। बच्चें अपने द्वारा लगाये गये पौधे का नामकरण अपने पूर्वजों, महानपुरूषों, गुरूजनों, परिवार के सदस्यों के नाम से अथवा अपने खुद के नाम से पट्टी लगाकर कर सकते है तथा इस पर रोपित की गई तिथि को भी अंकित कर सकते है। विद्यालय प्रबंधन पौधों को सुरक्षित रखने के कार्य में विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करेगें। पौधा क्रिया कार्यक्रम बच्चों के लिए एक खेल की तरह रोमांचक होगा। जिसका फल उन्हें कुछ ही वर्षों में प्राप्त होने लगेगा। प्रत्येक बच्चा तीन पौधे लगाये- एक पौधा अपने दादा- दादी या माता- पिता के नाम पर, दूसरा पौधा गुरू के नाम पर और तीसरा पौधा अपने वातावरण के नाम पर। 
     श्री शर्मा ने बताया कि पौधारोपण अभियान छठी से बाहरवीं तक के सभी सरकारी व गैर सरकारी विद्यालयों के बच्चों द्वारा किया जाएगा। जिला शिक्षा अधिकारी की रिपोर्ट के अनुसार वन विभाग द्वारा पौधे उपलब्ध करवाये जाऐगें। उन्होंने बताया कि पौधारोपण कार्यक्रम की प्रति सप्ताह रिपोर्ट विद्यालय मुखिया अपने खण्ड शिक्षा अधिकारी के माध्यम से जिला शिक्षा अधिकारी को भिजवायेगें। उन्होंने बताया कि 30 अगस्त को सैल्फी विद ट्री कार्यक्रम वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय द्वारा आयोजित कर विद्यार्थियों को सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि पौधारोपण अभियान के लिए खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी संम्बंधित खंडो के ग्राम पंचायतों को इस अभियान के लिए जागरूक करेगें। 

Have something to say? Post your comment